विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 02 दिसंबर - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 2 दिसंबर 2020

विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 02 दिसंबर

वैवाहिक आयोजन करने वाले परिवारों और विवाह में सम्मिलित  होने वालों से कलेक्टर की अपील


कलेक्टर डॉ पंकज जैन ने वैवाहिक आयोजन करने वाले परिवारों से कोरोना से बचाव और रोकथाम के सहयोग की अपील करते हुए एडवायजरी जारी की है। कलेक्टर डॉ जैन ने कहा हैं कि विवाह का स्तर हवादार होना चाहिए, यदि संभव हो तो खुली हवा वाले स्थान का चयन करें। वैवाहिक स्थल के प्रवेश स्थान पर हाथ धोने, सैनिटाइज की व्यवस्था होनी चाहिए। छूने से बचाने के लिए पैर से चलने वाले सैनिटाइजर डिस्पेंसर उपयोग बेहतर होगा। विवाह स्थल पर जगह-जगह कोविड-19 संबंधी निर्देशों का प्रदर्शित किया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि वैवाहिक स्थल के स्वामी को सुनिश्चित करना चाहिए कि कुछ कुर्सियां, सोफे और सीट कवर कालीनें नियमित रूप से बदले जाएं। साफ किए जाएं, धुलवाएं जाएं और माइक्रोबियल एरियल डिसइन्फेक्शन से भी संक्रमित किए जाएंगे। लिफ्ट में एक ऑपरेटर की व्यवस्था हो और लिफ्ट के अंदर भी 6 फीट की दूरी रखी जाए, सीढ़ियों के हैंडल छूने से बचें। इंटरनेट के माध्यम से विवाह का सजीव प्रसारण करें और विवाह स्थल पर भी स्क्रीन के माध्यम से प्रसारण करें जिससे विवाह मंडप में अधिक लोग एकत्र ना हो। कुर्सियों को उचित दूरी पर रखें, आपसी संपर्क को कम करने के लिए भोजन के लिए 6 फीट की दूरी पर बैठकर खाने की व्यवस्था बेहतर विकल्प है। सुनिश्चित करें कि भोजन तैयार करने के प्रत्येक चरण में कोविड-19 संबंधी सावधानियों का पालन किया गया हो, जैसे मास्क पहनना, सैनिटाइज करना आदि। कलेक्टर डॉ जैन ने वैवाहिक समारोह में शामिल होने वाले व्यक्तियों से भी अपील की है कि विवाह समारोह में कम से कम समय के लिए रहें, अपना वाहन स्वयं पार्क करें, अपना मास्क और सैनिटाइजर स्वयं लेकर जाएं। विवाह के दौरान अपना चेहरा बार-बार नहीं छूये, विवाह स्थल पर 6 फीट की दूरी बनाए रखें और लोगों के संपर्क में नहीं आए जहां तक संभव हो अपने मोबाइल, चाबी आदि के बार-बार प्रयोग से बचें और प्रयोग से पहले उन्हें अच्छे से सैनिटाइज कर लें। उपहार, शगुन आदि ऑनलाइन भेजें, खाना परोसने वाले चम्मच को छूने से बचें, बेहतर होगा कि किसी को परोसने के लिए कहें रिटर्न गिफ्ट को खोलने से पहले कुछ दिन के लिए किसी खुली हवादार जगह पर रख दें। सारी सावधानियों के बाद भी यदि आप में कोरोना लक्षण दिखते हैं तो स्वयं को आइसोलेट कर लें और कोविड-19 का परीक्षण कराएं। विवाह स्थल पर किसी वस्तु, कुर्सियों आदि को छूने से बचें, वायरस को फैलने से रोकने के लिए जोर-जोर से बोलने और हंसने से बचें, समूह बनाने या वार्तालाप करने से बचे, ऐसे में अधिक लोग आप की और आकर्षित होते हैं, गले मिलने, हाथ मिलाने या अन्य किसी प्रकार के संपर्क से बचें जहां तक संभव हो नवयुगल को दूर से ही आशीर्वाद शुभकामनाएं दें। संगीत, बैंड के कार्यक्रमों से बचें, जिसमें बहुत से लोग शामिल होते हैं। बहुत से वैवाहिक कार्यक्रमों में मित्रों और रिश्तेदारों के साथ नाचने, गाने का रिवाज है ऐसे में एक ही माइक सब के द्वारा प्रयोग करने से बचें। बारात में 6 फीट की दूरी बनाए रखें और मास्क पहने रहें, फोटो खिंचवाने के लिए मास्क नहीं हटाए। सामूहिक फोटोग्राफी से बचें, गले मिलने से बचें और 6 फीट की दूरी बनाए रखें। गिफ्ट एक निश्चित स्थान पर रख दिए जाएं और अतिथि स्वयं वहां से उठा लें। वैवाहिक समारोह में जहां तक संभव हो लोगों द्वारा दूल्हा-दुल्हन को छूने से बचाएं, लोग दूर से ही आशीर्वाद दें। इलेक्ट्रॉनिक माध्यम से शगुन भेजें, अगर ऐसा संभव ना हो तो गिफ्ट देने का एक स्थान निश्चित कर दिया जाना चाहिए। यहां लोग स्वयं जाकर गिफ्ट रख दें सारे गिफ्ट कुछ दिन के बाद ही खोलें। 


डिप्टी कलेक्टरों के मध्य कार्य विभाजन के आदेश जारी


कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी डॉ पंकज जैन ने जिले में पदस्थ संयुक्त कलेक्टर एवं डिप्टी कलेक्टरों के मध्य पूर्व जारी कार्य विभाजन आदेश में नवीन संशोधन आदेश जारी कर दिया है।  संयुक्त कलेक्टर श्री रोशन राय को जिन शाखाओं का प्रभारी अधिकारी का दायित्व सौंपा गया हैं उनमें उप जिला निर्वाचन अधिकारी स्थानीय निर्वाचन, लायसेंस शाखा, रीडर-टू-कलेक्टर, आरएम शाखा, टीएल बैठक, टीएल संदर्भो का अर्न्त विभागीय पर्यवेक्षण, राहत, आपदा प्रबंधन, एसडब्ल्यूबीएन शाखा, सीएम हेल्पलाइन (राजस्व शिकायते), नाजिर शाखा, नगरपालिका विदिशा, आकस्मिक व्यय के अंतर्गत पांच हजार रूपए तक की स्वीकृति, कलेक्टर द्वारा समय-समय पर निर्देशित कार्यो का सम्पादन करेंगे।   डिप्टी कलेक्टर श्री कुमार शानू देवड़िया को उप जिला निर्वाचन अधिकारी सामान्य निर्वाचन, भू-अभिलेख शाखा (तृतीय एवं चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों के तीस दिवस तक अर्जित अवकाश के अधिकार), जिला की नजूल शाखा, अतिरिक्त वरिष्ठ लिपिक शाखा एवं सैनिक कल्याण, जिला खेलकूद संबंधी कार्य, जिला विभागीय जांच अधिकारी विदिशा, शिकायत सतर्कता, स्टेशनरी क्रय एवं उपलब्धता शाखा, वरिष्ठ लिपिक शाखा एवं मुख्यमंत्री स्वेच्छानुदान, भू-अर्जन शाखा (कलेक्टर को प्रस्तुत की जाने वाली नस्तियां अपर कलेक्टर विदिशा के माध्यम से प्रस्तुत की जायेगी), पुरातत्व, महिला एवं कर्मचारी कल्याण, जल संसाधन विभाग, सीएम हेल्पलाइन (सामान्य शिकायते), परियोजना अधिकारी, शहरी विकास अभिकरण विदिशा, लोक सेवा प्रबंधन (कलेक्टर को प्रस्तुत की जाने वाली नस्तियां अपर कलेक्टर विदिशा के माध्यम से प्रस्तुत की जायेगी), आकस्मिक व्यय के अंतर्गत पांच हजार रूपए तक की स्वीकृति, कलेक्टर द्वारा समय-समय पर निर्देशित कार्यो का सम्पादन करेंगे।  डिप्टी कलेक्टर श्री शैलेन्द्र सिंह को एपीडी, जागीर शाखा, मप्र राज्य बीमारी सहायता निधि के प्रकरणो पर कलेक्टर की ओर से हस्ताक्षर करने हेतु अधिकृत, सहायक अधीक्षक सामान्य, राजस्व, सिविल सूट-अकिंचन जांच संबंधी प्रकरण, आपसी राजीनामा के आधार पर न्याय शुल्क की वापसी, जन शिकायत निवारण, जन सामान्य सहायता, समाधान ऑन लाइन, कमिश्नर-आईजी की वीडियो कान्फ्रेंस की नस्तियों का संकलन, जनसुनवाई के नोडल अधिकारी माननीय मुख्यमंत्री महोदय जी से प्राप्त होने वाली शिकायतो का निराकरण, आयुक्त महोदय के स्तर पर जनसुनवाई में प्राप्त संदर्भो का निराकरण, सूचना का अधिकार अधिनियम 2005, प्रतिलिपि शाखा, सामान्य, राजस्व अभिलेखागार, आवक-जावक शाखा, सत्यप्रतिलिपि एवं सत्यापन कार्य, सिटीजन चार्टर, वित्त शाखा, खनिज, सामान्य, स्थानीय निर्वाचन कलेक्ट्रेट विदिशा के आहरण संवितरण अधिकारी, श्रम विभाग, श्रमिक कल्याण शाखा, बाल श्रमिक, आकस्मिक व्यय के अंतर्गत पांच हजार रूपए तक की स्वीकृति, कलेक्टर द्वारा समय-समय पर निर्देशित कार्यो का सम्पादन करेंगे।  जिला कोषालय अधिकारी श्री उमेश श्रीवास्तव को वित्त शाखा का प्रभारी अधिकारी एवं कलेक्टर द्वारा समय-समय पर निर्देशित कार्यो का सम्पादन करेंगे। 


लिंक अधिकारी नियुक्त


कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी डॉ पंकज जैन ने जिले में पदस्थ संयुक्त एवं डिप्टी कलेक्टरों के मध्य कार्य विभाजन के उपरांत लिंक अधिकारी नियुक्ति का आदेश जारी कर दिया है। कलेक्टर द्वारा जारी आदेश में उल्लेख है कि संयुक्त कलेक्टर श्री  रोशन राय के लिंक अधिकारी डिप्टी कलेक्टर श्री कुमार शानू देवड़िया और श्री कुमार शानू देवडिया के लिंक अधिकारी श्री रोशन राय होंगे। डिप्टी कलेक्टर शैलेन्द्र सिंह के लिंक अधिकारी श्री कुमार शानू देवड़िया तथा जिला कोषालय अधिकारी श्री उमेश श्रीवास्तव के लिंक अधिकारी डिप्टी कलेक्टर श्री शैलेन्द्र सिंह होंगे। 


डिलेवरी पाइंट फक्शनल हुए गर्भवती महिलाओ के संस्थागत प्रसव हेतु अमले को निर्देश जारी


भोपाल संभागायुक्त श्री कवीन्द्र कियावत ने विदिशा, ग्यारसपुर, कुरवाई एवं नटेरन विकासखण्डो में संचालित उप स्वास्थ्य केन्द्र (आरोग्यम) केन्द्रों का औचक निरीक्षण गत दिवस करने के उपरांत सभी उप स्वास्थ्य केन्द्रो को फंक्शनल में लाते हुए डॉक्टर व अन्य स्टाफ उप स्वास्थ्य केन्द्र में रहना सुनिश्चित करें के निर्देश प्रसारित किए गए थे। संभागायुक्त द्वारा जिले के समस्त उप स्वास्थ्य केन्द्रो को डिलेवरी पाइंट के रूप में फक्शनल कराने हेतु आवश्यक बुनियादी आवश्यकताओं की पूर्ति सुनिश्चित कराने के भी निर्देश दिए गए थे के परिपालन में मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ केएस अहिरवार के द्वारा प्रस्तावित डिलेवरी पाइंट में गर्भवती महिलाओं के संस्थागत प्रसव कराने हेतु ग्राम स्तरीय अमले को आवश्यक दिशा निर्देश प्रसारित किए है। सीएमएचओ डॉ अहिरवार ने स्वास्थ्य एवं महिला एवं बाल विकास विभाग के ग्राम स्तरीय अमले को 34 डिलेवरी पाइंटो की सूची उपलब्ध कराते हुए संबंधितों को लक्षित परिवार से सतत सम्पर्क कर डिलेवरी उप स्वास्थ्य केन्द्र में ही हो के पुख्ता प्रबंध सुनिश्चित कराएं के भी निर्देश प्रसारित किए है।


फोर डी के चिन्हित बच्चों का बैकलॉग डेटा उपलब्ध कराने के निर्देश


राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन कार्यक्रम के तहत जिले की आंगनबाडी एवं स्कूलों में शून्य से 18 वर्ष तक के बच्चों की स्केनिंग का कार्य वाधित हुआ है जिस कारण से समुदाय में फोर डी (जन्मजात विकृति, बाल्यकाल रोग बाल्यकाल में कमी दिव्यांगता सह विकासात्मक विलंब) के बच्चों का समय पर उपचार ना होकर समुदाय में फोर डी ग्रसित बच्चो की बढोतरी हुई है। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ केएस अहिरवार ने वर्ष 2020-21 में विकासखण्डवार फोर डी के अनुमानित बच्चों की संख्या निर्धारित प्रपत्र में समस्त खण्ड चिकित्सा अधिकारियों के साथ-साथ आरबीएस के मोबाइल हेल्थ टीम को उपलब्ध कराई है। संलग्न सूची के अलावा ऐसे बच्चे जो शेष रह गए है उन सबको लाइनलिस्ट आरबीएस के मोबाइल हेल्थ टीम के माध्यम से आशा कार्यकर्ता से समन्वय कर सात दिवस में बैकलॉग डाटा की सूची निर्धारित ई-मेल आईडी पर प्रेषित करने के निर्देश दिए है। 


डॉ चौहान को टीकाकरण का प्रभार


मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ केएस अहिरवार के द्वारा जिला टीकाकरण अधिकारी का प्रभार डॉ भूपेन्द्र सिंह चौहान को सौंपने का आदेश जारी कर दिया है। गौरतलब हो कि पूर्व में नियुक्त जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ दिनेश शर्मा अस्वस्थ होने के कारण अब डॉ भूपेन्द्र सिंह चौहान अपने पूर्व कार्यो के साथ-साथ जिला टीकाकरण अधिकारी के दायित्व का भी निर्वहन करेंगे। 


कार्यालयों में विद्युत सब मीटर लगाने के निर्देश


कलेक्टर डॉ पंकज जैन ने नवीन कलेक्ट्रेट कम्पोजिट भवन में विभिन्न विभागो के कार्यालयो के संचालन हेतु कक्ष आवंटित किए गए है उपरोक्त कक्षो में विद्युत आपूर्ति के लिए विभागो द्वारा पृथक-पृथक सबमीटर इस माह के अंत तक अनिवार्य रूप से स्थापित कराने के निर्देश संबंधित विभागो के अधिकारियों को प्रसारित किए गए है। कलेक्टर डॉ जैन के द्वारा सबमीटर लगवाने में यदि किसी भी प्रकार की दिक्कत आती है तो मध्यप्रदेश मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी लिमिटेड के डीई श्री अवधेश त्रिपाठी से सम्पर्क कर समस्या का समाधान करा सकते है।


फिट इंडिया कैंपेन फिटनेस का आयोजन जारी


vidisha news
खेल और युवा कल्याण विभाग द्वारा 31 दिसम्बर 2020 तक फिट इंडिया कैंपेन फिटनेस का डोज आधा घंटा रोज का आयोजन पूरे प्रदेश में एक माह तक आयोजित किया जाएगा। उपरोक्त कार्यक्रम के तहत समस्त जन समुदाय की फिटनेस के कार्य के लिए एवं स्वास्थ्य के प्रति जागृत कराना मुख्य उद्वेश्य है। उपरोक्त आयोजन खेल और युवा कल्याण विभाग एवं स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा संयुक्त रूप से विभिन्न गतिविधियों का मासांत तक आयोजन किया जा रहा है। बुधवार दो दिसम्बर को आत्म रक्षा संबंधी प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन खेल स्टेडियम परिसर में प्रातः सात बजे से आयोजित किया गया था उक्त प्रशिक्षण में प्रशिक्षक श्री भूपेन्द्र शर्मा के द्वारा बालिकाओं को आत्मरक्षा के उपायों से प्रशिक्षित किया गया है। फिट इंडिया कैंपेन फिटनेस के तहत गुरूवार तीन दिसम्बर को एथेलेटिक्स प्रशिक्षण आयोजित किया गया है। स्टेडियम में आयोजित होने वाले उक्त कार्यक्रम में संबंधित खिलाडियों को शामिल होने का आग्रह जिला खेल अधिकारी श्रीमती पूजा कुरील के द्वारा किया गया है। 


कलेक्टर्स, कमिश्नर्स कांफ्रेस अब नौ को 


मुख्यमंत्री जी की अध्यक्षता में नौ दिसम्बर की प्रातः साढे दस बजे से कलेक्टर्स, कमिश्नर्स कांफ्रेस का आयोजन किया गया है। वीडियो कांफ्रेस के माध्यम से उक्त समीक्षा में शामिल एजेण्डा बिन्दु तदानुसार 13 नवम्बर 2020 को आयोजित कांफ्रेस में प्रदत्त निर्देशो का पालन प्रतिवेदन, आयुष्मान भारत कार्यक्रम-निरामयम मध्यप्रदेश योजना की समीक्षा, मिलावट से मुक्त अभियान की समीक्षा, खरीफ 2020 उपार्जन (धान, ज्वार, बाजरा) एवं रबी 2020-21 हेतु यूरिया, खाद उपलब्धता की समीक्षा, आबादी सर्वे (स्वामित्व योजना) की समीक्षा, आत्म निर्भर मध्यप्रदेश पोर्टल एवं डेस बोर्ड की लांचिग एवं उससे संबंधित निर्देश के अलावा अध्यक्ष महोदय की अनुमति से अन्य विषय शामिल है। 


नेशनल एडवेंचर फेस्टिवल में सहभागिता करने वाले 31 दिसंबर तक करें पंजीयन


नेशनल एडवेंचर क्लब (इंडिया) द्वारा 27वां नेशनल एडवेंचर फेस्टिवल 2 से 10 फरवरी तक चंडीगढ़ में आयोजित होगा। इस कार्यक्रम में देशभर से बालक एवं बालिका वर्ग में 15 से 29 आयु वर्ग के कुल 350 युवक-युवती हिस्सा लेंगे। प्रत्येक राज्य से 10 बालक एवं 10 बालिका खिलाडियों के साथ प्रत्येक टीम में एक सुपरवाईजर तथा प्रदेश में संचालित एडवेंचर क्लब से भी एक टीम, जिसमें 7-7 बालक एवं बालिका तथा 2 सुपरवाईजर सहभागिता करेंगे। जिला खेल युवा कल्याण विभाग से प्राप्त जानकारी के अनुसार नेशनल एडवेंचर में सहभागिता करने के लिए प्रत्येक खिलाड़ी को अपना पंजीयनू  www.nacindia.in वेबसाइट पर 31 दिसंबर तक कर सकते है। कार्यक्रम में जिले से 2-2 बालक एवं बालिकाओं का चयन किया जाएगा, जो नेशनल एडवेंचर क्लब द्वारा जारी किए दिशा-निर्देशानुसार रहेगा। 


सफलता की कहानी : फूल गोभी से डेढ़ लाख की आमदनी हुई


vidisha news
विदिशा जिले में कृषको का रूझान उद्यानिकी फसलो की ओर बढ़ रहा है अनेक किसान बंधुओं ने उद्यानिकी योजनाओं से लाभ लेने के उपरांत अपनी आमदनी में कई गुना वृद्वि की है। अनेक कृषकों का कहना है कि उद्यानिकी फसलों से हमें रोज पैसो की आवक हो रही है। नटेरन तहसील में ग्राम रावन के कृषक नीरज लोधी भी उद्यानिकी फसलों से एक ही सीजन में लखपति हुए हैं। कृषक नीरज लोधी ने बताया कि उद्यानिकी अधिकारियों के द्वारा दिए गए मार्गदर्शन में ओर विभागीय योजनाओे से लाभ दिलाने के फलस्वरूप एक सीजन में अब तक डेढ लाख रूपए की आमदनी फूल गोभी को बेचकर हुई है। अभी भी खेत में फूल गोभी लगा हुआ है जो रोज बिक्री हेतु निकाल रहे है। कृषक ने बताया कि परम्परागत फसलो से हमें रोज आमदनी नही होती थी एक बीघा में जितनी आमदनी उद्यानिकी फसलों से हुई है उतनी हमे गेंहू चना, सोयाबीन से नही हो पाती थी। डेढ किलो बीज और सिंचाई एवं अन्य खर्चो के उपरांत अब तक डेढ लाख का मुनाफा हुआ है वही गांव के अन्य महिलाओंं को रोजगार भी मिला है। 

निधि कंपनीज के विरूद्व कार्यवाही के निर्देश


अपर कलेक्टर श्री वृदांवन सिंह ने एसडीएम विदिशा एवं शमशाबाद को पत्र प्रेषित कर निधि कंपनीज के विरूद्व कार्यवाही करने के निर्देश दिए है। भारत सरकार ने निधि कंपनीज मेच्यूअल बेनिफिट सोसायटी को कंपनी अधिनियम 2013 की धाराओं के तहत डिक्लेयर नही किया गया हैं और उक्त निधि कंपनीज के द्वारा विदिशा एवं शमशाबाद अनुविभाग क्षेत्र में संचालन विधिवत नियमानुसार नही करने के फलस्वरूप संबंधितों के खिलाफ नियमानुसार कार्यवाही कर जिला कार्यालय की संस्थागत वित्त शाखा को अवगत कराया। 


वाहनस्वामियों को बकाया कर के भुगतान में मिलेगी छूट योजना 31 मार्च 2021 तक रहेगी लागू


जिला परिवहन अधिकारी श्री गिरजेश वर्मा ने बताया कि मध्यप्रदेश शासन परिवहन विभाग की अधिसूचना द्वारा मध्यप्रदेश मोटरयान कराधान अधिनियम 1991 की धारा 21 की उपधारा (1) द्वारा प्रदत्त शक्तियों को प्रयोग करते हुए राज्य सरकार द्वारा मोटरयानकर तथा शास्ति के शोध्यों के भुगतान पर छूट दी गई है। यह योजना 31 मार्च 2021 तक ही लागू है। उन्होंने परिवहन कार्यालय में पंजीकृत ऐसे यात्री एवं भारवाही वाहनों के वाहनस्वामियों से अनुरोध है कि जिनकी वाहनों पर मोटरयानकर एवं शास्ति की राशि बकाया है, तथा वह उपरोक्त अधिसूचना अनुसार पात्र है, वह इस योजना का लाभ अधिक से अधिक संख्या में प्राप्त कर सकते है।

इन आयुसीमा के मोटरयानों पर मिलेगी छूट

पथभ्रष्ट यानों पर कर की छूट। ऐसे यान जो विनिर्माण की तारीख से 20 वर्ष पूर्ण कर चुके हो, परिवहन विभाग में अभी भी पंजीकृत हो तथा वह पंजीयन निरस्त करना चाहते हो। ऐसे यान जिन पर मोटरयानकर या शास्ति अथवा दोनों लंबित है तथा वाहनस्वामी स्वेच्छा से वाहन का पंजीयन निरस्त करना चाहता हो।  ऐसे यान पात्र होगे जिस पर अधिसूचना जारी होने की तारीख से विगत पांच वर्षों तक कोई अपराध के लिये प्रकरण दर्ज न हुआ हो तथा शेष शर्ते अधिसूचना अनुसार लागू होगी।

बकाया मोटरयानकर एवं शास्ति के एक मुश्त भुगतान पर निम्नानुसार छूट प्राप्त होगी

अधिसूचना की तारीख से 05 वर्ष पुरानी पंजीकृत वाहन पर 20 प्रतिशत।  अधिसूचना की तारीख से 05 वर्ष से अधिक किन्तु 10 वर्ष तक की पुरानी वाहन 40 प्रतिशत। अधिसूचना की तारीख से 10 वर्ष से अधिक किन्तु 15 वर्ष तक पुरानी वाहन पर 50 प्रतिशत। अधिसूचना की तारीख से 15 वर्ष से अधिक पुराने पंजीकृत वाहन  पर 70 प्रतिशत। 


विदिशा नगर में आर.टी.पी.सी.आर. द्वारा ही संदिग्ध कोविड संक्रमितो की जाॅच की जाये - विधायक भार्गव 


विदिशाः- म.प्र में सर्वाधिक संक्रमित कोविड शहरो में से एक होने से गहरी चिंता व्यक्त करते हुए विदिशा विधायक शशांक भार्गव ने प्रमुख सचिव स्वास्थ्य विभाग से पत्र के माध्यम से मांग की है कि विदिशा नगर में आर.टी.पी.सी.आर. द्वारा जाॅच कराने के लिए फीवर क्लीनिक में जाने के पश्चात जब तक परिणाम न आये परीक्षण कराने वालो को अस्पताल में भर्ती रहना पड़ता है, जिस की वजह से लोग टेस्ट कराने से दूर भागते है। विदिशा में बढते हुए संक्रमण को देखते  हुए शहर के प्रत्येक  घर में स्वास्थ्य विभाग की टीम को जा कर आर.टी.पी.सी.आर. टेस्ट किया जाना आवश्यक है। माननीय प्रधान मंत्री जी एवं माननीय मुख्यमंत्री जी द्वारा देश एवं प्रदेश में यह प्रचारित किया जा रहा है, कि आर.टी.पी.सी.आर. टेस्ट में सरकार की और से कोई लापरवाही नही की जावेगी अगर कोई कर्मचारी अधिकारी लापरवाही करता है तो कड़ी कार्यवाही की जायेगी। लेकिन विदिशा शहर मे बढते हुए संक्रमण को देखते हुए भी सरकार द्वारा आर.टी.पी.सी.आर. टेस्ट को सीमित का दिया गया है। जिस की वजह से आने वाले दिनों में शहर में और भया वह स्थिति पैदा हो सकती है। शहर में ।छज्प्ळम्छ ज्म्ैज् के माध्यम से टेस्ट कराया जा रहा है। प्ब्डत् की गाइड लाइन अनुसार इस टेस्ट के छम्ळ।ज्प्टम् आने पर त्ज्.च्ब्त् टेस्ट से उस की रिर्पोट सत्यापित की जावे। लेकिन विडम्बना यह है की एन्टीजन टेस्ट का रिकार्ड ही नही रखा जाता है और छम्ळ।ज्प्टम् आने पर त्ज्.च्ब्त् द्वारा पूनः टेस्ट के लिए नही बुुलाया जाता। अगर त्ज्.च्ब्त् के द्वारा परीक्षण ज्यादा संख्या में संभव नही है तो ज्त्न्म्छ।ज् प्रणाली से परीक्षण कराया जावे क्यों की मेरी जानकारी मे विदिशा मे उपलब्ध संसाधनों से विदिशा में 500 व्यक्तियों के ही टेस्ट त्ज्.च्ब्त्  से एक दिने में किये जा सकते है। उपरोक्त तथ्यो को बताते हुए विधायक भार्गव ने मांग की, कि विदिशा में फैले कोरोना वायरस संक्रमण से जनता को बचाने के लिए शहर को अलग-अलग भागों में बांट कर स्वास्थ विभाग की टीमों द्वारा परिक्षण कर 24 घन्टे में संबंधित व्यक्तियों को टेस्ट रिर्पोंट उपलब्ध कराने की व्यवस्था के निर्देश जारी हो। प्रमुख सचिव स्वास्थ्य विभाग को पत्र में उन्होने कहा की जैसा सभी को विदित है की कोरोना वायरस मरीज के गले व फैफडो को सब से ज्यादा नुकसान पहुंचाता है जिस की जांच के लिए मेडीकल कालेज  व जिला चिकित्सालय में ग्.त्।ल् कर जानकारी चिकित्सको द्वारा ली जाती है चिकित्सक यह भी जानते है कि बगैर ब्ज् स्केन के जानकारी प्राप्त नही होती गंभीर रोगीयों ब्ज् स्केन कराने के पश्चात ही प्ब्न् में भर्ती कराया जाना चाहिए जिससे रोगी गंभीरता के अनुसार रीगी का इलाज किया जा सके यह भी देखने में आया है कि किसी रोगी को शुगर, ब्लड प्रेशर व हार्ट जैसी अन्य बीमारियों हो तो उन बीमारियों का विशेष इलाज न करते हुए मात्र कोरेाना वायरस का इलाज किया जाता है जिस की वजह से रोगी पूर्व ग्रासित बीमारियों को बढने की वजह से मृत्यु को प्राप्त हो जाता है।  विधायक शशांक भार्गव ने मेडीकल काॅलेज विदिशा में तुरंत ब्ज् स्केन उपलब्ध कराकर चालू करने के निर्देश जारी कराने की मांग की ।

कोई टिप्पणी नहीं: