बिहार : चुनावी सभा में सुशील मोदी ने कहा बिहार में नहीं है कोरोना - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 18 अक्तूबर 2020

बिहार : चुनावी सभा में सुशील मोदी ने कहा बिहार में नहीं है कोरोना

no-covid-in-bihar-sushil-modi
पटना : देश में कोरोना का संक्रमण कम नहीं हो रहा है। देश में कोरोना को लेकर अनलॉक 5 लागू है।अनलॉक 5 के तहत देश में कुछ शर्तों के साथ अधिक छूट प्रदान की गई है। केंद्र सरकार द्वारा जारी गाइड लाइन के मुताबिक देश के विभिन्न हिस्सों में हो रहे चुनाव को लेकर 100 लोगों के साथ सभा करने की अनुमति दी है। हालांकि, बिहार चुनाव को लेकर जो चुनाव सभा हो रही है, उसमें इस नियम को ताक पर रखा गया है। बिहार में हजारों लोगों की उपस्थिति में चुनावी सभा हो रहे हैं। इसी कड़ी में बिहार के उपमुख्यमंत्री और बिहार एनडीए गठबंधन के बड़े नेता साथ ही साथ भाजपा के स्टार प्रचारक सुशील कुमार मोदी ने एक बहुत बड़ा बयान दिया है। सुशील मोदी ने कहा है कि बिहार में कोरोना नहीं है।

सुशील मोदी बक्सर के डुमरांव में चुनावी सभा संबोधित करते हुए कहा कि ‘’भीड़ देखकर लगता है कि बिहार से कोरोना भाग गया है, कहां है कोरोना। हमलोगों ने जो बिहार में इंतेजाम किया था उसके कारण ही मौत कम हुई। बिहार में 950 लोगों की मौत कोरोना से हुई। जबकि देश के अन्य राज्यों में 1000 लोगों की मौत हुई है। अब सवाल उठता है कि किसकी बात सही माना जाय क्योंकि बिहार में स्वास्थ विभाग द्वारा जो डाटा दिया जा रहा है उसके हिसाब से अभी भी बिहार में हर रोज 1000 से अधिक लोग कोरोना संक्रमित पाए जा रहे हैं। लेकिन सुशील मोदी की माने तो करोना तो है ही नहीं अब सवाल यह भी आता है कि किसकी बात सही मानी जाए । मालूम हो कि बिहार में पिछले 2 सप्ताह में बिहार की राजनीति से लेकर पदाधिकारी और पत्रकारों की मौत कुरौना से हो चुकी है। हाल में ही कोरोना से पूर्णिया रेंज के आईजी विनोद कुमार की मौत हो गई है। इससे पहले 16 अक्टूबर को कोरोना से बिहार सरकार के पंचायती राज मंत्री कपिल देव कामत का निधन हो गया। इससे पूर्व 12 अक्टूबर को बिहार सरकार के मंत्री विनोद सिंह का निधन हो गया था। इसके साथ ही 14-15 अक्टूबर के बीच पटना के दो सीनियर पत्रकारों का भी कोरोना से मौत हो गई। इसमें से एक चुनावी सभा के दौरान संक्रमित हुए थे।

कोई टिप्पणी नहीं: