दतिया : ग्राम झड़िया व सिंधवारी में विशेष महिला ग्रामसभा हुई सम्पन्न - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 24 दिसंबर 2020

दतिया : ग्राम झड़िया व सिंधवारी में विशेष महिला ग्रामसभा हुई सम्पन्न

  • बेटियों व महिलाओं के संरक्षण हेतु मिलकर प्रयास करें- रामदेवी सरपंच
  • बेटियों को शिक्षित बनाकर अपना दायित्व निर्वहन करें- कौशिल्या पाल
  • समुदाय को बेटियों व महिलाओं पर होने वाली हिंसा की आवाज उठाने की सामूहिक शपथ दिलाई

datia-news
दतिया। राष्ट्रीय अभियान के अनुसार बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजनांतर्गत संचालित जागरूकता अभियान के तहत महिला एवं बाल विकास विभाग के सहयोग व निर्देशन में संचालित कार्यक्रमों की श्रृंखला में ग्राम  में *बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ विशेष ग्राम सभा* का आयोजन किया गया। आयोजित विशेष ग्राम सभा सिंधवारी में मुख्य अतिथि श्रीमती रामदेवी सरपंच ग्राम पंचायत सिंधवारी ने बेटियों व महिलाओं के संरक्षण हेतु मिलकर प्रयास करने की बात कही, उन्होंने कहा कि अपने आसपास पीड़ित महिला को सहयोग कर उसे न्याय दिलाने का काम किया जावे। उपस्थित ग्राम रोजगार सहायक रानू ने पंचायत की विभिन्न योजनाओं की जानकारी दी।  कार्यक्रम में सायरा बानो आंगनवाड़ी कार्यकर्ता ने बेटियों के महत्व को परिभाषित करते हुए गिरते हुए लिंगानुपात के दुष्परिणामों के बारे में जानकारी दी गई। ग्राम सभा में उपस्थित अतिथियों का स्वागत श्रीमती आरती देवी ने करते हुए क्षेत्र में महिलाओं पर होने वाली हिंसा के प्रतिरूपों को बताता।  झड़िया में कौशिल्या पाल ने विभागीय योजनाओं लाड़ली लक्ष्मी योजना, मंगल दिवस  आदि की जानकारी देते हुए बेटियों को शिक्षित बनाकर अपना दायित्व निर्वहन करने की अपील की।   तदोपरान्त स्वदेश संस्था के संचालक व  पीएलव्ही रामजीशरण राय ने समता मूलक समाज मे बेटियों के महत्व को बताते हुए पीसीपीएनडीटी अधिनियम-1994 व एमटीपी एक्ट के कानूनी प्रावधानों के बारे में बताया गया जिसमें कानूनी प्रावधानों के तहत जांच करने वाले चिकित्सक, सम्मिलित परिजन व प्रेरक के साथ ही लिंग चयन कराने में सम्मिलित सभी पर कानूनी कार्यवाही, सजा के बारे में बताया गया आशा कार्यकर्ता श्रीमती सुमन पाल ने बच्चों व महिलाओं को टीकाकरण के बारे में जानकारी दी गई। अभियान दल सदस्य सरल तलरेजा व आयुष राय ने बालिका शिक्षा के महत्व स्पष्ट करते हुए बताया कि शिक्षित बेटी भावी पीढियों को शिक्षित करने में महती भूमिका निभाती है। अभियान सहयोगी बलवीर पाँचाल ने अभियान के उद्देश्य व कार्ययोजना के बारे में जानकारी दी। अभय दाँगी ने बाल विवाह प्रतिषेध अधिनियम के प्रावधानों की जानकारी दी गई। महिला बाल विकास विभाग के हेमन्त नामदेव, राजीव चौबे, यशदीप राजपूत ने विभागीय योजनाओं की जानकारी दी। पीयूष राय ने लाडो अभियान व पॉक्सो एक्ट की जानकारी दी। वहीं सुबोध शर्मा ने शौर्यादल, लाडली लक्ष्मी व गांव की बेटी योजना के बारे में व्यापक जानकारी दी। साथ ही महिला सभा में उपस्थित महिलाओं व किशोरी बालिकाओं व पुरुषों ने अपने-अपने विचार व्यक्त करते कुछ प्रश्नों को आयोजक समूह के समक्ष रखे गए। जिनका सहज व सरल ढंग से अतिथि व स्रोत व्यक्तियों ने समाधान किया गया। कार्यक्रम में अतिथियों ने उपस्थित सभी जन सामान्य की महिलाओं व बच्चों और होने वाली हिंसा को रोकने हेतु सामूहिक शपथ दिलाई। कार्यक्रम में जनप्रतिनिधियों के साथ ही समाज के पुरुषों, महिलाओं और बच्चों ने भागीदारी की। कार्यक्रम में राजीव श्रीवास्तव, उदय दाँगी, रचना पाल, भावना कुशवाहा, मुस्कान, करीना, राखी, कल्पना, अनीता, सविता, वंदना, रामकुमारी, राजपति, सुमन, दिव्या आदि  अभय दाँगी, उदय दाँगी आदि सहयोगी दल में सम्मिलित रहे। आभार व्यक्त अंकित कटारे ने किया। उक्त जानकारी अभियान प्रभारी बलवीर पाँचाल ने दी।

कोई टिप्पणी नहीं: