बिहार : तभी उसने कमरे में जाकर फांसी लगा ली.... - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 4 नवंबर 2020

बिहार : तभी उसने कमरे में जाकर फांसी लगा ली....

और दादी के चरित्र पर लांछन लगाने के कारण वह परेशान हो गई थी। इसी बात को लेकर आज भी दोनों के बीच में बहस हुई थी।पिता वोट डालने गए थे और मां रसोई में काम कर रही थी, तभी उसने कमरे में जाकर फांसी लगा ली....

khusho-commit-sucide
बिहटा,, पटना जिले में है बिहटा।यहां के कन्हौली गांव में दादी के उलाहने से परेशान एक पोती ने फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली।  मंगलवार की सुबह दादी-पोती में बहस हुई थी, जिसके बाद 18 साल की खुशी राज ने साड़ी के पल्लू से लटककर फांसी लगा लिया। घटना के करीब दो घंटे बाद परिजनों ने घर की कुंडी तोड़ कर शव बाहर निकाला। मौके पर पुलिस पहुंची और शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। मृतक के पिता शैलेन्द्र प्रसाद और माता गीता देवी ने अवधेश महतो और मालती देवी के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराया है। गीता देवी ने बताया कि खुशी की दादी हमेशा उलाहना देती रहती थी। चरित्र पर लांछन लगाने के कारण वह परेशान हो गई थी। इसी बात पर आज भी दोनों में बहस हुई थी, जिसके बाद उसने ये कदम उठाया। पिता वोट डालने गए थे और मां रसोई में काम कर रही थी, तभी उसने कमरे में जाकर फांसी लगा ली।


कोई टिप्पणी नहीं: