विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 13 ऑक्टूबर - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

मंगलवार, 13 अक्तूबर 2020

विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 13 ऑक्टूबर

निर्माण कार्यो का जायजा, 1220.82 लाख की लागत वायपास मार्ग हेतु बेतवा नदी पर शीघ्र पुल का निर्माण होगा

vidisha news
कलेक्टर डॉ पंकज जैन ने मंगलवार को जिले में विभिन्न विभागों के माध्यम से क्रियान्वित निर्माण कार्यो की समीक्षा की। कलेक्ट्रेट के बेतवा सभागार कक्ष में आयोजित उक्त बैठक में संयुक्त कलेक्टर श्रीमती अंजली शाह के अलावा पीडब्ल्यूडी, पीआईयू, पीएमजीएसवाय, सेतु निगम, एनएच के कार्यपालन यंत्री मौजूद रहें। कलेक्टर डॉ जैन के द्वारा लोक निर्माण विभाग, पीआईयू, प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना के तहत सम्पादित होने वाले सड़को और भवनो के निर्माण कार्यो की भी समीक्षा की गई है।  कलेक्टर डॉ जैन ने सड़कों के निर्माण कार्यो को सम्पादित कराने वाले विभागो के अधिकारियों को निर्देश दिए है कि बारिश से पहले नवीन सड़कों के कार्य पूर्ण करा लिए जाएं। ऐसे मार्ग जिनमें मरम्मत की जरूरत है उन मार्गो पर कार्य शीघ्रतिशीघ्र पूरे हो।  बैठक में बताया गया कि सांची से उदयगिरी, ढोलखेडी, सौरई वायपास मार्ग पर बेतवा नदी पर उच्च स्तरीय पुल का निर्माण कार्य शीघ्र ही प्रारंभ किया जाएगा। उक्त पुल की लागत 1220.82 लाख रूपए है पुल की कुल लम्बाई 150 मीटर तथा चौड़ाई 12 मीटर होगी। पुल के निर्माण हो जाने के उपरांत सांची से सागर जाने के लिए विदिशा शहर के अन्दर आने की आवश्यकता नही पडे़गी। वायपास मार्ग सांची, उदयगिरी, ढोलखेडी, सौरई होते हुए ओलम्पास स्कूल के पास एनएच 148 से जुडेगा। वायपास सड़क मार्ग और पुल के निर्माण हो जाने से यातायात सुगमता से संचालित हो सकेगा।

सीएम हेल्प लाइन की जानकारी वाट्सएप पर

सीएम हेल्पलाइन में शिकायतो की वर्तमान स्थिति देखने, निराकरण पर संतुष्टि, असंतुष्टि  दर्ज कराने के अलावा योजनाओं की जानकारी के लिए वाटसएप नम्बर की सुविधा उपलब्ध कराई गई है। आमजन  अथवा सीएम हेल्पलाइन में शिकायत दर्जकर्ता मोबाइल नम्बर 7552444482 अथवा लिंक https://bit.ly/3dhlqcm  का उपयोग कर पूर्व उल्लेखित जानकारियां सुगमता से प्राप्त कर सकेंगे। सीएम हेल्पलाइन के संचालक द्वारा वाट्सएप नम्बर और लिंक का अधिक से अधिक प्रचार-प्रसार करने के निर्देश समस्त विभागों को दिए गए है।  

17 सेम्पल पॉजिटिव प्राप्त हुए

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ केएस अहिरवार ने बताया कि मंगलवार 13 अक्टूबर को जिले में कोरोना वायरस कोविड 19 के कुल 17 सेम्पल पॉजिटिव प्र्राप्त हुए है जिसमें सर्वाधिक विदिशा विकासखण्ड में 13, बासौदा में दो तथा लटेरी एवं नटेरन विकासखण्ड में क्रमशः एक-एक सेम्पल पॉजिटिव प्राप्त हुआ हैं आज दिनांक तक कुल चालीस हजार पचास सेम्पल निगेटिव प्राप्त हुए है। 

धान एवं मोटे अनाज के समर्थन मूल्य पर विक्रय के लिए किसानबंधु पंजीयन कराए, पंजीयन कार्य 15 तक

केन्द्र शासन की विकेन्द्रीयकृत उपार्जन योजना के अन्तर्गत खरीफ विपणन मौसम 2020-21 में न्यूनतम समर्थन मूल्य पर एफएक्यू गुणवत्ता का धान एवं मोटे अनाज (ज्वार एवं बाजरा) की खरीदी की जाएगी।  जिला आपूर्ति अधिकारी श्रीमती रश्मि साहू ने बताया कि समर्थन मूल्य पर धान एवं मोटे अनाज के उपार्जन के पंजीयन कार्य जिले में 88 सहकारी समितियों पर किया जा रहा है। मोटे अनाज एवं धान के विक्रय के लिए किसान बंधु अपना पंजीयन 15 अक्टूबर 2020 तक कार्यालयीन अवधि, समय सीमा में करा सकते है।  कृषकों को अधिक सशक्त करने तथा पंजीयन कराने के लिए संस्थाओं अथवा डाटा एन्ट्री आपरेटर पर निर्भरता समाप्त करने के उद्वेश्य से कृषक अपना पंजीयन आनलाईन विकल्प का उपयोग कर स्वंय करा सकते है। किसान बंधु एमपी किसान एप, ई-उपार्जन पंजीयन एप, ई-उपार्जन कियोस्क सर्विस सेन्टर, लोक सेवा केन्द्र या प्राथमिक कृषि सहकारी साख संस्था पर पंजीयन करा सकते है। विगत रबी एवं खरीफ की भांति इस वर्ष भी किसान पंजीयन को भू-अभिलेख के डाटा बेस आधारित किया जाएगा। किसान की भूमि एवं फसल के बोए गए रकबे की जानकारी गिरदावरी डाटाबेस से ली जाएगी, जिससे पुनः सत्यापन की आवश्यकता नहीं रहेगी। सिकमीधारी कृषक एवं वन पट्टाधारी किसान के पंजीयन की सुविधा केवल पंजीयन केन्द्र पर उपलब्ध होगी। जिला आपूर्ति अधिकारी श्रीमती रश्मि साहू ने जिले में अब तक धान एवं मोटे अनाज (ज्वार एवं बाजरा) के पंजीयन के बारे में बताया कि 88 केन्द्रो पर 1607 किसानो के द्वारा पंजीयन कराया गया है। जिसमें 733 पुराने तथा 874 नए पंजीकृत कृषक शामिल है। पंजीकृत किसानो का कुल रकवा 3831 हेक्टेयर है। पंजीयन केन्द्रो पर 884, ई उपार्जन बाईसेल्फ के माध्यम से 488 किसानो के द्वारा पंजीयन कराया जा चुका है।  जिला आपूर्ति अधिकारी श्रीमती साहू ने जिले के ऐसे कृषक जिनके द्वारा धान एवं मोटे अनाज (ज्वार एवं बाजरा) की फसल ली जा रही है। उन सभी से अपील की गई है कि वे नजदीक के पंजीयन केन्द्र पर पहुंचकर अपना पंजीयन जरूर कराएं ताकि समर्थन मूल्य पर विक्रय के दौरान किसी भी प्रकार की दिक्कतो का सामना नही करना पडे़। 

वजन लेने वाले उपकरणों का सत्यापन करें

जिले की सभी आंगनबाडी केन्द्रो के लिए ग्रोथ मॉनिटरिंग उपकरणों के रूप में लटकने वाली वजन मशीन बच्चो के लिए तथा इन्फेंटोमीटर एवं रेडियो मीटर उपलब्ध कराए गए है। विभाग के जिला कार्यक्रम अधिकारी श्री बृजेश शिवहरे ने समस्त परियोजना अधिकारियों को निर्देश दिए है कि कार्यक्षेत्रों की आंगनबाडी केन्द्रों को उपलब्ध उपकरणों का सत्यापन कर अपनी रिपोर्ट शीघ्र जिला कार्यालय को उपलब्ध कराएं ताकि जिले की एकजाई जानकारी संचालनालय को उपलब्ध कराई जा सकें।  जिला कार्यक्रम अधिकारी श्री शिवहरे ने उपरोक्त कार्य को सर्वोच्च प्राथमिकता से समय सीमा अवधि में पूरा कराने के भी निर्देश विभाग के अधिकारियों, कर्मचारियों को दिए है।

टीकाकरण कार्य आंगनबाडी केन्द्रों पर

vidisha news
विदिशा जिले में सी सेम कार्यक्रम के तहत सभी बच्चो का वजन व लम्बाई का नाप जो किया जा रहा है इसके आधार पर चिन्हित होने वाले अतिकुपोषित बच्चों पर विशेष नजर रखी जा रही है। बच्चों के सामुदायिक प्रबंधन के लिए महिला एवं बाल विकास विभाग के द्वारा पोर्टल पर बच्चों की फोटो सहित अन्य जानकारियां अपलोड की जा रही है।  एकीकृत बाल विकास परियोजना विदिशा शहरी के परियोजना अधिकारी श्री संजय सिंह ने बताया कि मंगलवार को विदिशा शहर के अंतर्गत लुहांगी मोहल्ला की आंगनबाडी केन्द्र क्रमांक 26/126 केन्द्र पर सेम बच्चो का स्वास्थ्य परीक्षण एएनएम के द्वारा करवाया गया। हीमोग्लोबिन एवं एडिमा की जांच करवाई गई है। बच्चों की भूख की जांच की गई जांच में पास होने के उपरांत बच्चा खाना खा रहा है कि नही की जानकारी आंगनबाडी केन्द्रों के माध्यम से नजर रखी जा रही है  इसके अलावा आंगनबाडी केन्द्रों पर एंटीबायोटिक, आयरन सिरप, मल्टीविटामिन सिरप का डोज दिया जा रहा है।  आज आंगनबाडी केन्द्र पर बच्चे के पिता, मां भी उपस्थित हुए उन्हें बच्चों के खान-पान तथा स्वास्थ्य के संबंध में सुधार के लिए क्या करना चाहिए की गहन जानकारी दी गई है। श्रीमती कंचन रायकवार अपने तीन वर्षीय मास्टर विष्णु रायकवार को लेकर आयीं, जिनका वजन लिया गया और एक माह में बच्चे के वजन में आठ सौ ग्राम की वृद्वि करनी है के आश्य की जानकारी दी गई। क्रमांक 66 अहरवाल  

टेली-कन्सलटेंशन के माध्यम से प्रशिक्षण 14 को

 आयुष्मान भारत योजना के अंतर्गत जिले के शहरी एवं प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों एवं उप स्वास्थ्य केन्द्रों को चरणबद्व रूप से हेल्थ एण्ड वेलनेस सेन्टर के रूप में विकसित किया जा रहा है। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ केएस अहिरवार ने बताया कि उप स्वास्थ्य केन्द्रों में पदस्थ कम्यूनिटी हेल्थ आफीसर के माध्यम से जनसमुदाय को व्यापक स्तर पर प्राथमिक स्वास्थ्य सेवाएं प्रदान की जा रही है। इसके लिए पीबीई टूल एवं टेली कन्सलटेंशन पर आधारित प्रशिक्षण 14 अक्टूबर बुधवार को आयोजित किया गया है। एचडब्ल्यूसी पोर्टल इन्ट्री कार्य आधारित प्रोत्साहन राशि भुगतान की प्रक्रिया से प्रशिक्षित करने हेतु दोपहर डेढ़ बजें से साढे तीन बजे तक आयोजित किया गया है। उक्त प्रशिक्षण में समस्त खण्ड चिकित्सा अधिकारी, बीपीएम, बीएएम, सीएचओ को अनिवार्य रूप से उपस्थित होने के निर्देश प्रसारित किए गए है। 

सीएम हेल्पलाइन के आवेदनों का शीघ्र निराकरण करें

सीएम हेल्पलाइन के माध्यम से महिला एवं बाल विकास विभाग के कुल साठ आवेदन लंबित है इन आवेदनों पर समय सीमा में कार्यवाही कर निराकरण करने की निर्देश विभाग के जिला कार्यक्रम अधिकारी श्री बृजेश शिवहरे ने संबंधित परियोजना अधिकारियों को दिए है। उन्होंने निराकरण उपरांत अद्यतन स्थिति से जिला कार्यालय को भी अवगत कराने हेतु निर्देशित किया है। जिला कार्यक्रम अधिकारी श्री शिवहरे ने बताया कि सीएम हेल्पलाइन के तहत 12 अक्टूबर की स्थिति में कुल साठ आवेदन लंबित है जिसमें लेबल एक पर 31, लेबल दो पर पांच, लेबल तीन पर 14 तथा लेबल चार स्तर के दस आवेदन लंबित है। जिला स्तर पर जिन आवेदनों का निराकरण संभव है अविलम्ब निराकृत करें के निर्देश प्रसारित किए गए है।

निःशुल्क आवासीय व भोजन की सुविधा डिप्लोमा कोर्स करने वालो के लिए

शासकीय पॉलिटेक्निक कॉलेज में अनुसूचित जाति के छात्र एवं छात्राओं हेतु निःशुल्क भोजन एवं आवासीय सुविधायुक्त तकनीकी विषयों में डिप्लोमा कोर्स करने वालो के लिए प्रवेश प्रक्रिया जारी है। अनुसूचित जाति, जनजाति कार्य विभाग के जिला संयोजक ने बताया कि महाविद्यालयीन, जिला स्तरीय, खण्ड स्तरीय सीनियर बालक, कन्या छात्रावास के अधीक्षको को पत्र प्रेषित कर अनुसूचित जाति वर्ग के कक्षा दसवीं में उत्तीर्ण छात्र एवं छात्राएं जो शासकीय पॉलिटेक्निक कॉलेज में प्रवेश प्रक्रिया के तहत छात्र-छात्राओं प्रोत्साहित करने के निर्देश दिए है।  शासकीय क्षेत्रों के पॉलिटेक्निक संस्थानों में संचालित डॉ बाबा साहब अम्बेडकर, एकलव्य योजना के अंतर्गत डिप्लोमा पाठ्यक्रमों के प्रथम वर्ष में अर्हकारी परीक्षा के आधार पर प्रवेश हेतु ऑन लाइन काउंसलिंग समय सारणी सत्र 2020-21 के लिए चरणवार जारी की गई थी अब संस्था स्तर की काउंसलिंग कार्य के लिए ऑन लाइन रजिस्ट्रेशन 19 अक्टूबर की सायं तीन बजे तक किया जा सकेगा। इच्छुक संस्था में प्रवेश का अवसर प्राप्त करने के लिए संबंधित छात्र-छात्राओं को 17 से 20 अक्टूबर तक उपस्थित होना अनिवार्य होगा।

कोई टिप्पणी नहीं: