वाराणसी : बसपा से जुड़ने के लिए सतीश मिश्रा ने ब्राह्मणों में फूंका बिगूल - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शनिवार, 10 अक्तूबर 2020

वाराणसी : बसपा से जुड़ने के लिए सतीश मिश्रा ने ब्राह्मणों में फूंका बिगूल

  • पुलिस एनकाउंटर के नाम पर ब्राह्मणों की हत्या कर रही है
  • सरकार रेल से लेकर तेल बेचने में मशगूल : सतीश मिश्रा
  • कृषि विधेयक को बताया किसानों की बजाय पूंजीपतियों का हितैषी
  • सपा गुंडों की पार्टी है : महेन्द्र कुमार पांडेय
  • भाजपा सरकार पूरी तरह से फेल इसलिए उठाया कृष्ण जन्मभूमि का मुद्दा

satish-mishra-bjp-target-brahman

वाराणसी-टुंडला।
बहुजन समाज पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव सतीश मिश्रा ने टूंडला में उपचुनाव के मद्देनजर सत्कार मैरिज हॉल में आयोजित सम्मेलन में रविवार को केंद्र व प्रदेश सरकार पर जमकर निशाना साधा। कहा, ना कृषि विधेयक किसानों की नहीं बल्कि पूंजीपतियों का हितैषी है। श्री मिश्रा रविवार को टूंडला विस सीट के उपचुनाव तैयारी के बीच बसपा पदाधिकारियों एवं कार्यकर्ताओं को संबोधित कर रहे थे। राष्ट्रीय महासचिव व राज्यसभा सदस्य सतीश मिश्रा ने बिकरू कांड का नाम लिए बगैर कहा विकास दुबे के एंकाउंटर एक सोची-समझी रणनीति का हिस्सा है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में अराजकता की सारी सीमाएं पार हो चुकी हैं। महिलाओं के साथ बलात्कार, छेड़खानी तो हो ही रही है साथ ही दिनदहाड़े हत्याएं होना आम बात हो गई है। ब्राह्मणों की खुलेआम हत्याएं हो रही हैं। पुलिस एनकाउंटर के नाम पर ब्राह्मणों की हत्या कर रही है। ब्राह्मण अधिकारियों का उत्पीड़न हो रहा है। सात दिन पूर्व ब्याह कर आई लड़की को परेशान किया जा रहा है। एक नाबालिग को पुलिस ने एनकाउंटर दिखाकर मार दिया। चुन चुन कर ब्राह्मण परेशान किये जा रहे हैं। फीरोजाबाद में भी एक ब्राह्मण युवक की हत्या हुई, लेकिन अब तक हत्यारे फरार हैं। उन्होंने कहा कि आज समय की मांग है कि ब्राह्मण समाज एक बार फिर से उठ खड़ा हो।

श्री मिश्रा ने कहा कि ब्राह्मण बुद्धजीवी होता है और बुद्धि से काम लेते हैं। हाथ में बंदूक गोली हो, परंतु आप अपनी वाणी और दिमाग से काम लेते हैं। आज समय आ गया है कि आप अपने दिमाग का इस्तेमाल करें। उन्होंने कहा कि 2002 में पांच ब्राह्मण समाज के लोग ही चुनकर विधानसभा पहुंचे थे। उसमें भी दो बसपा के थे। मायावती ने उन्हें महाधिवक्ता बनाया। जब मायाती ने इस्तीफा दिया तो भाजपा की केन्द्र सरकार ने उन्हें फंसाने के तमाम कुचक्र रचे और उन्हें तरह-तरह से डराने का काम किया। परंतु भाजपा शायद यह भूल जाती है कि मायावती कभी किसी से नहीं डरती। उन्होंने कहा कि उसके बाद प्रदेश में सपा की सरकार आई। जिसने भी ब्राह्मण समाज के उत्पीड़न में कोई कसर नहीं छोड़ी। कन्नौज के नीरज मिश्रा जो बसपा के नौजवान नेता थे, उनकी हत्या कराई गई। श्री मिश्रा ने कहा कि भाजपा सरकार में ब्राह्मण समाज के लोगों पर अत्याचार हो रहा है। ब्राह्मण समाज लावारिस नहीं है। प्रदेश में 15 प्रतिशत है। बहुजन समाज पार्टी पूरी तरह से ब्राह्मण समाज के साथ है। उन्होंने कहा कि बसपा की सरकार में ब्राह्मणों को सम्मान दिया गया। डीजीपी से लेकर प्रमुख सचिव तक ब्राह्मण बनाए गए। विस में ब्राह्मणों की सबसे अधिक संख्या बसपा सरकार में ही थी। केंद्र सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि रेल से लेकर तेल कंपनियों तक को बेचा जा रहा है। हर साल दो करोड़ नौकरियों के वादा करने वाली भाजपा सरकार अब युवाओं को बेरोजगार कर रही हैं। श्री मिश्रा ने कहा कि राम मंदिर भाजपा नहीं सुप्रीम कोर्ट के आदेश ने बनवाया। भाजपा चाहती तो अध्यादेश लाकर राम मंदिर का निर्माण कराती। आज राम को वोट के लिए इस्तेमाल किया जा रहा है। श्री मिश्रा के करीबी व रोहनिया से वुव लड़ चुके महेन्द्र कुमार पांडेय ने कहा कि समाजवादी पार्टी गुंडों की पार्टी है। ब्राह्मण इतना प्रताणित है कि वह 15 प्रतिशत से 45 प्रतिशत अन्य लोगों को जोड़कर प्रदेश में बसपा की सरकार बनाने का काम करेगा। कृषि बिल के संबंध में उन्होंने कहा कि ये पैसे वालों के लिए है। न्यूनतम समर्थन मूल्य की जगह अब पैसे वाले अपने हिसाब से फसल खरीदेंगे। उन्होंने एक सवाल के जवाब में कहा कि प्रदेश की भाजपा सरकार में किसान, मजदूर, बेरोजगार, महिलाएं सभी परेशान हैं। इसलिए कृष्ण जन्म भूमि का मुद्दा उठाया जा रहा है। भाजपा के पास कोई नीति और कार्यक्रम नहीं है। सम्मेलन को पूर्व मंत्री नकुल दुबे, सतीश मिश्रा के करीबी व सेवापुरी विधानसभा से चुनाव लड़ चुके महेन्द्र कुमार पांडेय, आदित्य पांडेय सहित कई स्थानीय नेताओं ने भी संबोधित किया। अध्यक्षता बसपा प्रत्याशी संजीव चक ने किया। संचालन पूर्व विधायक राज कुमार रावत ने किया।

कोई टिप्पणी नहीं: