मधुबनी : कांग्रेस ने किसान बिल के विरोध में पीएम का पुतला फूंका - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 16 दिसंबर 2020

मधुबनी : कांग्रेस ने किसान बिल के विरोध में पीएम का पुतला फूंका


मधुबनी (आर्यावर्त संवाददाता) आज  16 दिसंबर को जिला कांग्रेस कमेटी मधुबनी के द्वारा किसान विरोधी मोदी सरकार के द्वारा कृषि विरोधी तीनो काला कानून के खिलाफ जिला कार्यलय से प्रतिरोध मार्च निकालकर शहर के थाना चौक पर देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का पुतला दहन किया गया सभा को सम्बोधित करते हुए जिलाध्यक्ष प्रो०शीतलाम्बर झा ने कहा कि देश के सैकड़ों किसान संगठनों के द्वारा इस कड़ाके के ठंड में पिछले 21 दिनों से देश की राजधानी दिल्ली सिमा पर धरना प्रदर्शन कर रहे हैं लेकिन तानाशाह मोदी सरकार अपने पूंजीपति मित्रों को लाभान्वित करने के लिए किसान विरोधी तीनो काला कानून वापस नहीं लेना चाहती हैं। आज देश के अन्य दाता किसान भाइयों एवं बहनों को प्रताड़ित कर रही हैं परिणामस्वरूप दर्जनों किसानों ने अपनी प्राण की आहुति दे दी।

(1)गोदी सरकार किसानों को लागत को दुगुना मुनाफ़ा देना नहीं चाहती ।

(2)msp को कानूनी दर्जा नहीं देना 

(3)किसानों का कृषि ऋण माफी नहीं करना

(4)किसानों का धान आज पैक्स के माध्यम से खरीदारी नहीं होना 

5) किसानों का बिजली माफ नहीं करना एक सुनियोजित साजिश है।(6)किसानों के लिए प्रतिमाह6महीना पेंशन नहीं देना चाहती हैं आज मोदी सरकार देश के सभी सार्वजनिक संपत्ति रेलवे ,LIC, Bsnl,नवरत्न एयर लाइंस  को भी अपने पूंजीपतियों के हाथों बेच दी ।अब देश के 60%जनता जो किसानी पर निर्भर हैं ।बस कृषि को भी कर अंबानी एवं अडानी को धनवान बना रही हैं जिला कांग्रेस कमेटी मधुबनी सरकार से मांग करती हैं कि किसानों से अभिलम्भ वार्ता कर तीनों काला क़ानून वापस ले नहीं तो आंदोलन को और तेज किया जाय ।

कार्यक्रम मनोज कुमार मिश्र, हिमांशू कुमार ,ललन कुमार सिंह ,आनंद कुमार झा,बीरेंद्र झा ,ज्योति झा,कौशल राजपूत,सुरेश चंद्र झा रमन ,प्रो इस्तियाक अहमद,अनुरंजन सिंह, कौशल किशोर चोधरी, उर्मिला देवी,काली चंद झा,प्रफुल चंद झा,विनय झा,धनेसवर ठाकुर,फैजी आर्यन,अशोक कुमार,अमरजीत झा ,मो एजाज,राजू कुमार झा,ललन राम,सुनीता देवी,आलोक चंद्र झा,ललिता देवी अन्य कार्यकर्ता भी उपस्थित थे।

कोई टिप्पणी नहीं: