बक्सर धर्माध्यक्ष बनकर ही पटना महाधर्मप्रांत के महाधर्माध्यक्ष का पद मिलता है - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शुक्रवार, 11 दिसंबर 2020

बक्सर धर्माध्यक्ष बनकर ही पटना महाधर्मप्रांत के महाधर्माध्यक्ष का पद मिलता है

patna-father-come-from-baxar
पटना. बक्सर धर्मप्रांत के प्रशासक व पटना महाधर्मप्रांत के कोदजुटोर सेबेस्टियन कल्लूपुरा (67), को पदोन्नत कर पटना महाधर्मप्रांत का  महाधर्माध्यक्ष मनोनीत किया गया है.मनोनीत महाधर्माध्यक्ष सेबेस्टियन कल्लूपुरा वर्तमान  महाधर्माध्यक्ष विलियम डिसूजा का पद संभालेंगे.जैसे ही संत पिता फ्रांसिस के द्वारा महाधर्माध्यक्ष सेबेस्टियन कल्लूपुरा को मनोनीत करने की घोषणा की गयी वैसे ही पटना महाधर्मप्रांत में खुशी की लहर फैल गयी. परम पावन संत पिता फ्रांसिस ने पटना महाधर्मप्रांत का महाधर्माध्यक्ष विलियम डिसूजा एसजे, (74) का इस्तीफा स्वीकार कर लिया है ).यह घोषणा बुधवार, 9 दिसंबर, 2020 को शाम 4.30 बजे सार्वजनिक किया गया. महाधर्माध्यक्ष सेबेस्टियन कल्लुपुरा, का जन्म 14 जुलाई, 1952 को केरल के पलोई के डियोसे में टेकोय में हुआ था.1971 में वह पटना महाधर्माध्यक्ष के लिए पलाई में माइनर सेमिनरी में शामिल हुए, और 14 मई, 1984 को उन्हें पुरोहित नियुक्त किया गया. उन्होंने बॉम्बे विश्वविद्यालय से शिक्षा प्राप्त की. उन्होंने 1984 से 1999 तक विभिन्न चर्चों में पल्ली पुरोहित के रूप में पटना महाधर्माध्यक्ष की सेवा की, सहायक कोषाध्यक्ष 2000-2002 के रूप में, पटना महाधर्मप्रांतीय सोशल एपोस्टोलेट 2008-2009 के निदेशक और 2009 में बिहार सोशल फोरम के निदेशक.वह 7 अप्रैल, 2009 को बक्सर के बिशप चुने गए और 21 जून, 2009 को आयोजित किए गए.पोप फ्रांसिस ने उन्हें 29 जून 2018 को पटना के कोदजुटोर महाधर्मप्रांत के रूप में नियुक्त किया.वह वर्तमान में परिवार और कारितास इंडिया के लिए सीसीआर कमीशन के अध्यक्ष हैं. टना  महाधर्माध्यक्ष के धर्मप्रांतीय बिशप हैं सेबेस्टियन कल्लूपुरा.जो पहली बार महाधर्माध्यक्ष बने है.वे सबसे कम उम्र में महाधर्माध्यक्ष बनने का मुकाम हासिल करने वाले बने हैं.पटना महाधर्मप्रांत के प्रथम महाधर्माध्यक्ष स्व.बी.जे.ओस्ता बने थे.पटना महाधर्मप्रांत के द्वितीय महाधर्माध्यक्ष विलियम डिसूजा हैं.इनके अवकाश ग्रहण करने के बाद पटना महाधर्मप्रांत के तीसरे महाधर्माध्यक्ष सेबेस्टियन कल्लूपुरा हैं. पटना महाधर्मप्रांत के महाधर्माध्यक्ष के रूप में बिशप सेबेस्टियन कल्लूपुरा को मनोनीत करने पर पटना महाधर्मप्रांत के प्रवक्ता फादर अमल राज,सिसिल साह, राजन क्लेमेंट साह, पिंकी संजय,फादर रेमंड, सिस्टर मार्टिना,सुशील लोबो,जेवियर लुइस आदि ने बधाई दी है.


इस्तीफा स्वीकार

रोम में रहने वाले परम पावन पोप फ्रांसिस ने पटना महाधर्मप्रांत के महाधर्माध्यक्ष विलियम डिसूजा येसु समाजी (74) का इस्तीफा स्वीकार कर लिया .वे पटना महाधर्मप्रांत के प्रथम महाधर्माध्यक्ष बीजे ओस्ता के सेवानिवृत होने के बाद पटना महाधर्मप्रांत के महाधर्माध्यक्ष मनोनीत हुए थे.वे 13 साल तक पटना महाधर्मप्रांत के महाधर्माध्यक्ष के पद पर काबिज रहे.सेवानिवृत होने की घोषणा बुधवार 9 दिसंबर को शाम 4.30 बजे सार्वजनिक की गयी. महाधर्माध्यक्ष विलियम का जन्म 5 मार्च, 1946 को कर्नाटक के मदनथियार में हुआ था.वे 01 जुलाई, 1965 को अंतर्राष्ट्रीय संस्था येसु समाज में शामिल हो गए.उनका 03 मई,1976 को विधिवत पुरोहिताभिषेक किया गया.उन्होंने अपना दार्शनिक अध्ययन तमिलनाडु के शंभनबागुर और पुणे में ज्ञान दीप विद्यापीठ में धर्मशास्त्र में किया.विभिन्न स्थानों में जेसुइट समुदायों से बेहतर तालमेल था. मुजफ्फरपुर धर्मप्रांत में संचालित माइनर सेमिनरी के रेक्टर के रूप में कार्य किया. विभिन्न चर्चों में एक पल्ली पुरोहित, मुजफ्फरपुर धर्मप्रांत के बिशप के सचिव और पटना जेसुइट प्रांत के 1995 से 2001 तक प्रांतीय अध्यक्ष के रूप में कार्य किया. उन्हें 12 दिसंबर, 2005 को बक्सर धर्मप्रांत का पहला बिशप मनोनीत किया गया था और 25 मार्च, 2006 को मेरी मदर ऑफ पेरीचुअल हेल्प कैथेड्रल बक्सर के पर्व के दिन बिशप बने.वह एक साल तक मुजफ्फरपुर धर्मप्रांत के प्रशासक भी रहे. वह बिशप के रूप में अपनी नियुक्ति के समय बक्सर जिले में इटारसी के पल्ली पुरोहित थे. पोप बेनेडिक्ट XVI ने उन्हें 1 अक्टूबर, 2007 को पटना महाधर्मप्रांत के महाधर्माध्यक्ष के रूप में नियुक्त किया. वह उस समय 44 साल के पुरोहित थे और 14 साल के लिए बिशप थे. महाधर्माध्यक्ष विलियम 1996 के बाद से अपने पारिस्थितिक मंत्रालयों के लिए भी जाने जाते थे, खासकर जब उन्होंने महानगर में दस एकड़ की मुख्य भूमि को पहली बार बायो-रिजर्व बनाने के लिए स्थापित किया था. वह महाधर्माध्यक्ष था जिसने सभी चर्चों और समुदायों को क्रिसमस के लिए बिजली की रोशनी में लिप्त नहीं होने के लिए लिखा था क्योंकि 52 किलोग्राम कोयले से एक यूनिट बिजली का उत्पादन होता है. उन्होंने हमेशा अपने लोगों से खड़े होने और विशेष रूप से बिजली और पानी के संरक्षण पर कार्रवाई करने का आग्रह किया.


बक्सर धर्मप्रांत के धर्माध्यक्ष बनकर ही गुजरता है पटना महाधर्मप्रांत के महाधर्माध्यक्ष का पद

पटना महाधर्मप्रांत के प्रथम महाधर्माध्यक्ष स्व. बीजे ओस्ता हैं. पटना महाधर्मप्रांत के द्वितीय महाधर्माध्यक्ष फादर विलियम डिसूजा हैं.पटना महाधर्मप्रांत के तृतीय महाधर्माध्यक्ष सेबेस्टियन कल्लुपुरा हैं.बक्सर धर्मप्रांत के प्रथम धर्माध्यक्ष फादर विलियम डिसूजा दूसरे महाधर्माध्यक्ष और बक्सर धर्मप्रांत के ही द्वितीय धर्माध्यक्ष फादर सेबेस्टियन कल्लुपुरा तृतीय महाधर्माध्यक्ष बने. पटना महाधर्मप्रांत में है बक्सर धर्मप्रांत. बक्सर धर्मप्रांत के धर्माध्यक्ष बनने की राह में विकर जेनरल फादर प्रेम का नाम शिखर पर है. हालांकि पटना महाधर्मप्रांत के प्रथम महाधर्माध्यक्ष बीजे ओस्ता भी विकर जेनरल के पद सुशोभित कर महाधर्माध्यक्ष बने थे. खैर अब बक्सर धर्मप्रांत का जिक्र करें. फादर विलियम डिसूजा ने विभिन्न पल्ली के पल्ली पुरोहित थे.वहां पल्ली पुरोहित के रूप में शानदार कार्य किया. मुजफ्फरपुर के प्रशासक भी थे.पटना महाधर्मप्रांत को विभाजित कर बक्सर धर्मप्रांत बनाया गया. इसके प्रथम धर्माध्यक्ष विलियम डिसूजा ही थे.संत पापा के द्वारा 12 दिसम्बर,2005 में बिशप घोषित हुए. धर्माध्यक्षीय अभिषेक 25 मार्च,2006 में हुआ.01 अक्टूबर,2007 में पटना महाधर्मप्रांत के महाधर्माध्यक्ष घोषित हुए. 9 दिसम्बर,2007 को पटना महाधर्मप्रांत के महाधर्माध्यक्ष पद का कार्यभार संभाला. आज 9 दिसम्बर,2020 को पटना महाधर्मप्रांत के महाधर्माध्यक्ष पद से सेवानिवृत हो गये. 13 साल तक पटना महाधर्मप्रांत के   महाधर्माध्यक्ष पद को संभाला. इसी तरह फादर महाधर्माध्यक्ष सेबेस्टियन कल्लुपुरा ने विभिन्न चर्चों में पल्ली पुरोहित के रूप में कार्य किया.संत पापा के द्वारा 12 दिसम्बर,2005 में बिशप घोषित हुए.21 जून ,2009 में बिशप बने.पोप फ्रांसिस ने उन्हें 29 जून, 2018 को पटना महाधर्मप्रांत के महाधर्माध्यक्ष के कोदजुटोर  के रूप में नियुक्त किया गया. कोदजुटोर का पदभार 10 अगस्त,2018 को ग्रहण किये.बक्सर धर्मप्रांत के प्रशासक भी हैं.आज 9 दिसम्बर,2020 को पटना महाधर्मप्रांत के महाधर्माध्यक्ष मनोनीत हुए.

कोई टिप्पणी नहीं: