बिहार : महज ढाई कट्ठा जमीन को लेकर पांच साल का बच्चा की कर दी हत्या - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

मंगलवार, 15 दिसंबर 2020

बिहार : महज ढाई कट्ठा जमीन को लेकर पांच साल का बच्चा की कर दी हत्या

  • आज जलालपुर गांव के 6 साल का बच्चा दिलखुश का अपहरण व हत्या के दोषियों के गिफ्तारी के सवाल पर हिलसा के S.D.O  के सामने धरना दिया गया. पटना से शशि यादव धरना देने गयी थीं...

नालंदा. जिले के करायपशुराय थाना क्षेत्र के जलालपुर गांव में बदमाशों ने एक किशोर का अपहरण करने के बाद उसकी हत्या कर दी. घटना की जानकारी मिलते ही पुलिस घटनास्थल पर पहुंची की आक्रोशित ग्रामीणों ने स्थानीय थानाध्यक्ष और पुलिसकर्मियों पर हत्या करवाने की आरोप लगाकर दो पुलिसकर्मियों का राइफल छीन लिया और फरार हो गए.बिहार में भीड़ ने एक बार फिर से कानून अपने हाथ में लिया है. मामला मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar) के गृह जिले नालंदा से जुड़ा है जहां लोगों ने बवाल के दौरान पुलिस की रायफल (Police Rifle) तक छीन ली.  घटना के बारे में बताया जाता है कि करायपशुराय थाना क्षेत्र के जलालपुर निवासी शिशुपाल विश्वकर्मा के छह वर्षीय पुत्र दिलखुश का ज़मीनी विवाद में अपहरण करने के बाद उसकी हत्या कर दी गई. अपराधियों ने एक मासूम का पहले अपहरण किया फिर चाकू गोदकर उसकी हत्या कर दी। बचने के लिए अपराधियों ने मासूम के शव को खेत में फेंक दिया। घटना करायपरसुराय के जलालपुर गांव की है, जहां मंगलवार सुबह खेत में एक छह वर्षीय बालक की लाश मिलने से सनसनी फैल गई. मृतक के पिता शिशुपाल विश्वकर्मा ने बताया कि महज ढाई कट्ठा जमीन को लेकर मेरे बेटे की हत्या कर दी गई है.हत्या की इस घटना के बाद गांव में माहौल तनावपूर्ण बना हुआ है. घटना की जानकारी मिलते हैं कई थाना की पुलिस समेत हिलसा डीएसपी और पुलिस अधिकारी घटनास्थल के लिए रवाना हो गए हैं.  हालांकि फिलहाल इस मामले में पीड़ित पक्ष ने किसी का नाम नहीं लिया है. ग्रामीणों को जैसे ही बालक का शव बरामद होने की सूचना मिली की लोगों में आक्रोश फैल गया और जमकर हंगामा मचाना शुरू कर दिया. इसी दौरान कुछ बदमाशों द्वारा एक पुलिसकर्मी की राइफल भी छीन लिया, हांलाकि बाद में ग्रामीणों ने दोनों राइफल तो लौटा दिया है लेकिन कारतूस नहीं लौटने की बात सामने आयी है.इस घटना के बाद डीएसपी कृष्ण मुरारी ने कहा कि मामले में परिजनों द्वारा स्थानीय थाना में कांड दर्ज कराया गया था. घटना के बाद आक्रोशित ग्रामीणों ने पुुलिस को निशाना बनाया था लेकिन ग्रामीणों द्वारा छीने गए दोनों हथियार को वापस लौटा दिया गया है लेकिन हथियार का कारतूस नहीं मिला है जिसके लिए लगातार छापेमारी की जा रही है.


शव को देखते ही मृतक के परिजनों का गुस्सा फूट पड़ा.सभी हंगामा करने लगे। लोगों को शांत करवाने जब पुलिस वहां पहुंची तो ग्रामीण भड़क गए. ग्रामीणों ने दो पुलिसकर्मियों से उनकी बंदूकें छीन ली.मामला बिगड़ता देख हिलासा डीएसपी दलबल के साथ मौके पर पहुंचे.उन्होंने ग्रामीणों को जल्द से जल्द दोषियों की गिरफ्तारी का आश्वासन दिया.डीएसपी के समझाने के बाद ग्रामीणों ने बंदूकें वापस लौटा दी.लेकिन 4 कारतूस अब भी नहीं मिले.जिसकी तलाश पुलिस कर रही है. शिशुपाल (मृतक के पिता ) का दीना ठाकुर से ढाई कट्ठा जमीन को विवाद चल रहा था.बीते कुछ दिनों से रोजाना दोनों पक्षों में झगड़ा होते रहता था. इसी बीच सोमवार की सुबह शिशुपाल के बेटे दिलखुश कुमार (6 वर्ष) अपहरण कर लिया गया.काफी तलाशने के बाद भी जब दिलखुश का पता नहीं चला तो दोपहर बाद उसके परिजन थाना गए. छह लोगों के खिलाफ नामजद प्राथमिकी दर्ज करवाने लिए आवेदन भी दिया.लेकिन पुलिस ने डांट-फटकार कर वापस लौटा दिया.परिजनों का आरोप है कि पुलिस ने इस मामले में लापरवाही बरती है. अगर उनके बच्चे की खोजबीन पुलिस करती तो आज शायद दिलखुश की जान बच सकती थी. जिले के कराय परशुराय थाना क्षेत्र के मेढमा जलालपुर गांव में सोमवार की देर रात में बदमाशों ने बालक की निर्मम हत्या कर दी. इसके साथ ही हत्या कर शव को खाई में फेंक दिया. वहीं बालक का शव मिलते ही गांव में कोहराम मच गया.  जिले के जलालपुर गांव में सोमवार को शिशुपाल मिस्त्री के 6 वर्षीय पुत्र दिलखुश कुमार का अपहरण कर लिया गया था. वहीं देर रात लोहे के नुकीले यंत्र से प्रहार कर बालक की हत्या कर दी गई. वहीं हत्या करने के बाद बदमाशों ने शव को गांव के पूर्वी खंधे के खाई में फेंक दिया. मंगलवार की सुबह दिलखुश कुमार की शव पर नजर पड़ते ही गांव में अफरा-तफरी मच गया. वहीं हत्या से आक्रोशित लोगों ने पुलिस के विरुद्ध नारा लगाना शुरू कर दिया. इस हत्या से आक्रोशित लोगों ने पुलिस को निशाना बनाया. उपद्रवियों ने सैप के जवान से दो राइफल और कई जिंदा कारतूस लूट लिया. इस घटना में कई पुलिस पदाधिकारी और पुलिसकर्मी भी चोटिल हुए.  इस मामले में दीनानाथ ठाकुर समेत 6 लोगों को नामजद अभियुक्त बनाया गया है. पुलिस मामले की जांच करने में जुटी हुई है. नामजद अभियुक्तों को गिरफ्तार करने के लिए छापेमारी अभियान चलाया जा रहा है. फिलहाल पुलिस ने शव को अपने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल बिहारशरीफ भेज दिया है.

कोई टिप्पणी नहीं: