रोटरी मिड टाउन ने किया पोलियो जागरूकता पर कार्यक्रम - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 25 अक्तूबर 2020

रोटरी मिड टाउन ने किया पोलियो जागरूकता पर कार्यक्रम

 

जमशेदपुर 24 अक्टूबर, रोटरी क्लब ऑफ़ जमशेदपुर मिड टाउन के तत्वाधान में विश्व पोलियो दिवस के अवसर पर एक डिस्ट्रिक्ट कार्यक्रम का आयोजन किया गया.  इस कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में रोटरी इंटरनेशनल के डायरेक्टर चयनित पूना के डॉ महेश कोटबागी थे . कार्यक्रम की शुरुआत राष्ट्र गान के साथ पारंपरिक तरीके से हुई . क्लब की अध्यक्ष रोटेरियन कुसुम ठाकुर ने अतिथियों का स्वागत किया . कुसुम के अध्यक्षीय संबोधन के बाद आशीष दास ने कार्यक्रम का संचालन किया। मुख्य अतिथि डॉ महेश कोटबागी ने अपने अभिभाषण में पोलियो के वीभत्स परिणाम पर प्रकाश डालते हुए कहा कि यह सच है कि पोलियो वायरस हम हमारे देश से ख़त्म हो चूका है परंतु हम तबतक निश्चिन्त नहीं हो सकते जबतक पोलियो हमारे पडोसी देशों से ख़त्म नहीं हो जायेगा। अभी भी 3 से 5 वर्ष के बच्चों को प्रतिवर्ष पोलियो का टिक देना जरूरी है अतः जागरूकता जरूरी है. उन्होंने पोलियो उन्मूलन के दौरान होने वाली कठिनाइयों पर भी प्रकाश डाला।

डॉ कोटबागी के बाद डिस्ट्रिक्ट गवर्नर रोटेरियन राजन गंडोत्रा ने कार्यक्रम की पहल के लिए प्रेसिडेंट कुसुम ठाकुर की सराहना की साथ ही उनके पोलियो उन्मूलन की दिशा में किये गए कार्य और आगे की योजनाओं की जानकारी उपस्थित रोटरी इंटरनेशनल डिस्ट्रिक्ट के अधिकारीयों एवं उपस्थित सभी रोटेरियन और गैर रोटेरियन को दी. श्री गंडोत्र के बाद डिस्ट्रिक्ट चेयर डॉ प्रगति सिन्हा ने पोलियो उन्मूलन में किये गए कार्यों के इतिहास पर प्रकाश डाला। डॉ प्रगति ने कहा कि आज भी पोलियो के प्रति जागरूकता आवश्यक है क्यों की दूसरी बार पोलियो के वायरस को संभालना बहुत मुश्किल होगा। डॉ प्रगति के बाद दिल्ली के राष्ट्रपति पुरस्कार से सम्मानित ललित कुमार जिन्हें 4 वर्ष की उम्र में ही पोलियो ने अपनी चपेट में ले लिया था जिसके कारन कमर से निचे का भाग लकवा मर गया था.  कई आपरेशन के बाद भी वे अपने पवन पर खड़े नहीं हो सकते। उन्होंने पोलियो के साथ साथ पोलियो के बाथ होने वाली समस्याओं पर प्रकाश डाला . ललित ने कहा अपांग लोगों को भी मुख्या धरा में लेन की जरूरत है. वे भी देश की अर्थ व्यवस्था में दे सकते हैं. 

ऑस्ट्रेलिया की समाजसेवी रोटेरियन सुजेन रे जो करीब करीब 70 देशों का भ्रमण कर पोलियो उन्मूलन के लिए काम कर चुकी हैं. अपनी बातों को प्रेजेंटेशन के जरिये रखते हुए कहा कि पोलियो उन्मूलन में कोष की भी अहम भूमिका है. उन्होंने दर्शकों से पोलियो फण्ड में दान देने के लिए आह्वान किया और कहा की आपके द्वारा दिए गए एक रुपये में बिल गेट्स फाउंडेशन द्वारा २ रुओपीए दिया जायेगा जो ३ रुपये होगर पोलियो फण्ड में जायेगा। सुजेन भी पोलियो प्रभावित रही हैं और करीब 18 आपरेशन के बाद वे अपने पैरों पर खड़ी हो पाईं। 77 वर्ष की आयु में वे पोलियो के लिए जितना काम कर रही हैं वह सराहनीय है. अंत में धन्यवाद ज्ञापन रोटेरियन शिवा रमा राव ने दिया। 

कोई टिप्पणी नहीं: