मधुबनी : सत्ता के नशे में है केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार : प्रो शीतलाम्बर झा - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 2 दिसंबर 2020

मधुबनी : सत्ता के नशे में है केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार : प्रो शीतलाम्बर झा

  • क़ृषि विरोधी काला कानूनों पर फिर से विचार नही करना चाहती सरकार

anti-farmer-modi-government
मधुबनी (आर्यावर्त संवाददाता) आज जिला कांग्रेस कमिटी,मधुबनी ने किसान विरोधी   नरेंद्र मोदी सरकार के काला कानून के खिलाफ पार्टी कार्यालय से प्रतिरोध मार्च समाहरणालय तक निकालकर गेट को जामकर जमकर नारेबाजी की। कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए जिला अध्यक्ष प्रो शीतलाम्बर झा ने कहा कि किसान विरोधी तीनो काला कानून सरकार अविलम्भ वापस ले,आज देश के लाखों लाख किसान देश की राजधानी दिल्ली बॉडर को जामकर इस सर्द भरी रात में भी संघर्ष कर रही है। वहीं सरकार देश के 62 करोड़ किसानों और खेतिहर श्रमिकों के मुद्दों पर प्रधानमंत्री की जिद, अहंकार, और अड़ियल रवैया अपने हुए है जो निराशाजनक है।आज देश के किसान लगातार आत्म हत्या कर रही है ,वहीं सरकार किसानों को लागत का दोगुना समर्थन मूल्य देना नही चाहती है।किसानों का कृषि ऋण माफ नही करना चाहती। किसानों की बहुमूल्य जमीन औने पौने दाम में लेकर अपने पूंजीपति मित्रों को दोगुना मुनाफा देना चाहती है। इस काला कानून में किसानों को न्यायालय तक जाने से रोका जा रहा है। आज आंदोलित किसानों पर लाठीचार्ज, वाटर कैनन एवम आंश्रु गैस का गोला का प्रयोग किया जा रहा है जिससे किसान मरे भी है और घायल भी हुए है ,कृषि प्रधान देश मे यह निन्दनीय है। भारतीय कम्युनिस्ट के आह्वान पर सभी महागठबंधन दल के राजद ,माले सहित काफी संख्या में कांग्रेस के कार्यकताओं ने भाग लिया। कार्यक्रम में मनोज मिश्रा,बिपिन कुमार झा,जय कुमार झा,मो अकील अंजुम,प्रो योगेंद्र मिश्र,माया नंद झा,ऋषिदेव सिंह,आभा पांडेय,उर्मिला देवी,मो साबिर, अनिल चन्द्र झा, प्रफुल्ल चन्द्र झा,प्रो इसतिहायक अहमद, कन्हैया झा,आलोक झा,मुकेश कुमार,पप्पू, मो तौफीक अहमद, अशोक कुमार,पंकज कुमार झा,सुजीत यादव,बिनय झा,धनेश्वर ठाकुर, राजीव शेखर,आदर्श कुमार झा, मो अनिसुर रहमान, सुनील कुमार झा,आदि

कोई टिप्पणी नहीं: