बिहार : भाकपा-माले की पोलित ब्यूरो ने बिहार की जनता को दिया धन्यवाद. - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

मंगलवार, 17 नवंबर 2020

बिहार : भाकपा-माले की पोलित ब्यूरो ने बिहार की जनता को दिया धन्यवाद.

  • बिहार चुनाव से बंगाल-असम व अन्य चुनावों को मिलेगी नई गति व ऊर्जा, जनादेश भाजपा-जदयू के खिलाफ.
  • हेरा-फेरी कर मैनेज्ड सरकार बिहार की सत्ता में, माले ने शपथ ग्रहण का किया बहिष्कार,कम मार्जिन वाली सीटों पर बिहार की जनता व उम्मीदवारों को संतुष्ट किए बिना आयोग ने आनन-फानन में जारी किया रिजल्ट.

cpi-ml-thanks-to-bihar-people
पटना, भाकपा-माले की पोलित ब्यूरो की एकदिवसीय बैठक आज पार्टी राज्य कार्यालय, जगत नारायण रोड, कदमकुआं में संपन्न हुई. बैठक में पार्टी महासचिव काॅ. दीपंकर भट्टाचार्य, वरिष्ठ नेता स्वदेश भट्टाचार्य, यूपी से रामजी राय, बंगाल से कार्तिक पाल व पार्थो घोष, बगोदर विधायक विनोद सिंह, साउथ इंडिया के पार्टी प्रभारी वी. शंकर, असम से रूबुल शर्मा, बिहार के राज्य सचिव कुणाल, धीरेन्द्र झा, राजाराम सिंह, अमर, कविता कृष्णन, केंद्रीय कार्यालय के सचिव प्रभात कुमार चैधरी, झारखंड के राज्य सचिव जनार्दन प्रसाद, मनोज भक्त आदि नेतागण भाग ले रहे हैं.बैठक के हवाले से पार्टी नेता व पूर्व विधायक राजाराम सिंह ने कहा कि पार्टी की पोलित ब्यूरो ने जनसवालों को चुनाव का एजेंडा सेट करने के लिए बिहार की जनता को तहेदिल से बधाई दिया. पोलित ब्यूरो ने नोट किया कि बिहार चुनाव का देशव्यापी महत्व है. इस चुनाव ने दिखलाया कि कैसे तमाम साजिशों के खिलाफ जनता के एजेंडे को चुनाव का एजेंडा बनाया जा सकता है. बंगाल, असम, तमिलनाडु व अन्य सभी चुनावों के लिए बिहार का चुनाव प्रेरक का काम करेगा. हमारी कोशिश होगी कि इन चुनावों में भी जनता के अपने जीवन के सवाल उभरकर सामने आएं और वे चुनाव का एजेंडा बने. धीरेन्द्र झा ने कहा कि बिहार का जनादेश भाजपा-जदयू के खिलाफ बदलाव का जनादेश है, लेकिन वोटों की हेरा-फेरी करके आज एक मैनेज्ड सरकार शपथ ले रही है. इसलिए इस सरकार के शपथ ग्रहण का हम बहिष्कार करते हैं. बिहार के उम्मीदवारों व मतदाताओं के मन में चुनाव के परिणाम को लेकर काफी सवाल थे, लेकिन उसका स्पष्टीकरण व उन्हें संतुष्ट करने की बजाए आयोग ने आनन-फानन में चुनाव परिणाम घोषित कर दिया. कम मार्जिन वाली सीटों पर हरा दिया गया. आयोग की हड़बड़ी के कारण संदेह का दायरा और गहरा हो गया है. हम आयोग से मांग करते हैं कि वह तत्काल कम मार्जिन वाली सीटों पर संज्ञान ले और उम्मीदवारों व बिहार की जनता के सभी प्रकार के संदेहों को दूर करे. माले नेताओं ने कहा कि महागठबंधन के दलों ने जिन 25 सूत्री सवालों पर अपना संकल्प पत्र पेश किया था, उसे लागू करवाने की लड़ाई हम आने वाले दिनों में मजबूती से लड़ेंगे और उसपर कार्रवाई करने के लिए बिहार सरकार को मजबूर कर देंगे. कल 17 नवंबर को बिहार राज्य कमिटी की बैठक होगी, जिसमें पार्टी के सभी नवनिर्वाचित विधायक भाग लेंगे. राज्य कमिटी की बैठक में पोलित ब्यूरो की बैठक के आलोक में आंदोलनों की रूपरेखा पर बातचीत होगी. साथ ही विधायक दल के नेता पर भी चर्चा होगी.

कोई टिप्पणी नहीं: