बिहार : राज्य के अंदर लॉ एंड आर्डर की व्यवस्था पर सवाल - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 13 दिसंबर 2020

बिहार : राज्य के अंदर लॉ एंड आर्डर की व्यवस्था पर सवाल

question-on-bihar-law-and-order
पटना. बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार हैं.  मुख्यमंत्री के पास पूर्व की भांति सामान्य प्रशासन, गृह, मंत्रिमंडल सचिवालय, निगरानी तथा निर्वाचन विभाग इस बार भी रहेगा.बढ़ती अपराध पर पक्ष और विपक्ष भी मुखर हो रहे हैं.नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने बिहार के मुखिया नीतीश कुमार के ऊपर हमला बोला है. तेजस्वी यादव ने सुशासन बाबू को 'महाजंगलराज के महाराजा' करार दिया है. तेजस्वी ने लगातार राज्य के अंदर लॉ एंड आर्डर की व्यवस्था पर सवाल खड़ा कर रहे है. बिहार के नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने कहा कि  बिहार में लॉ एंड आर्डर की व्यवस्था चरमरा गई है. राज्य के अंदर अब अपराधियों की बहार है. बेखौफ क्रिमिनल गोलियों की बौछार कर रहे हैं. सूबे में व्यवसायियों पर कहर के साथ ही महाजंगलराज का हाहाकार है. चारो तरफ अराजक और डरावना माहौल बन गया है. तेजस्वी ने अपराध को लेकर बिहार में डबल इंजन वाली एनडीए सरकार को लेकर भी तंज कसा है. उन्होंने कहा है कि "बिहार में विधि व्यवस्था समाप्त हो चुकी है. डबल इंजन ट्रेन में बैठे मुख्‍यमंत्री सुस्त,लाचार,बेबस और असहाय है. महाजंगलराज के महाराजा मौन क्यों है ?" 


बता दें कि बिहार में बिगड़ी हुई कानून व्यवस्था को दुरुस्त करने के लिए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने राज्य के आलाधिकारियों के साथ मीटिंग की थी. उन्होंने लॉ एंड आर्डर को लेकर हो रही किरकिरी के बीच नीतीश कुमार एक्शन में दिखे थे. हाई लेवल मीटिंग में मुख्य सचिव और गृह सचिव के साथ साथ डीजीपी से लेकर पुलिस के तमाम बड़े अधिकारी तलब किये गये. पहले उनसे पूछा गया कि आखिरकार क्यों अपराधी बेलगाम होते जा रहे हैं. इसके बाद नीतीश कुमार ने पुलिसकर्मियों के लिए आदेश जारी किये.  कानून-व्यवस्था को लेकर यह एक महीने में तीसरी बैठक है. यह बैठक मुख्यमंत्री आवास में सुबह हुई.बिहार के आला अधिकारियों के साथ बैठक किए. इस बैठक में जिले के डीएम व एसपी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से जुड़े थे.बिहार में बिगड़ती कानून-व्यवस्था नीतीश कुमार सरकार के लिए बड़ी चुनौती बनता जा रहा है. आए दिन आपराधिक घटनाओं से राजधानी पटना सहित तमाम जिले खौफ के साए में जी रहे हैं! इस बीच, मुख्यमंत्री नीतीश कुमार राज्य की बिगड़ती कानून-व्यवस्था को लेकर तमाम बैठकें कर रहे हैं और अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दे रहे हैं. बिहार के अखबारों में विपक्ष को कितनी और कैसी जगह मिलती है, उसे इस उदाहरण से समझा जा सकता है. नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव बिहार में लगातार बढ़ते अपराध पर एक बयान देते हैं. अखबार उस बयान को सात नम्बर पेज पर छोटी सी जगह देता है. और वह भी इस तरह की उससे ढाई गुना अधिक स्पेस उन प्रवक्ताओं के बयान को देता है, जो तेजस्वी के बयान को खारिज कर रहे हैं. ताकि नेता प्रतिपक्ष का बयान छपे जरूर मगर स्टेब्लिश नहीं हो पाये. पूरे अखबार में विपक्ष के बयान को इतनी और ऐसी ही जगह मिलती है. जदयू के मुख्य प्रवक्ता संजय सिंह का रोज का काम तय है कि उन्हें नेता प्रतिपक्ष के बयान को खारिज करना है और पटना के सभी अखबारों की ड्यूटी है कि संजय सिंह के बयान को नेता प्रतिपक्ष के बयान के पास उतनी ही जगह देकर लगाये. यह सब अखबारों सरकारी विज्ञापनों से जुड़ी बात है.केंद्र और राज्यों में विज्ञापन देने की समान नीति है. इस बीच प्रदेश के दो बड़े व्यापारी राकेश गुप्ता जी और अमित कुमार जी का अपराधियों ने अपहरण कर लिया है.प्रदेश अध्यक्ष श्री जगदानंद सिंह जी ने पीड़ित परिवार से मुलाक़ात कर भरोसा दिलाया कि राजद परिवार उनके साथ खड़ा है.अपराधियों की जल्द से जल्द गिरफ्तारी और बरामदगी के लिए सड़कों पर उतरेंगे.


बता दें कि पटना के जमाल रोड इलाके के रहने वाले दो चावल मिल कारोबारी, राकेश गुप्ता और उनके सहोदर भाई अमित कुमार एक सप्ताह से लापता है. दोनों भाई चावल का हिसाब करने नौबतपुर निकले थे. इसी दौरान से दोनों लापता है. मामला बीते मंगलवार का है. पुलिस अभी तक कोई सुराग नहीं धुंध पाई है. इसके बाद एक बार फिर से कारोबारी के परिजन राजद कार्यालय में पहुंचे, परिजनों ने अपहरण की आशंका जताई है. दोनों भाई मंगलवार दोपहर दो बजे नौबतपुर के नगवां स्थित सांई कमल राइस मिल में अपने पार्टनर राजीव रंजन से हिसाब करने गये थे. लेकिन देर रात तक दोनों वापस नहीं लौटे. मोबाइल पर भी संपर्क हो पाया. फिर परिजनों ने अगले दिन शिकायत दर्ज करवा दी बुधवार की सुबह परिजन नगवां स्थित उनके पार्टनर के पास पहुंचे. यहाँ उन्हें कहा गया कि हिसाब करके दोनों भाई अरवल चले गए थे. लेकिन दोनों व्यवसायी भाइयों की लग्जरी कार नौबतपुर बाजार स्थित पार्टनर राजीव रंजन के बड़े भाई के कार्यालय के खुले अहाते में खड़ी पायी गयी है. राजद ने इस मामले पर अब आंदोलन की चेतावनी दी है. राजद ने अपने ट्वीट में कहा, “प्रदेश के दो बड़े व्यापारी राकेश गुप्ता जी और अमित कुमार जी का अपराधियों ने अपहरण कर लिया है. प्रदेश अध्यक्ष श्री जगदानंद सिंह जी ने पीड़ित परिवार से मुलाक़ात कर भरोसा दिलाया कि राजद परिवार उनके साथ खड़ा है. अपराधियों की जल्द से जल्द गिरफ्तारी और बरामदगी के लिए सड़कों पर उतरेंगे.”


बता दे कि पुलिस मामले में फिलहाल कॉल डिटेल व सीसीटीवी फुटेज का सहारा ले रही है. लेकिन एक सप्ताह बिट जाने के बावजूद भी अभी तक दोनों भाइयों का कोई सुराग पुलिस नहीं धुंध पाई है. इधर परिजन अनहोनी की आशंका से चिंतित है. पार्टनर से हिसाब करने गये नौबतपुर गये पटना के दो राइस मिल कारोबारी राकेश कुमार गुप्ता तथा उनके सहोदर भाई अमित कुमार मंगलवार की देर दोपहर बाद संदिग्ध हाल में लापता हो गये.इनमें राकेश कुमार गुप्ता  बिहार राइस मिल एसोसिएशन के उपाध्यक्ष हैं.ये दोनों पटना के जमाल रोड के रहनेवाले हैं. एक भाई का मोबाइल गाड़ी से बरामद किया गया है, जबकि दूसरे के मोबाइल का स्विच ऑफ है.परिजनों ने अनहोनी की आशंका जताते हुये नौबतपुर थाने में गुमशुदगी का सनहा दर्ज कराया है. पुलिस दोनों भाइयों  के मोबाइल का सीडीआर निकाल कर जांच करने में जुटी है. लापता कारोबारी राकेश कुमार गुप्ता के पिता भरत प्रसाद के मुताबिक दोनों भाई मंगलवार की दोपहर करीब दो बजे पटना जमाल रोड स्थित ओमराज अपार्टमेंट से निकले थे.यहां से दोनों नौबतपुर के नगवां स्थित सांई कमल राइस मिल अपने पार्टनर राजीव रंजन से हिसाब करने गये थे, लेकिन देर रात तक जब दोनों भाई घर वापस नहीं लौटे.मोबाइल पर संपर्क करने का प्रयास किया गया तो बात नहीं हो सकी। ऐसे में परिजनों को अनहोनी की चिंता सताने लगी.बुधवार की सुबह परिजन नगवां स्थित उनके पार्टनर के पास पहुंचे तो पता चला कि हिसाब करके दोनों भाई अरवल जाने की बात कह वहां से देर शाम को ही चले गए थे, लेकिन दोनों व्यवसायी भाइयों की लग्जरी कार नौबतपुर बाजार स्थित पार्टनर राजीव रंजन के बड़े भाई के कार्यालय के खुले अहाते में खड़ी पायी गयी. इस संबंध में नौबतपुर थाना प्रभारी सम्राट दीपक ने बताया कि गुमशुदगी का सनहा दर्ज कर गंभीरता से मामले की जांच की जा रही है. सीसीटीवी फुटेज में यह साफ दिख रहा है कि दोनों भाई गाड़ी लगाकर बाजार की ओर गये हैं, लेकिन कुछ देर बाद एक भाई लौटता है और गाड़ी से एक काले रंग का बैग लेकर बाजार की ओर गया. वहीं, फुटेज में एक के हाथ में लाल रंग का कैरीबैग भी नजर आ रहा है. पुलिस ने बताया कि बाजार से होकर वो बिक्रम जाने वाले ऱास्ते की ओर गये. इसके आगे की तस्वीर फुटेज में नहीं दिख रही है. 


दोनों कारोबारी भाइयों के लापता होने के मामले को गंभीरता से लिया गया है. अबतक अपहरण व फिरौती मांगने जैसी कोई बात सामने नहीं आई है.फुटेज की जांच में दोनों पैदल जाते दिखे हैं.जांच में कई अन्य बातें सामने आ रही हैं.सभी पहलुओं की जांच करते हुये दोनों भाइयों को सकुशल बरामद करने के प्रयास में पुलिस जुटी है. : संजय सिंह, आईजी रेंज

कोई टिप्पणी नहीं: