दीवाली पर सजे बाज़ार ,ऑफरों की भरमार - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 4 नवंबर 2020

दीवाली पर सजे बाज़ार ,ऑफरों की भरमार

offer-in-dipawali
बेंगलुरु,आर्यावर्त संवाददाता ,4 नवंबर, देश भर में इस वर्ष 14 नवम्बर को मनाई जाने वाली दीवाली पर्व के लिए बाज़ार सज कर तैयार है। ख़रीददारी पर मिठाई ,कपड़े , खाद्य पदार्थों और अन्य पर 10 से 50 प्रतिशत की छूट दी जा रही है। कोरोना संक्रमण काल के अनलॉक 6 में लम्बे अरसे बाद खुले बाज़ारों में अब भी रौनक पूरी तरह से नहीं लौटी है। बड़े शहरों में आम तौर पर लोगों से भरे रहने वाले मॉलों में शुरूआती सुस्ती के बाद अब कुछ चहल पहल दिखाई देने लगी है पर अब भी उन्हें खरीददारों की तलाश है। कोरोना काल में लोगों की छूटी नौकरी ,व्यापार में हुए नुकसान ,कम हुई आमदनी और भविष्य की चिंता में अब भी आम जन गैर जरूरी सामानों की ख़रीददारी से परहेज ही कर रहे हैं। साधारणतः धन की देवी महालक्ष्मी के पूजन दीवाली  जैसे उत्सव पर लोग परिवार के लिए नए कपड़े खरीदते ही थे परन्तु इस वर्ष कपड़ों की दुकान और बड़े शो रूम में भी अपेक्षाकृत ग्राहक बहुत कम दिखाई दे रहे हैं , हालाँकि विक्रेता विभिन्न प्रकार की छूटों और अन्य लुभावनी योजनाओं के तहत ग्राहकों को आकर्षित करने की कोशिश कर रहें हैं। एक बड़े मॉल में प्रबंधक ने 'आर्यावर्त' को बताया कि ग्राहकों को आकर्षित करने के लिए विभिन्न योजनाओं के साथ प्रतिदिन सामानों पर 10 से 50 प्रतिशत की छूट दी जा रही है ,उम्मीद है धीरे धीरे ग्राहकों की संख्या बढ़ेगी।

कोई टिप्पणी नहीं: