बिहार को मिला डिजिटल इंडिया अवार्ड - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 30 दिसंबर 2020

बिहार को मिला डिजिटल इंडिया अवार्ड

bihar-gets-digital-india-award-for-timely-relief-in-corona-period
नयी दिल्ली 30 दिसंबर, कोरोना काल में बिहार के लोगों को ससमय राहत पहुंचाने के लिए राज्य को इस वर्ष के डिजिटल इंडिया पुरस्कार से आज सम्मानित किया गया। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने बुधवार को यहां बिहार को डिजिटल इंडिया अवार्ड 2020 से सम्मानित किया। केंद्रीय संचार एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री रविशंकर प्रसाद की उपस्थिति में बिहार के मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव चंचल कुमार, आपदा प्रबंधन विभाग के प्रधान सचिव प्रत्यय अमृत, आपदा प्रबंधन विभाग के अपर सचिव रामचंद्र डू और राष्ट्रीय सूचना केंद्र (एनआईसी) के अधिकारी शैलेश कुमार श्रीवास्तव एवं नीरज कुमार तिवारी ने बिहार सरकार की ओर से यह सम्मान ग्रहण किया। लॉकडाउन के दौरान राज्य के लोगों को विभिन्न प्रकार की सहायता उपलब्ध कराने के लिए बिहार की अभिनव पहल को केंद्र सरकार ने सराहा है। कोरोन काल में मुख्यमंत्री सचिवालय, आपदा प्रबंधन विभाग एवं एनआईसी को उनके बेहतरीन कार्यों के लिए ‘महामारी में नवाचार’ श्रेणी में विजेता चुना गया है। बिहार सरकार के ‘आपदा संपूर्ति पोर्टल’ को महामारी में अनुकरणीय पहल, नागरिकों की सुविधा के लिए लिए एक उत्कृष्ट, अभिनव डिजिटल समाधान विकसित करने एवं मुश्किल परिस्थितियों में भी लोक सेवाओं को जारी रखने के लिए रजत पुरस्कार से सम्मानित किया गया है। इस पोर्टल को एनआईसी की तकनीकी देखरेख में विकसित किया गया है। उल्लेखनीय है कि इस वर्ष मार्च में कोरोना महामारी को देखते हुए लॉकडाउन की घोषणा की गयी थी। इस दौरान बिहार के लोग काफी संख्या में बाहर के राज्यों में फंसे हुए थे। ऐसे लोगों को राहत पहुंचाने के लिए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने तत्काल पहल करते हुए अधिकारियों को निर्देश दिए थे। मुख्यमंत्री के निर्देश के आलोक में बाहर फंसे लोगों से बात कर उनका फीडबैक लिया गया तथा ससमय राहत पहुंचाने के लिए अभिनव पहल की गयी। मुख्यमंत्री के निर्देश पर लॉकडाउन के दौरान बाहर फंसे राज्य के लोगों को ससमय राहत पहुंचायी गयी।

कोई टिप्पणी नहीं: