विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 24 दिसंबर - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 24 दिसंबर 2020

विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 24 दिसंबर

वन अधिकार पट्टों के लिये परेशान हो रहे हितग्राहियों को तत्काल पट्टे दिये जाये- विधायक भार्गव


vidisha news
विदिशाः- विदिशा विधायक शशांक भार्गव ने कलेक्टर विदिशा एवं वन मण्डल अधिकारी विदिशा को पत्र लिखकर मांग की है कि वर्ष 2009 में मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह जी चैहान एवं तत्कालीन कलेक्टर महोदय द्वारा वनभूमि पर वर्षाे से काबिज हितग्राहियों को वन अधिकार पत्र (पटटे) दिये जाने की सूचना अपने अपने लिखित पत्रों के माध्यम से दी गई थी, लेकिन अत्यंत ही आश्चर्य एवं असंतोष का विषय है कि 11 वर्ष व्यतीत होने पर भी मुख्यमंत्री एवं कलेक्टर की घोषणा एवं निर्देशों का पालन विभाग द्वारा नहीं किया गया है। पटटे दिया जाना तो दूर की बात वन विभाग के अधिकारी कर्मचारी भूमि पर काबिज हितग्राहियों को आये दिन परेशान कर रहे है, ऐसे परेशान हितग्राही मुख्यमंत्री एवं कलेक्टर का सूचना पत्र लिये कार्यालयों के चक्कर लगा रहे है। इतने लम्बा समय व्यतीत होने पर भी शासन एवं विभाग स्तर से कोई कार्यवाही न की जाना पत्रों की सत्यता पर भी प्रश्नचिन्ह अंकित करते है। ग्राम करेला तहसील व जिला विदिशा की श्रीमति रामश्रीबाई पत्नि श्री मूलचंद जो कि विगत कई वर्षांें से वन अधिकार पत्र के लिये आवेदन विभाग को दे रही है, लेकिन सूचना पत्र मिलने के बाद भी उनको अभी तक वन अधिकार पत्र नहीं दिया गया। ऐसे जिले में सैकडो हितग्राही है जो विभाग की लापरवाही का शिकार हो रहे है, उन्होंने तत्काल ही वनभूमि पर काबिज पात्र हितग्राहियों को नियमानुसार यथाशीघ्र मुख्यमंत्री जी की घोषणा के पालन में वन अधिकार पत्र दिये जाने की मांग की है, जिससे कि हितग्राही वनकर्मियों के प्रताडना का शिकार न हो एवं वनभूमि पर कृषि कार्य करते हुये अपने अपने परिवार का भरण पोषण करने के लिये सक्षम हो सकें। 

कोई टिप्पणी नहीं: