शिखर और पांड्या के तूफानी पारी से भारत ने श्रंखला जीती - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 6 दिसंबर 2020

शिखर और पांड्या के तूफानी पारी से भारत ने श्रंखला जीती

india-win-t20-series
सिडनी, 06 दिसम्बर, सलामी बल्लेबाज शिखर धवन (52) के शानदार अर्धशतक और हार्दिक पांड्या की नाबाद 42 रन की तूफानी पारी से भारत ने ऑस्ट्रेलिया को दूसरे टी-20 मुकाबले में रविवार को छह विकेट से हराकर तीन मैचों की सीरीज में 2-0 की अपराजेय बढ़त हासिल कर ली। ऑस्ट्रेलिया ने कप्तान मैथ्यू वेड के 58 और स्टीवन स्मिथ के 46 रनों की बदौलत 20 ओवर में पांच विकेट पर 194 रन का मजबूत स्कोर बनाया जबकि भारत ने 19.4 ओवर में चार विकेट पर 195 रन बनाकर मुकाबला जीत लिया। पांड्या ने भारत के लिए विजयी छक्का मारा।   भारत ने इस जीत से सिडनी में लगातार तीन वनडे में हार का क्रम तोड़ दिया। भारत ने इस दौरे में सिडनी में पहले दो वनडे गंवाए थे और 2018-19 के ऑस्ट्रेलिया दौरे में भी सिडनी में वनडे गंवाया था। लेकिन सिडनी में दूसरे टी-20 मुकाबले में लक्ष्य बड़ा होने के बावजूद जीत हासिल की। भारत की इस दौरे में यह लगातार तीसरी जीत है। भारत ने इससे पहले कैनबरा में तीसरा वनडे और पहला टी-20 मैच जीता था। मजबूत लक्ष्य का पीछा करते हुए भारत ने 56 रन की शानदार और तेज शुरुआत की। लोकेश राहुल और शिखर धवन ने पॉवरप्ले में काफी तेज बल्लेबाजी की। राहुल ने 22 गेंदों पर 30 रन में दो चौके और एक छक्का लगाया। राहुल को एंड्र्यू टाई ने आउट किया। शिखर ने फिर कप्तान विराट कोहली के साथ दूसरे विकेट के लिए 39 रन जोड़े। शिखर अपना अर्धशतक पूरा करने के बाद एडम जम्पा की गेंद पर आउट हुए। शिखर ने 36 गेंदों पर 52 रन में चार चौके और दो छक्के लगाए। संजू सैमसन ने 10 गेंदों पर 15 रन में एक चौका और एक छक्का लगाया

          

विराट चौथे बल्लेबाज के रूप में 149 के स्कोर पर आउट हुए। सैमसन को मिशेल स्वेप्सन ने और विराट को डेनियल सैम्स ने आउट किया। हार्दिक पांड्या ने इसके बाद मोर्चा संभाला और ऑस्ट्रेलिया पर काउंटर अटैक किया। भारत को आखिरी ओवर में जीत के लिए 14 रन चाहिए थे और पांड्या ने चार गेंदों में ही मामला निपटा दिया। पांड्या ने दूसरी और चौथी गेंद पर छक्का मारकर मैच समाप्त कर दिया। पांड्या ने मात्र 22 गेंदों पर नाबाद 42 रन में तीन चौके और दो छक्के लगाए। पांड्या को प्लेयर ऑफ द मैच का पुरस्कार मिला। श्रेयस अय्यर पांच गेंदों में एक चौके और एक छक्के की मदद से 12 रन बनाकर नाबाद रहे। ऑस्ट्रेलिया की तरफ से डेनियल सैम्स, एंड्र्यू टाई, मिशेल स्वेप्सन और एडम जम्पा ने एक-एक विकेट लिया। इससे पहले भारतीय कप्तान विराट कोहली ने टॉस जीतकर पहले क्षेत्ररक्षण करने का फैसला किया। आरोन फिंच को विश्राम दिए जाने के कारण इस मैच में कप्तानी संभल रहे विकेटकीपर वेड ने 32 गेंदों पर 58 रन में 10 चौके और एक छक्का लगाया। स्मिथ ने 38 गेंदों पर 46 रन में तीन चौके और दो छक्के लगाए। ग्लेन मैक्सवेल ने 13 गेंदों में दो छक्कों की मदद से 22 रन, मोएसिस हेनरिक्स ने 18 गेंदों में एक छक्के के सहारे 26 रन और मार्कस स्टोइनिस ने सात गेंदों में एक छक्के की मदद से नाबाद 16 रनों का योगदान दिया। भारत की तरफ से बाएं हाथ के तेज गेंदबाज टी नटराजन ने चार ओवर में मात्र 20 रन देकर दो विकेट हासिल किये। ऑस्ट्रेलिया को वेड ने अच्छी शुरुआत दिलाई और शानदार बल्लेबाजी करते हुए 32 गेंदों में 10 चौकों और एक छक्के के सहारे 58 रन बनाए। वेड ने सलामी बल्लेबाज डी आरसी शॉर्ट के साथ मिलकर पहले विकेट के लिए 47 रन की साझेदारी की। हालांकि नटराजन ने श्रेयस अय्यर के हाथों कैच कराकर आरसी की पारी खत्म की। आरसी ने नौ गेंदों में एक चौके की मदद से नौ रन बनाए।

        

पहला झटका लगने के बाद स्मिथ ने वेड के साथ मिलकर पारी को आगे बढ़ाने की कोशिश की लेकिन वह रन आउट हो गए। वेड ने वाशिंगटन सुंदर की गेंद पर भारतीय कप्तान विराट की तरफ आसान कैच उछाल दिया लेकिन विराट दो प्रयासों में भी कैच को लपक नहीं पाए। तब तक वेड सिंगल लेने के चक्कर में क्रीज से बाहर निकल आये। विराट ने गेंद को संभालकर विकेटकीपर लोकेश राहुल को थ्रो किया और राहुल ने वेड को रन आउट कर दिया। इसके बाद क्रीज पर ऑलराउंडर ग्लेन मैक्सवेल उतरे और उन्होंने ताबड़तोड़ बल्लेबाजी की। शार्दुल ठाकुर ने वाशिंगटन सुंदर के हाथों कैच कराकर मैक्सवेल की पारी का अंत किया। मैक्सवेल ने  ने 13 गेंदों में दो छक्कों की मदद से 22 रन बनाए। स्मिथ हालांकि अपनी पारी को आगे बढ़ाते रहे लेकिन अर्धशतक पूरा करने से पहले ही लेग स्पिनर युजवेंद्र चहल ने हार्दिक पांड्या के हाथों कैच कराकर उन्हें पवेलियन भेज दिया। स्मिथ ने 38 गेंदों में 46 रन की अपनी पारी में तीन चौके और दो छक्के लगाए। ऑस्ट्रेलिया की पारी में मोएसिस हेनरिक्स ने 18 गेंदों में एक छक्के की मदद से 26 रन बनाए जबकि मार्कस स्टोयनिस सात गेंदों में एक छक्के के सहारे 16 और डेनियल सैम्स तीन गेंदों में एक चौके की मदद से आठ रन बनाकर नाबाद रहे। भारत की तरफ से नटराजन ने चार ओवर में 20 रन देकर दो विकेट, शार्दुल ने चार ओवर में 39 रन देकर एक विकेट और चहल ने चार ओवर में 51 रन लुटाकर एक विकेट लिया जबकि दीपक चाहर चार ओवर में 48 रन तथा वाशिंगटन चार ओवर में 35 रन देकर खाली हाथ रहे।

कोई टिप्पणी नहीं: