किसानों के समर्थन में आठ दिसंबर को हरियाणा के सभी 3468 पेट्रोल पंप बंद रहेंगे - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 6 दिसंबर 2020

किसानों के समर्थन में आठ दिसंबर को हरियाणा के सभी 3468 पेट्रोल पंप बंद रहेंगे

hariyana-petrol-pump-close-in-farmer-suport
पानीपत, 06 दिसंबर, हरियाणा के पानीपत में रविवार को हरियाणा पेट्रोलियम डीलर वेलफेयर एसोसिएशन की प्रदेश स्तरीय कोर ग्रुप की बैठक में डीलरों (पेट्रोल पंप संचालकों) ने किसान संगठनों द्वारा आठ दिसंबर को घोषित भारत बंद का समर्थन करने की घोषणा करते हुए अपने सभी पेट्रोल पंप बंद रखने का फैसला लिया है एसोसिएशन के चेयरमैन संजीव चौधरी ने आज  आयोजित प्रेस वार्ता में कहा कि भारत कृषि प्रधान देश है और तीन कृषि कानूनों के विरोध में देश का किसान आंदोलनरत हैं। इससे यह साबित होता है कि कृषि कानून किसान हितैषी नहीं बल्कि विरोधी है। उन्होंने कहा कि पेट्रोलियम डीलरों का जहां 40 प्रतिशत कारोबार किसानों के माध्यम से चलता है। वहीं देश का हर उद्योग कृषि आधारित है। उन्होंने कहा कि खेती देश की अर्थव्यवस्था की रीढ़ है। इसके मद्देनजर हरियाणा पेट्रोलियम डीलर वेलफेयर एसोसिएशन  तन मन धन से आंदोलनरत किसानों का समर्थन करती है। उन्होंने कहा कि आंदोलनरत किसान दिल्ली के चारों ओर बैठा हुआ है। वहीं हर औद्योगिक कार्य दिल्ली के माध्यम से होता है। सडकें जाम होने के कारण उद्योग धंधे प्रभावित हो रहे है। उन्होंने कहा कि केन्द्र सरकार को किसानों के आंदोलन को लंबा नहीं खींचना चाहिए, जल्द से जल्द किसान हित में सशक्त फैसला लेना चाहिए। उन्होंने कृषि कानूनों को काला करार देते हुए कहा सोचने की बात यह है कि हर समय खेत में कामकाज में व्यस्त रहने वाला किसान नए कृषि कानूनों का विरोध क्यों कर रहा है। इसका मतलब है कि तीनों नए कानून किसान हितैषी नहीं है। उन्होंने कहा कि पेट्रोलियम डीलर जहां किसान आंदोलन का समर्थन करते है वहीं किसानों के साथ कंधे से कंधा मिला कर आठ दिसंबर को भारत बंद की घोषणा के मद्देनजर हरियाणा के सभी 3468 पेट्रोल पंप बंद रहेंगे। उन्होंने बताया कि सिंघु बार्डर, टीकरी बार्डर पर आंदोलन कर रहे किसानों की वहां के पेट्रोलियम डीलर हरसंभव मदद कर रहे है। जबकि उत्तर प्रदेश के पेट्रोलियम डीलर भी किसानों की मदद के लिए पीछे नहीं है। उन्होंने कहा कि हरियाणा के अधिकतर पेट्रोलियम डीलरों की पृष्ठभूमि किसान परिवारों से है। इसके चलते डीलर व्यक्तिगत रूप से भी आंदोलन से जुड़े हैं और आंदोलनरत किसानों का हरसंभव सहयोग करते हुए उनके ट्रैक्टरों को आवागमन के लिए निःशुल्क डीजल भी दे रहे हैं। रात को सोने के लिए अपने शेड उपलब्ध करा रहे हैं। यदि किसान भोजन आदि की डिमांड करते है वह भी पूरी की जा रही है। इस अवसर पर एसोसशन के पदाधिकारी चौ. रणबीर देशवाल, परमिंद्र खत्री, राजकुमार कटारिया, युद्धवीर सिंह, सोहन लाल बठला समेत अनेक पदाधिकारी उपस्थित रहे।

कोई टिप्पणी नहीं: