सपा से गठबंधन हमारी प्राथमिकता : शिवपाल - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शुक्रवार, 20 नवंबर 2020

सपा से गठबंधन हमारी प्राथमिकता : शिवपाल

priority-with-sp-alias-shivpal-yadav
कानपुर (उप्र), 19 नवंबर, वरिष्ठ समाजवादी नेता और प्रगतिशील समाजवादी पार्टी-लोहिया के संस्थापक शिवपाल सिंह यादव ने उत्तर प्रदेश के आगामी विधानसभा चुनाव में समाजवादी पार्टी (सपा) से गठबंधन को अपनी प्राथमिकता बताया है। शिवपाल ने यहां संवाददाताओं से बातचीत में कहा कि वर्ष 2022 के विधानसभा चुनाव में उत्तर प्रदेश से भाजपा सरकार को हटाने के लिए वह अन्य दलों से गठबंधन करेंगे। उन्होंने एक सवाल पर कहा कि समाजवादी पार्टी से गठबंधन उनकी प्राथमिकता में है। शिवपाल का यह बयान सपा अध्यक्ष और प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के हाल के उस बयान के परिप्रेक्ष्य में खासा महत्वपूर्ण है, जिसमें उन्होंने कहा था कि अगर प्रगतिशील समाजवादी पार्टी सपा से तालमेल करती है तो सत्ता में आने पर वह शिवपाल को कैबिनेट मंत्री बनाएंगे। शिवपाल ने कहा कि उनकी पार्टी का संगठन प्रदेश के सभी 75 जिलों में तैयार है। उनकी पार्टी का वजूद बना रहेगा और वहां सपा के साथ-साथ अन्य पार्टियों से भी गठबंधन करेंगे। प्रदेश के पूर्व कैबिनेट मंत्री ने कहा कि भाजपा सरकारों ने जनता से जो भी वादे किए थे वे सब खोखले निकले। भाजपा सरकार का एक भी फैसला देश हित में नहीं रहा इससे जनता बहुत दुखी है। गौरतलब है कि वर्ष 2017 के विधानसभा चुनाव से ऐन पहले अखिलेश और उनके चाचा शिवपाल के बीच सरकार तथा संगठन पर वर्चस्व को लेकर तल्ख़ियां बहुत बढ़ गई थीं। सपा के सत्ता से बाहर होने के बाद शिवपाल ने सपा से अलग होकर प्रगतिशील समाजवादी पार्टी लोहिया के रूप में एक अलग पार्टी बना ली थी।

कोई टिप्पणी नहीं: