गुलाबी गेंद के टेस्ट में दम दिखाने उतरेगी टीम इंडिया - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 16 दिसंबर 2020

गुलाबी गेंद के टेस्ट में दम दिखाने उतरेगी टीम इंडिया

india-ready-to-take-austrelia-with-pink-ball
एडिलेड, 16 दिसंबर, ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ गुरुवार को गुलाबी गेंद से खेले जाने वाले पहले टेस्ट मैच में विराट कोहली के नेतृत्व वाली टीम इंडिया मेजबान ऑस्ट्रेलिया को परास्त कर अपना दम दिखाने के इरादे से उतरेगी। भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच चार टेस्ट मैचों की सीरीज का पहला मुकाबला गुरुवार से एडिलेड में खेला जाएगा। पहला मैच दिन-रात्रि है और इसे गुलाबी गेंद से खेला जाएगा। दोनों टीमों के बीच वनडे और टी-20 सीरीज खेली जा चुकी है। वनडे सीरीज को ऑस्ट्रेलिया ने 2-1 से जबकि टी-20 सीरीज भारत ने 2-1 से अपने नाम की थी। भारत और ऑस्ट्रेलिया की टीमें टेस्ट में अपना दम दिखाने उतरेंगी। ऑस्ट्रेलिया आठवीं बार गुलाबी गेंद से खेलने उतरेगी जबकि भारतीय टीम का गुलाबी गेंद से यह दूसरा मुकाबला है। भारतीय टीम ने इससे पहले पिछले साल बंगलादेश के खिलाफ गुलाबी गेंद से टेस्ट मुकाबला खेला था। हालांकि विदेशी जमीन पर टीम इंडिया का गुलाबी गेंद से यह पहला मुकाबला है।

भारत ने 2018-19 में आखिरी बार ऑस्ट्रेलिया का दौरा किया था और चार टेस्ट मैचों की सीरीज उसने 2-1 से अपने नाम की थी। पिछले ऑस्ट्रेलियाई दौरे में भारतीय टीम को एडिलेड में जीत हासिल हुई थी और उसने कंगारु टीम को 31 रन से मात दी थी। इसके बाद मेलबोर्न टेस्ट में 137 रन से शिकस्त दी थी। टीम इंडिया को हालांकि पर्थ टेस्ट में हार का सामना करना पड़ा था जबकि सिडनी में खेला गया चौथा टेस्ट ड्रॉ रहा था। टीम इंडिया इस रिकॉर्ड को बरकरार रख सीरीज की शुरुआत जीत से करना चाहेगी।भारतीय टीम ने ऑस्ट्रेलिया के घरेलू मैदान में 12 सीरीज खेली है और उसे आठ में हार मिली है जबकि 2018-19 में पहली बार भारत ने ऑस्ट्रेलिया को उसकी जमीन पर मात दी थी। दोनों टीमों के बीच तीन टेस्ट सीरीज ड्रॉ रही है। भारतीय टीम का मनोबल पिछले आंकड़ों को देखते हुए बढ़ेगा लेकिन पिछली बार ऑस्ट्रेलियाई टीम में सलामी बल्लेबाज डेविड वार्नर और स्टीवन स्मिथ शामिल नहीं थे जो इस बार कंगारु टीम में हैं और भारत के लिए मुसीबत खड़ी कर सकते हैं। वार्नर हालांकि चोट के कारण पहले टेस्ट मैच से बाहर हैं जो भारत के लिए राहत की बात है। वार्नर ने पहले दो वनडे में ताबड़तोड़ बल्लेबाजी की थी और टीम इंडिया के गेंदबाजों को खासा परेशान किया था। लेकिन इसके बाद वह चोटिल हो गए और अबतक टीम में शामिल नहीं हो सके हैं। स्मिथ मंगलवार को पीठ में सूजन के कारण अभ्यास सत्र बीच में छोड़कर चले गए थे लेकिन ऑस्ट्रेलिया के कप्तान टिम पेन ने बताया कि वह फिट हैं और उनके पहले टेस्ट में खेलने की पूरी उम्मीद है। वार्नर की अनुपस्थिति में स्मिथ की भूमिका काफी अहम होगी। पहले टेस्ट में टीम इंडिया की ओर से सलामी बल्लेबाज पृथ्वी शॉ और मयंक अग्रवाल पर टीम को मजबूत शुरुआत दिलाने जिम्मेदारी होगी। रोहित शर्मा पहले टेस्ट में नहीं खेल पाएंगे और उनकी अनुपस्थिति में इन बल्लेबाजों को अपना दम दिखाना होगा।

कोई टिप्पणी नहीं: