विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 15 ऑक्टूबर - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 15 अक्तूबर 2020

विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 15 ऑक्टूबर

लोकोपयोगी सेवाओं की लोक अदालत में पीड़ितों को मिला त्वरित न्याय

जिला विधिक सेवा प्राधिकरण विदिशा के अंतर्गत लोकोपयागी लोक अदालत के पीठासीन अधिकारी श्री प्रशांत कुमार की खण्डपीठ के द्वारा मध्यप्रदेश मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी लिमिटेड के विरूद्व पीड़ित आवेदक निहाल सिंह एवं अन्य के क्षतिपूर्ति प्रकरण में अनावेदक विद्युत कंपनी को जब पीड़ितों को रूपए चार लाख मुआवजे के रूप में भुगतान किए जाने का आदेश दिया गया तब पीड़ितों के चेहरे पर त्वरित एवं सुलभ न्याय मिलने से मुस्कान लौट आयी।  उल्लेखनीय है कि दो दिसम्बर 2019 को आवेदक निहाल सिंह एवं अन्य निवासी गोपालपुर तहसील लटेरी द्वारा लोकोपयागी लोक अदालत विदिशा के समक्ष विद्युत प्रदाय लाइन के टूटकर गिर जाने के फलस्वरूप निहाल सिंह की पत्नी पांचोबाई की उक्त लाइन के सम्पर्क में आने पर विद्युत करंट से मृत्यु हो जाने के कारण अधीक्षण यंत्री मध्यप्रदेश मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी लिमिटेड के विरूद्व विधिक सेवा प्राधिकरण की धाराओं के तहत मृतिका के वारिसो को क्षतिपूर्ति प्रदान करने हेतु दावा प्रस्तुत किया गया था।  अनावेदक संस्था विद्युत वितरण कंपनी ने अपने जबाव में आवेदकगण के समस्त तथ्यों को अस्वीकार किया था। आवेदकगण को किसी भी प्रकार की क्षतिपूर्ति प्राप्त करने का अधिकार नही बताया था। आवेदक ने अपनी याचिका में निवेदन करते हुए विद्युत वितरण कंपनी की घोर उपेक्षा एवं लापरवाही के कारण मृतिका पांचोबाई के ऊपर विद्युत लाइन टूटकर गिर जाने एवं असुरक्षित तारो में बह रहे विद्युत प्रवाह के सम्पर्क में आने से पांचोबाई के मृत्यु हो गई थी।  लोक अदालत खण्डपीठ की सुलह समझाईंश पर आवेदकगण तथा अनावेदक के मध्य क्षतिपूर्ति राशि के संबंध में राजीनामा किया गया। अनावेदक विद्युत वितरण कंपनी द्वारा चार लाख रूपए मृतिका पांचोबाई की क्षतिपूर्ति हेतु प्रदान किए गए। लोक अदालत के आदेशानुसार परिवादी निहाल सिंह को एक लाख पचास हजार रूपए परिवादी कमरलाल एवं करोडी लाल प्रत्येक को क्रमशः 83333 रूपए तथा परिवादी भजनलाल को भी 83334 रूपए का चेक तत्काल प्रदाय किया गया है। आवेदक परिवादीगण की ओर से अधिवक्ता श्री अनिल औदिच्य द्वारा पैरवी की गई थी।

विधिक जागरूकता शिविर का आयोजन हुआ

ग्यारसपुर जनपद पंचायत के सभागार कक्ष में आज विधिक जागरूकता शिविर का आयोजन सम्पन्न हुआ है। महिला सशक्तिकरण को रेखांकित उक्त शिविर का राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण एवं राष्ट्रीय महिला आयोग के समन्वय से आयोजित किया गया था।  जिला विधिक सहायता अधिकारी श्री प्रदीप सिंह ठाकुर ने ग्रामीण क्षेत्रों की महिलाओं को उनके विधिक अधिकारों की व्यापक जानकारी दी। उन्होंने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों की अधिकांश महिलाएं अपने अधिकारो से वाकिफ नही है। उनके अधिकार उन्हें पता चले विधिक, कानूनी प्रावधान क्या है कैसे निःशुल्क मदद मिलेगी। इसके लिए राष्ट्रीय स्तर से तहसील स्तर तक विधिक सेवा प्राधिकरण एवं समितियों के गठन के संबंध में भी उन्होंने जानकारी दी है।  महिला सशक्तिकरण जागरूकता शिविर में उपस्थित अधिवक्ता रिसोर्स पर्सन श्री गौरव भारत जैन और सुश्री नगीना खॉन, सुश्री जया जैन ने संवैधानिक अधिकार भरण-पोषण, दहेज प्रताड़ना, घरेलू हिंसा, कार्य स्थलों पर यौन उत्पीड़न एवं लैगिंग शोषण के अलावा पास्को अधिनियम, महिलाओं की सम्पत्ति में अधिकार, एसिड अटैक, महिला बंदियों के अधिकार इत्यादि की विस्तृत जानकारी दी गई है।  शिविर में करीब 60 प्रतिभागी महिलाओं की उपस्थिति में शासन की गाइड लाइन के अनुसार सामुदायिक स्वास्थ्य विभाग की टीम द्वारा थर्मल स्केनिंग एवं सेनेटाइजेशन करने के उपरांत ही सभागृह में प्रवेश दिया गया है। शिविर में परियोजना अधिकारी श्री अरूण प्रजापति के द्वारा कार्यक्रम का संचालन किया गया तथा आभार पंचायत इंस्पेक्टर श्रीमती लक्ष्मी नेताम के द्वारा अभिव्यक्त किया गया।

कलेक्टर द्वारा राजस्व कार्यो की समीक्षा 

कलेक्टर डॉ पंकज जैन ने गुरूवार को राजस्व अधिकारियों के कार्यो की समीक्षा की। उन्होंने कहा कि अनुविभाग स्तर पर कार्य लंबित ना रहें यह संबंधित एसडीएम की नैतिक जबावदेंही है। कलेक्टर ने खण्ड स्तरीय अन्य विभागों के अधिकारियों की बैठके आहूत कर शासकीय योजनाओं एवं कार्यक्रमों के अलावा अन्य प्रचलित समस्याओं के निदान पर विशेष बल दे के निर्देश दिए है। कलेक्टर डॉ जैन ने समस्त राजस्व अधिकारियों को निर्देशित किया है कि जो आवेदन टीएल में शामिल किए जाते है उन सब का समयावधि में निराकरण कराना सुनिश्चित करें। उन्होंने शासन की प्राथमिकता वाले कार्यक्रमों व योजनाओं के क्रियान्वयन में स्थानीय जनप्रतिनिधियों की जानकारी में लाते हुए सहयोग प्राप्त कर समयावधि में लक्ष्यों की पूर्ति सुनिश्चित करें।   कलेक्टर डॉ पंकज जैन के द्वारा राजस्व अधिकारियों के कार्यो की समीक्षा जिन मुद्दो पर की गई उनमें राजस्व वसूली, राजस्व प्रकरणों की समीक्षा, ई-हस्ताक्षर, आरसीएमएस पर ऑनलाइन केस दर्ज करने के लिए प्रोत्साहित करना एवं न्यायालय शुल्क लिए जाने बावत, भूमि अधिग्रहण प्रशासनिक शुल्क के संबंध में, रेल्वे एनएच और सिंचाई परियोजनाओं आदि के अधिग्रहण के मामल, भू-अर्जन, लंबित बीएस आश्वासन, याचिका, लोक लेखा समिति, अभयदान का जबाव संबंध में, न्यायालय में लंबित गतिशील प्रकरणों को अद्यतन स्थिति, सीएम हेल्पलाइन का गुणवत्तापूर्ण समय सीमा में निराकरण, लोक सेवा गारंटी, एनएफबीसी वित्तीय कंपनियों द्वारा जमा राशि स्वीकार, वापसी एवं आयुक्त के पत्र पर कार्यवाही एवं निजी भूमि स्वामी (खदान पट््टे) इत्यादि शामिल है।  इसी प्रकार एसडीओ द्वारा बेबजीआईएस पर गैर कृषि भूमि के लिए ऑन लाइन पुनर्मूल्यांकन मॉडयूल का उपयोग, फसल गिरदावरी एवं बीमा, पीएम किसान सम्माननिधि योजना का कार्य, मॉडर्न रिकार्ड रूम की अवधारणा तथा अद्यतन रखना, आबादी सर्वे हेतु निर्देश, बेबजीआईएस खसरा त्रुटि सुधार परिमार्जन के कार्यो की गहन समीक्षा की गई है। कलेक्टर डॉ पंकज जैन ने सभी राजस्व अधिकारियों को निर्देश दिए है कि उनके न्यायालयों में लंबित प्रकरण तय अवधि से अधिक के ना हो पर विशेष ध्यान दें। उन्होंने क्षेत्रों का भ्रमण कर योजनाओं के क्रियान्वयन की हकीकत से अवगत होने तथा ऐसे प्रकरण जिनमें भूमि का विवाद शामिल है उन प्रकरणों में स्थल का मौके पर मुआयना अवश्य करें।  इससे पहले अपर कलेक्टर श्री वृदांवन सिंह के द्वारा राजस्व न्यायालयों, भूमि के नामांतरण, गौशालाओं, तहसील कार्यालयों में दर्ज किए जाने वाले प्रकरणों के संबंध में विस्तारपूर्वक जानकारी दी। वही अन्य विभागों से समन्वय स्थापित कर लक्ष्यों की प्राप्ति के संबंध में उनके द्वारा मार्गदर्शन दिया गया है।  नवीन कलेक्ट्रेट के बेतवा सभागार कक्ष में सम्पन्न हुई इस बैठक में समस्त एसडीएम, तहसीलदार, नायब तहसीलदार के अलावा अन्य विभागों के अधिकारी मौजूद थे।  

बालश्रम जिला टॉस्क फोर्स की बैठक सम्पन्न

vidisha news
 कलेक्टर डॉ पंकज जैन के द्वारा बुधवार को बालश्रम जिला टॉस्क फोर्स समिति की बैठक आयोजित की गई थी। उन्होंने जिले में बाल श्रमिकों के विमुक्तिकरण के लिए हर स्तर पर कार्यवाही करने के निर्देश जिला श्रम पदाधिकारी को दिए है। इसी प्रकार नियोजक के विरूद्व कानूनी कार्यवाही ओर बाल श्रमिक के शैक्षणिक पुर्नवास के क्षेत्र में नवाचार कर संबंधितों को त्वरित लाभ मिले के पुख्ता प्रबंध सुनिश्चित करने के निर्देश दिए है।  कलेक्टर चेम्बर में सम्पन्न हुई इस बैठक में जिला श्रमपदाधिकारी श्री सुधीश कमल, जिला शिक्षा अधिकारी श्री अतुल मुदगल, जिला संयोजक श्री नरेन्द्र अवस्थी के अलावा स्वंयसेवी संस्थाओं के प्रतिनिधिगण मौजूद थे। जिले में बाल श्रमिकों के विमुक्तिकरण हेतु की गई कार्यवाही के संबंध में बताया कि प्रत्येक विमुक्ति की कार्यवाही के समय विशेष किशोर पुलिस इकाई (एसजेपीयू) द्वारा अनिवार्य रूप से सहयोग प्रदाय किया जाए। इसी प्रकार नियोजन के विरूद्व कानूनी कार्यवाही के संबंध में बताया गया कि एसजेपीयू द्वारा अनिवार्य रूप से एफआईआर दर्ज कराई जाए और समय सीमा में चालान प्रस्तुत कर नियोजक के विरूद्व जुर्माने की कार्यवाही की जाए।  बाल श्रमिकों के शैक्षणिक पुर्नवास के संबंध में सम्पन्न हुई कार्यवाही की जानकारी से अवगत कराते हुए बताया गया कि विमुक्त कराए गए बाल श्रमिकों की आर्थिक स्थिति कमजोर होने से उन्हें शिक्षा के क्षेत्र में कठिनाई होती है और वे कई बार पुनः बाल श्रम के कुचक्र में फंस जाते है। अतः उन्हें आवश्यकतानुसार पढ़ने, रहने, खाने की व्यवस्था अनुसूचित जाति एवं जनजाति विभाग के साथ-साथ शिक्षा विभाग एवं डीपीसी के द्वारा संचालित छात्रावासों में कराया जाना सुनिश्चित हो। क्रमांक 76 अहरवाल  

61 हजार से अधिक की अवैध मदिरा जप्त

vidisha news
कलेक्टर डॉ पंकज जैन के द्वारा दिए गए निर्देशो के अनुपालन में आबकारी विभाग द्वारा जिले में अवैध मदिरा के क्रय-विक्रय एवं परिवहन पर अंकुल लगाने हेतु सघन जांच पड़ताल की जा रही है। जिला आबकारी श्री शैलेष जैन ने बताया कि विभाग के अमले द्वारा बुधवार को की गई कार्यवाही में बाजार मूल्य लगभग 61 हजार पांच सौ रूपए की अवैध मदिरा जप्त की है।  सहायक आबकारी अधिकारी एवं कंट्रोल रूम के प्रभारी श्री राहुल ढोंके के नेतृत्व में विशेष अभियान का संचालन जिले में किया जा रहा है। श्री ढोंके ने बताया कि विभाग के उप निरीक्षक एवं अन्य अमले के द्वारा मुखबिरो की सूचना के आधार पर बुधवार 14 अक्टूबर को कुरवाई विकासखण्ड के ग्राम शाहपुर, गुरावली, नाउकुंड, गिरवासा, केसरगंज, काछीकुम्हारिया, इमलिया, मदुखेडी में दबिश देकर 24 पांव देशी मदिरा मसाला तथा पचास लीटर हाथ भट्टी मदिरा के अलावा 860 किलोग्राम महुआलहान जप्त कर आबकारी अधिनियमों के तहत सात आपराधिक प्रकरण पंजीबद्व किए गए है। बरामद मादक पदार्थो का बाजार मूल्य 61 हजार पांच सौ रूपए आंकलित किया गया है जिले में जारी उक्त विशेष अभियान के तहत बुधवार को विभाग के उप निरीक्षक श्री महेश विश्वकर्मा, श्री राजेश विश्वकर्मा, श्री सुनील चौहान, डॉ अर्चना जैन, श्री पुष्पेन्द्र ठाकुर के अलावा आरक्षक श्री शिवलाल चिड़ार, श्री प्रमोद धुर्वे, श्री पवन गौर, श्री राहुल राठौर, श्री प्रवीण पाण्डवी, श्री रोशन भार्गव के द्वारा संयुक्त रूप से कार्यवाही की गई है।

पुरस्कार हेतु मार्गदर्शी निर्देश जारी

सबमिशन ऑन एग्रीकल्चर एक्सटेंशन (आत्मा) अंतर्गत मूल्यांकन वर्ष 2019-20 के लिए जिला, विकासखण्ड स्तरीय सर्वोत्तम कृषक एवं कृषक समूह पुरस्कार चयन प्रक्रिया के संबंध में नवीन मार्गदर्शी निर्देश जारी किए गए है।  कलेक्टर डॉ पंकज जैन ने जारी नवीन मार्गदर्शी निर्देशो के अनुसार संबंधितों को कार्यवाही सुनिश्चित करने के निर्देश दिए है जिसमें किसान कल्याण तथा कृषि विकास विभाग, पशु चिकित्सा सेवाएं, उद्यान, रेशम, मत्स्य, एमपीएसआरएलएम एवं जन अभियान परिषद के अधिकारियों को पत्र प्रेषित कर मार्गदर्शी निर्देशो के अनुसार पुरस्कार के लिए सर्वोत्तम कृषक एवं सर्वोत्तम कृषक समूह का चयन जिला एवं प्रत्येक विकासखण्ड के लिए एक-एक करने के निर्देश दिए है।  पुरस्कार के लिए जारी मार्गदर्शी निर्देशो के अनुसार वर्ष 2019-20 के लिए प्रत्येक विकासखण्ड से कृषि, पशुपालन, उद्यानिकी, मत्स्य, रेशम विभाग अंतर्गत एक-एक विकासखण्ड स्तरीय सर्वोत्तम कृषक पुरस्कार इस प्रकार प्रत्येक विकासखण्ड में कुल पांच पुरस्कार प्रदाय किए जाएंगे। जिला स्तर पर कृषि, पशुपालन, उद्यानिकी, कृषि अभियांत्रिकी से दो-दो कृषक एवं मत्स्य रेशम पालन से एक-एक कृषक को जिला स्तरीय सर्वोत्तम कृषक पुरस्कार इस प्रकार कुल दस प्रदाय किए जाएंगें जिला स्तर पर सर्वोत्तम कृषक समूह के पांच पुरस्कार प्रदाय किए जाऐगे जिनमें कृषि उद्यानिकी, पशुपालन, मत्स्य, कृषि प्रसंस्करण, रेशम में से चयनित किए जाएंगे। 

कार्यक्रम 

आत्मा परियोजना के तहत उत्कृष्ट पुरस्कारों के लिए तिथिवार कार्यक्रम जारी किया गया है जिसके अनुसार पुरस्कार का व्यापक प्रचार-प्रसार विभिन्न संसाधनो के माध्यम से करने हेतु अंतिम तिथि 20 अक्टूबर नियत की गई है। दस नवम्बर तक एकल एवं समूह पुरस्कार की प्रविष्टियां आमंत्रित की गई है। बीस नवम्बर तक प्राप्त प्रविष्टियों का विभागों द्वारा अनुशंसा सहित कार्यालय परियोजना संचालक, आत्मा को उपलब्ध कराई जाएगी। पांच दिसम्बर 2020 तक सर्वोत्तम कृषक, कृषक समूह का चयन पुरस्कार हेतु किया जाएगा। दस दिसम्बर तक सर्वोत्तम कृषक पुरस्कार हेतु प्रविष्टियां राज्य स्तर पर पहूंचाना होगी। 26 जनवरी 2021 को पुरस्कार वितरित किए जाएंगे। कृषकों के चयन हेतु न्यूनतम अंक सीमा पचास एवं कृषक समूह के लिए न्यूनतम अंक सीमा 25 नियत की गई है।  

मोहल्‍ला क्‍लास की ख्‍याति चहुंओर जायजा संयुक्‍त संचालक ने लिया

vidisha news
विदिशा जिले के शासकीय स्‍कूलों में अध्‍ययनरत विद्यार्थियों की शैक्ष्‍ाणिक गतिविधियों को बढावा देने के लिए किए गए नवाचार मोहल्‍ला क्‍लास की ख्‍याति चहुंओर फैल रही है।  आज जनपद शिक्षा केंद्र विदिशा के अंतर्गत एकीकृत शासकीय माध्यमिक शाला पारधी में मोहल्ला क्लास का का ऑनलाइन निरीक्षण किया गया जिसमें राज्य शिक्षा केंद्र भोपाल के ओ आई सी विदिशा के प्रभारी श्री एस एच रिजवी जी के द्वारा कक्षा पांचवी में अध्ययनरत सुनीता मीणा ग्राम पारधी से चर्चा की तथा उनसे पूछा कि बड़े होकर क्या बनोगी छात्रा ने उत्तर दिया कि पुलिस बनेगी फिर उन्होंने पूछा कि पुलिस में वन स्टार,टू स्टार या अधिकारी अधिकारी बनोगे  छात्रा के द्वारा आईपीएस बनूंगी ऐसा कहा गया श्री रिजवी जी के द्वारा आईपीएस का फुल फॉर्म बताया गया तथा आगे मेहनत और लगन से पढ़ाई करने के लिए प्रोत्साहित किया गया साथ ही आज विश्व हाथ धुलाई दिवस के अवसर पर मोहल्ला क्लास पर हाथ धुलाई का अवलोकन किया गया। 

जनपद शिक्षा केंद्र विदिशा का नवाचार सराहनीय।   तोमर

मोहल्ला क्लास का निरीक्षण श्री राजीव सिंह तोमर संयुक्त संचालक भोपाल संभाग भोपाल के द्वारा सांकल खेड़ा खुर्द में मोहल्ला क्लास का  निरीक्षण किया गया जिसमें छात्र छात्राओं से संवाद स्थापित कर गृह कार्य वर्क बुक कि जांचने के कार्य को देखा, साथ ही किचन गार्डन के निर्माण की प्रशंसा की जनपद शिक्षा केंद्र विदिशा द्वारा मोहल्ला क्लास की ऑनलाइन मॉनिटरिंग व्यवस्था की तारीफ करते हुए श्री तोमर जी ने कहा कि यह एक अभिनव प्रयोग एवं नवाचार है इसमें शिक्षकों का उत्साह देखने को मिला एवं वीडियो कॉलिंग के माध्यम से छात्र छात्राओं को जोड़ने से उनके शैक्षणिक स्तर में सुधार परिलक्षित हो रहा है। संयुक्त संचालक श्री तोमर ने प्राथमिक शाला  देव खजूरी  मैं संचालित  अंग्रेजी माध्यम  के स्कूल  को वीडियोकांफ्रेसिंग के माध्यम से  अवलोकन किया  तथा  छात्र छात्राओं से  संवाद किया  एवं  शिक्षिकाओं से  हमारा घर हमारा विद्यालय  वर्क बुक पर कार्य  आदि पर  चर्चा की  श्री तोमर ने  शिक्षकों की मेहनत  की सराहना करते हुए कहा कि  सभी शिक्षक गण बहुत अच्छे से  मोहल्ला क्लास का संचालन कर रहे हैं  और इस कठिन समय में  शिक्षकों के कार्य  को प्रणाम करता हूं । संयुक्त संचालक भोपाल संभाग  के निर्माण में  श्री ए के मोदगिल जिला शिक्षा अधिकारी जिला  विदिशा  श्री एसपी सिंह जाटव जिला परियोजना समन्वयक,    श्री के सिंह सहायक परियोजना समन्वयक राष्ट्रीय माध्यमिक शिक्षा मिशन एवं श्री बलवीर सिंह तोमर आदि उपस्थित रहे।जनपद शिक्षा केंद्र विदिशा में पदस्थ  बीआरसी जनपद शिक्षा  विदिशा के नवाचार के कार्य की सराहना की गई।

कोई टिप्पणी नहीं: