बिहार : तानाशाह के खिलाफ लोकतंत्र बचाने की लड़ाई तेज हो रही है : बैद्यनाथ - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

मंगलवार, 13 अक्तूबर 2020

बिहार : तानाशाह के खिलाफ लोकतंत्र बचाने की लड़ाई तेज हो रही है : बैद्यनाथ

किसान विरोधी तीनो बिल वापस ले सरकार- माले 

cpi-ml-pusa-attack-nitish
पूसा,, भाकपा(माले) राज्य स्थायी समिति सदस्य बैद्यनाथ यादव ने आज पूसा में संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा कि आज देश में तानाशाह के खिलाफ़ लोकतंत्र बचाने की लड़ाई चल रही है। और इसे मजबूत बनाने का समय अब आ गया हैं । उन्होंने आगे कहा कि आज देश की मोदी सरकार किसान के खिलाफ तीन अध्यादेश लाकर किसानों को और बर्बाद कर दिया है। आज किसानों को ऐसा बीज दिया जा रहा है। जिसमे कि दाना भी नहीं आ रहा है। सरकार सिर्फ किसानों को ठगने का काम कर रही है। आज किसानों के अंदर भी सरकार के खिलाफ काफी आक्रोश है। और इस आक्रोश का बदला इस बार किसान नीतीश-मोदी की सरकार से लेंगे।   आगे श्री यादव ने कोरोना पर चर्चा करते हुए कहा कि सरकार कोरोना के रोकथाम के लिये लिए कोई उपाय नहीं कर रही है। जिस समय कोरोना का संक्रमण कम था उस समय सरकार के द्वारा लॉकडाउन लगा दिया गया और जब कोरोना संक्रमण की रफ्तार तीव्र है तब लॉकडाउन को खोल दिया गया है। आज पंचायतों में अस्पताल की स्थिति दयनीय है। लेकिन पंचायत स्तर पर जो कोरोना की जांच होनी चाहिए उसके प्रति सरकार की मंशा साफ नहीं है। सरकार लापरवाह है।  उन्होंने आगे कहा कि आज प्रवासी मजदूर को लेकर सरकार गंभीर नही हैं । मजदूर अन्य राज्यों से कोरोना काल में अपने घर आ गए ,लेकिन उन्हें घर पर काम नहीं मिल रहा है। जिससे कि मजदूरों में भी काफी आक्रोश है।  श्री यादव ने स्थानीय विधायक पर कटाक्ष करते हुए कहा कि स्थानीय विधायक जनता के वोट को अपमानित करने का काम किए हैं। अब जनता का समय आ गया हैं ,जनता अपने साथ हुए धोखा का बदला लेगी।  वही महागठबंधन से भाकपा(माले) उम्मीदवार रंजीत राम ने कहा कि आज नीतीश कुमार संविधान को नहीं मानने वाले के साथ सरकार चला रही है। आज शिक्षा स्वास्थ्य की हालत पूरा बिहार में बहुत खराब है। नीतीश कुमार का विकास जमीन से गायब है। आज भी दलित टोला में में जाने के लिए सड़क नहीं बना है। जबकि स्थानीय विधायक मंत्री के पद अभी आसीन है। उन्होंने कहा कि आज कल्याणपुर विधानसभा  में 44 पंचायत है। लेकिन पंचायतों मे प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र की स्थिति जर्जर है।  यहां जल जमाव की समस्या भी बड़ी समस्या है। इस सवाल पर स्थानीय विधायक की चुप्पी साधे हुए हैं।  उन्होंने का कि इस बार कल्याणपुर की जनता बदलाव चाहती है। और इस बार झंडा पर तीन तारा पर बटन दबेगा और कल्याणपुर का चेहरा बदलेगा। मौके पर भाकपा-माले प्रखंड सचिव अमित कुमार समेत छात्र- नौजवान के अतिरिक्त कई नेता मौजूद थे।

कोई टिप्पणी नहीं: