बिहार : राजद-कांग्रेस को फायदा पहुंचाने के लिए लोजपा अलग लड़ी चुनाव - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शुक्रवार, 4 दिसंबर 2020

बिहार : राजद-कांग्रेस को फायदा पहुंचाने के लिए लोजपा अलग लड़ी चुनाव

ljp-fight-election-for-rjd-congress-benefit
पटना : 17 वीं बिहार विधानसभा चुनाव में एनडीए से गठबंधन तोड़ अकेले चुनाव लड़ी रहीं पार्टी लोजपा अधिक सीटों पर मैदान नहीं मार सकी परंतु अपने मकसद में सफल रही। हालांकि वहीं चुनाव में बुरी स्थिति को लेकर चिराग के बंगले में ही आग लग गई है। दरसअल विधान सभा चुनाव के दौरान में नीतीश कुमार को जेल भेजने और बीजेपी के साथ मिलकर सरकार बनाने का दावा करने वाले चिराग पासवान की पार्टी लोजपा के नेता राष्ट्रीय अध्यक्ष चिराग पासवान से इस्तीफे की मांग कर रहे हैं। सूत्रों से मिल रही जानकारी के अनुसार पार्टी के कई नेताओं ने चिराग पासवान पर विस चुनाव में राजद-कांग्रेस को फायदा पहुंचाने का आरोप लगा कर सनसनी फैला दी है। लोजपा के एक महासचिव ने लोजपा सुप्रीमो चिराग पासवान से इस्तीफे की मांग की है। लोजपा के प्रदेश महासचिव केशव सिंह ने कहा है कि चिराग पासवान संस्थापक रामविलास पासवान के बताये रास्ते से भटक गए हैं। वे लोजपा को प्रइवेट लिमिटेड कंपनी की तरह चला रहे हैं। इसके आगे उन्होंने कहा कि वे अपने एक PA की सलाह पर काम कर रहे हैं जबकि सांसदों एवं अन्य नेताओं की कोई पूछ नहीं है। समर्पित कार्यकर्ता अपने आप को उपेक्षित महसूस कर रहे। केशव सिंह ने स्पष्ट तौर पर कहा कि चिराग पासवान इस बार के विधान सभा चुनाव में राजद-कांग्रेस को फायदा पहुंचाने के लिए अलग होकर लड़ने का फैसला लिया। इसके पीछे चिराग और उनके पीए का दिमाग था। पार्टी नेताओं से कोई राय नहीं गई थी।

कोई टिप्पणी नहीं: