शाह ने तृणमूल पर साधा निशाना, तुष्टीकरण की राजनीति बंगाल की परंपरा पर चोट - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शुक्रवार, 6 नवंबर 2020

शाह ने तृणमूल पर साधा निशाना, तुष्टीकरण की राजनीति बंगाल की परंपरा पर चोट

amit-shah-attack-mamta-banerjee
कोलकाता, 06 नवंबर, केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने पश्चिम बंगाल में सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस सरकार पर तुष्टीकरण की राजनीति करने का आरोप लगाया और कहा, “तुष्टीकरण की राजनीति से राज्य की परंपरा को आघात पहुंच रहा है।” श्री शाह ने दक्षिणेश्वर काली मंदिर में विशेष पूजा अर्चना करने के बाद कहा कि देवी भवतारिणी से उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में देश के समग्र कल्याण और विकास की प्रार्थना की है। उन्होंने कहा कि बंगाल स्वामी विवेकानंद, प्रणवानंद, और ऋषि अरबिंदा कई आध्यात्मिक पुरुषों की भूमि है और राज्य के लोगों से मेरी अपील है कि वे संत पुरुषों का स्मरण करें तथा गौरवशाली दिनों को फिर से लाने के लिए उनका अनुसरण करें। गृह मंत्री ने देवी काली की पूजा के साथ अपनी दिनचर्या की शुरूआत की और बाद में उन्होंने कहा कि जब भी उन्हें शहर के अपने दौरे के दौरान समय मिलता है, तो वह दक्षिणेश्वर में देवी भगवतारिणी की पूजा करना पसंद करते हैं।  श्री शाह ने कहा कि बंगाल महापुरुषों की भूमि है और मैं राज्य के लोगों से अपील करता हूँ कि गौरवशाली दिनों को फिर से लाने के लिए उनका अनुसरण करें। बाद में श्री शाह दक्षिण कोलकाता में शास्त्रीय गायक पंडित अजय चक्रवती के आवास एवं संस्थान ‘श्रुतिनंदन’ पहुंचे। संस्थान के छात्रों ने केन्द्रीय गृह मंत्री के समक्ष अपनी कला का प्रदर्शन किया जहां अन्य केन्द्रीय मंत्री बाबुल सुप्रियो भी उपस्थित रहे। छात्रों ने शंख बजाकर और ढोल बजाकर श्री शाह का अभिनंदन किया। 

कोई टिप्पणी नहीं: