पटना पहुंचे संघ प्रमुख मोहन भगवत, स्वदेशी तथा समसामयिक विषयों पर होगी चर्चा - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शुक्रवार, 4 दिसंबर 2020

पटना पहुंचे संघ प्रमुख मोहन भगवत, स्वदेशी तथा समसामयिक विषयों पर होगी चर्चा

mohan-bhagwat-reaches-patna
पटना : राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रमुख डॉ मोहनराव भागवत तीन दिवसीय बिहार प्रवास पर हैं। मोहन भागवत के साथ भैय्याजी जोशी भी बिहार प्रवास पर हैं। आज दोपहर संघ प्रमुख डॉ मोहनराव भागवत व भैय्याजी जोशी पटना पहुंचे। जहां, उनकी अगुआनी क्षेत्र संघचालक सिद्धनाथ सिंह, क्षेत्र प्रचारक रामदत्त चक्रधर, सह क्षेत्र प्रचारक रामनवमी जी, क्षेत्र कार्यवाह मोहन सिंह, प्रांत प्रचारक राणा प्रताप सिंह तथा दक्षिण बिहार प्रचार प्रमुख राजेश पांडेय ने की। भागवत के दौरे को लेकर कई तरह के कयास लगाए जा रहे हैं। लेकिन, तमाम प्रकार के कयासों पर विराम लगाते हुए दक्षिण बिहार के प्रचार प्रमुख राजेश पाण्डेय ने कहा कि अगामी वर्ष की कार्य योजना एवं वर्तमान में चल रहे कार्यों की समीक्षा के लिए इस बार कोरोना महामारी की परिस्थितियों को देखते हुए राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की अखिल भारतीय कार्यकारी मंडल की क्षेत्र स्तर की बैठक पटना में होगी। राजेश पांडेय ने कहा कि 5-6 दिसम्बर को होने वाली इस बैठक में संघ के सरसंघचालक डॉ मोहनराव भागवत, सरकार्यवाह भैय्या जी जोशी भी इसमें उपस्थिति रहेंगे। साथ ही इस बैठक में बिहार-झारखण्ड से संघ के 40 कार्यकर्ता भाग लेंगे। इस वर्ष यह बैठक उत्तरप्रदेश के प्रयागराज थी, लेकिन वैश्विक महामारी कोरोना के कारण इस बैठक को स्थगित करना पड़ा। बदलते परिवेश व शासकीय दिशा-निर्देशों के अनुपालन को ध्यान में रखते हुए यह निर्णय लिया गया है कि यह बैठक अखिल भारतीय स्तर पर न करके क्षेत्र अनुसार की जाए।


बैठक में सेवा कार्यों पर होगी समीक्षा

बैठक दो दिन चलेगी जिसमें कोरोना में स्वयंसेवकों द्वारा किए गए सेवा कार्यों की चर्चा व समीक्षा होगी। साथ ही कोरोना से प्रभावित जन जीवन, शिक्षा, स्वास्थ्य स्वावलंबन, स्वदेशी आदि गम्भीर व समसामयिक विषयों पर भी चर्चा होगी। बदलते परिवेश में संघ द्वारा 95 वर्षा से निरन्तर व्यक्ति निर्माण के कार्य, कार्यक्रम नित्य चलने वाली शाखाओं के स्वरूप पर भी चर्चा होने की संभावना है।

कोई टिप्पणी नहीं: