बिहार : पदभार का भार नहीं संभाल पाए मेवालाल - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 19 नवंबर 2020

बिहार : पदभार का भार नहीं संभाल पाए मेवालाल

mewalal-resign
पटना ,आर्यावर्त संवाददाता ,19 नवंबर बिहार विधानसभा चुनाव में भाजपा-जदयू नीत राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) को मिली विजय के बाद भाई दूज के दिन नव गठित सरकार में नीतिश कुमार को मुख्यमंत्री पद सहित अन्य मंत्रियों को भी शपथ दिलाई गयी जिसमें से एक डॉ मेवालाल चौधरी भी शामिल रहे,जिन्हें नई सरकार में शिक्षा मंत्रालय सौंपा गया। बिहार कृषि विश्वविद्यालय के पूर्व कुलपति डॉ मेवालाल चौधरी ने मंत्री पद की शपथ के बाद आज शिक्षा शिक्षा मंत्री का पदभार ग्रहण किया लेकिन बिहार कृषि विश्वविद्यालय के कुलपति रहते हुए उन पर नियुक्ति में हुए भ्रष्टाचार के आरोपों को मुद्दा बनाकर विपक्ष ने सरकार को घेरा। बढ़ते दबाव  के मद्देनज़र मेवालाल ने मुख्यमंत्री नीतिश कुमार से मुलाकात के बाद आज ही मंत्री पद से इस्तीफ़ा दे दिया। इस तरह जिसदिन मेवालाल शिक्षा मंत्री बने उसी दिन वो भूतपूर्व भी बन गए। बताते चलें कि मेवालाल को मंत्रिमंडल में शामिल किये जाने पर राजद नेता तेजस्वी यादव लगातार सरकार पर हमलावर रहे हैं। 2019 में उनकी पत्नी नीता चौधरी की संदिग्ध मौत पर भी मेवालाल पर आरोप लगे थे।  हालाँकि मेवालाल चौधरी ने सफाई दी कि उन पर इन मसलों में न तो कोई चार्जशीट दायर हुई है और न ही न्यायपालिका में आरोप सिद्ध हुआ है। 'लाइव आर्यावर्त' ने इस संदर्भ में अधिक जानकारी के लिए डॉ मेवालाल से संपर्क करना चाहा पर संपर्क नहीं हो पाया।

कोई टिप्पणी नहीं: