सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 28 दिसंबर - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

सोमवार, 28 दिसंबर 2020

सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 28 दिसंबर

परशुराम आश्रम के पुन: निर्माण की मांग को लेकर ब्राह्मण समाज का प्रदर्शन


sehore news
सीहोर। सोमवार को बड़ी संख्या में सर्व ब्राह्मण समाज के पदाधिकारियों ने एकत्रित होकर दो सूत्रीय मांगों को लेकर प्रदेश के मुख्यमंत्री से संबोधित एक ज्ञापन डिप्टी कलेक्टर प्रगति वर्मा को ज्ञापन सौंपकर रीवा जिले के ग्राम रथहरा में प्रशासन द्वारा जमीदोज किए भगवान श्री परशुराम के आश्रम के पुन: निर्माण के अलावा शहर के कोतवाली चौराहे का नाम भगवान परशुराम करने और वहां पर भगवान का शस्त्र परसा स्थापित कराए जाने की मांग शामिल है। ब्राह्मण समाज के मनोज दीक्षित मामा ने बताया  कि सोमवार को समाज के अध्यक्ष बालमुकुन्द पालीवाल के नेतृत्व में बड़ी संख्या में ब्राह्मणजनों ने प्रदर्शन करते हुए कहा कि विगत दिनों रीवा प्रशासन के द्वारा ग्राम रथहरा में स्थापित एवं संचालित श्री परशुराम जी के आश्रम को अनुचित रूप से अतिक्रमण के नाम पर तोड़ दिया गया है, इस प्रकार की तानाशाही विप्रजन बर्दाश्त नहीं करेंगे। यह आश्रम साधु-संतों एवं सर्व समाज की आस्था का केन्द्र था, यह केन्द्र आवंटित शासकीय भू-क्षेत्र में ही बना था, अपरिहार्य कारणों से यह आश्रम निर्माणार्थ भू आवंटन का आवेदन  नहीं दिया गया था, इस आश्रम के विखंड से समाज की धार्मिक आस्था को गहरा अघात पहुंचा है। प्रदेश व्यापी आह्वान पर जिला इकाई और परशुराम सेना शासन के सीएम शिवराज सिंह चौहान से मांग करती है कि वैघ प्रक्रिया द्वारा उक्त स्थान पर पुन: भगवान परशुराम आश्रम के निर्माण के लिए शासकीय भू-आवंटन करने और निर्माण कराया जाए, इसके अलावा पूर्व में कोतवाली चौराहे पर निर्वाचन के दौरान जो चौराहे पर भगवान परशुराम का परसा हटाया गया था, उसको वहीं पर स्थापित कराए जाने के बारे मांग की है। रविवार को बैठक के दौरान इन दो मांगों को लेकर निर्णय किया गया था, सोमवार को ब्राह्मण समाज के द्वारा उक्त दोनों मांगों के निराकरण को लेकर ज्ञापन सौंपा गया है। इसके अलावा ब्राह्मण समाज आगामी दिनों में शहर में सभी ब्राह्मण के घर-घर जाकर जानकारी आदि प्राप्त करेगा। 


आज किया जाएगा भगवान गणेश की बाललीलाओं का वर्णन
  • मनुष्य जीवन में जब-तक पुण्य पुंज होता है तब-तक बुरा कर्म करके भी सुखी रहता है-पंडित प्रदीप मिश्रा
sehore news
सीहोर।
संसार में आए होतो अपने कर्मों का हिसाब देना जरूरी है, मनुष्य जीवन में जब-तक पुण्य पुंज होता है तब-तक बुरा कर्म करके भी सुखी रहता है। पुण्य क्षीण होते ही बुरे कर्मों का फल प्राप्त करता है। क्योंकि परमात्मा ने जो हमारे भाग्य में लिखा है उसे कोई नहीं मिटा सकता है। उक्त विचार जिला मुख्यालय के समीपस्थ चितावलिया हेमा स्थित निर्माणाधीन मुरली मनोहर एवं कुबेरेश्वर महादेव मंदिर में जारी सात दिवसीय शिव महापुराण कथा के चौथे दिन भागवत भूषण पंडित प्रदीप मिश्रा ने कहे। इस मौके पर उन्होंने भगवान शिव और माता के विवाह के वर्णन को आगे जारी रखते हुए सोमवार को भगवान गणेश जन्म के बारे बताया। पंडित श्री मिश्रा ने कहा कि मनुष्य कर्म करने के लिए स्वतंत्र है। पर कर्मों का फल भोगने के लिए बाध्य हैं। जैसी करनी वैसी भरनी के आधार पर मनुष्य को सुख व दु:ख मिलते हैं। कर्म बंधन के मुक्ति का एक ही उपाय है पूर्ण संत की शरणागति में जाना। जब एक साधक पूर्ण गुरु से ब्रहम्ज्ञान प्राप्त कर ज्ञान मार्ग का अनुशरण करता है तो वह कर्म बंधन के अनंत दु:ख से मुक्त हो जाता है। श्रद्धालु भी ब्राहम्ज्ञान प्राप्त कर आनंद के सागर में डुबकी लगाए व वास्तविक सुख शांति को प्राप्त कर मनुष्य जीवन को सार्थक करें।

भगवान गणेश के जन्मोत्सव
इस मौके पर शिव महापुराण के चौथे दिन पंडित श्री मिश्रा ने कहा कि भगवान गणेश का जन्म सुख और समृद्धि के लिए हुआ है। विघ्नहर्ता भगवान गणेश का पूजन करने से जीवन में शुभता और सफलता का आगमन होता है। भगवान गणेश को बुद्धि, विवेक और धन-धान्य का स्वामी माना जाता है। मान्यता है कि गणपति को प्रसन्न करने से घर में संपन्नता का वास होता है और सुख-शांति बनी रहती है।

बिल्व पत्र और शमी के पत्ते से पूजा का महत्व
इस मौके पर उन्होंने कहा कि शिवलिंग पर अलग-अलग चीजें चढ़ाई जाती है। शिवपुराण के अनुसार शिव पूजा में फूल-पत्तियां चढ़ाने का विशेष महत्व है। शिवलिंग पर बिल्व पत्र तो सभी चढ़ाते हैं, लेकिन इसके साथ ही शमी के पत्ते भी शिवजी को अर्पित करना चाहिए। आमतौर पर शमी के पत्ते शनि को चढ़ाए जाते हैं, लेकिन ये पत्तियां शिवजी और गणेशजी को भी चढ़ा सकते हैं। पंडित श्री मिश्रा ने बिल्व पत्र और शमी के पत्ते से पूजा का महत्व विस्तार से बताया। 

मस्जिद से लाकर चौराहे पर रखा अकबर का जनाजा परिजनों ने मांगा नारे लिखी तख्तियों के साथ इंसाफ,सदमें में बुजूर्ग की हुई दर्दनाक मौत,अतिक्रमण के नाम पर प्रशासन ने तोड़ा मकान
  • कलेक्ट्रेट पहुंचकर लगाई थी मदद की गुहार, नहीं की गई पीडि़त परिवार की सुनवाई, कोर्ट में विचाराधीन है जमीन मामला, प्रशासन ने की ताबड़तोड एक तरफा कार्यवाही
पीडि़त परिजनों ने कोतवाली चौराहा पर जनाजा रखकर इंसाफ मांगा। अतिक्रमण के नाम पर प्रशासन के द्वारा तोड़े गए मकान के सदमें में बुजूर्ग अकबर खॉ की बीतीरात दर्दनाक मौत हो गई। डराने धमकाने वाले गुनाहगारों पर एफआइआर दर्ज करने और तोड़े गए मकान का मुआवजा देने की मांग की गई। प्रशासन के द्वारा मामले को गंभीरता से लिया गया। कोतवाली चौराहा पर अतिरिक्त पुलिस बल का बंदोबस्त किया गया। प्रदर्शन के दौरान पहुंचे कोतवाली प्रभारी नलिन बुधोलिया, नायब तहसीलदार अमित सिंह के आश्वासन के बाद मरहुम अकबर खॉ को परिजनों के द्वारा गंज कब्रिस्तान में सुपुर्देखाक किया गया।
sehore news
सीहोर।
निरंकुश प्रशासन कोर्ट के आदेशों को भी मानने को तैयार नहीं है। प्रशासन ताबड़तोडृ एक तरफा कार्रवाहियों को अंजाम दे रहा है। इसी श्रेणी में प्रशासन के द्वारा अमर टाकिज स्थित मकान को अतिक्रमण के नाम पर तोड़ दिया गया। परिजन मकान मालिक अकबर खॉ के बीमार होने की गात बताते रहे कार्रवाहीं रोकने की गुहार लगाते रहे। कोर्ट के दस्तावेज दिखाते रहे लेकिन प्रशासनिक अधिकारियों ने एक नहीं सुनी आखिर रविवार की रात मकान तोड़े जाने के सदमें में अकबर खॉ की मौत हो गई।   सोमवार को मुस्लिम समाजजनों ने मृतक के पुत्र नवाब खान और आजम खान के साथ कलेक्ट्रेट पहुंचकर न्याय दिलाने की मांग को लेकर महामहीम राज्यपाल, मुख्यमंत्री,पुलिस महानिदेशक के नाम ज्ञापन दिया। परिजनों ने कहा की जिला प्रशासन ने पुलिस  बल के साथ  पहुंचकर मनमाने ढंग से अतिक्रमण के नाम पर मकान को तोड़  दिया। जिस के सदमें में पिता अकबर खॉ की मृत्यु हो गई। जबकी की उक्त जमीन पर वर्षो से परिवार निवास कर रहा  है। ज्ञापन में पीडितों ने कहा की कमल झवर एवं उनका पुत्र सुमित झवर के द्वारा डराया धमकाया जा रहा है। उन्होने बताया की अकबर खाँ की मृत्यु के बाद मृतक की पत्नि परवीन बी भी सदमें के कारण गंभीर रुप से बीमार हो गई है पूरा परिवार डरा सहमा है। पीडि़त परिवार ने पिता की मौत के जिम्मेदार कमल झवर ,सुमित झवर सहित अन्य लोगों पर सख्त दण्डात्मक कार्यवाही करने और तत्काल सुरक्षा प्रदान कराए जाने सहित उचित मुआवजा एवं पुर्नवास कराने की मांग की गई है।  

विधानसभा घेराव प्रदर्शन में शामिल हुए कार्यकर्ता , पूर्व मुख्यमंत्री से सेवादल कांग्रेस जिलाध्यक्ष खंगराले ने की चर्चा

sehore news
सीहेार। केंद्र सरकार के किसान विरोध कानूनों को लेकर सोमवार को सेवादल कांग्रेस के द्वारा का जिला कांग्रेस अध्यक्ष बलवीर तोमर मध्य  प्रदेश सेवादल कांग्रेस  के प्रदेश सचिव राकेश राय,वरिष्ट कांग्रेस  नेता दर्शन सिंह वर्मा, सेवादल जिलाध्यक्ष नरेंद्र खंगराले, सेवादल यूथ बिग्रेड जिलाध्यक्ष इंजी जितेंद्र सिंह के नेतृत्व  में सीहोर से भारी संख्या में पहुंचकर विधानसभा भवन का घेराव किया गया। एवं मध्य  प्रदेश के  पूर्व मुख्यमंत्री तथा मध्य  प्रदेश कांग्रेस  कमेटी के प्रदेशाध्यक्ष  से भेंटकर सीहोर जिले में किसानों के समर्थन में जनवरी माह में निकाले जाने वाली पदयात्रा की जानकारी दी। पूर्व मुख्यमंत्री कमल नाथ के द्वारा सीहेार जिले में सेवादल के द्वारा किए जा  रहे जनहितैशी कार्य की सराहना की। इस  अवसर पर प्रमुख रूप  से पूर्व पार्षद रमेश राठौर,  धनश्याम जाटव, एडवोकेट श्रवण  वास्तावर,जसंबत  सिंह, भागीरथ  कटारे,  रामविलास  बकोरिया, धीरज सिंह ठाकुर, माखन चौहान, शंकर सक्सेना मालवीय, आत्माराम परमार, संतोष मालवीय,  निखिल पालीवाल,  पार्षद आरती नरेंद्र खंगराले, मीरा रैकवार, आशा  गुप्ता, मना वर्मा आदि कांग्रेस कार्यकर्ता शामिल रहे।  

सिद्धिविनायक संघ  द्वारा गरीब बस्ती में गर्म वस्त्र वितरण 

sehore news
सीहोर ( श्री सिद्धिविनायक संघ  द्वारा प्रतिवर्ष अनुसार इस वर्ष भी गरीब बस्ती में जाकर रोजमर्रा की और गर्म बस वितरण का जो कार्य पिछले 5 वर्षों से लगातार किया जा रहा है  मंडी क्षेत्र के वार्ड क्रमांक 23 के अनोखी लाल नगर में समिति के सदस्यों द्वारा समिति के वरिष्ठ सदस्य सीताराम  यादव और क्षेत्रीय पार्षद रामप्रकाश चौधरी के नेतृत्व में गरीब बुजुर्ग महिला बच्चे और युवाओं को वस्त्र का वितरण किया गया  गरीब परिवारों के चेहरे पर वस्त्र पाकर जो खुशी देखने को मिली उससे सभी संघ के सदस्य अपार उत्साहित हुए  सदस्य गोवर्धन दास मौर्य अनिल अवस्थी देवकीनंदन गोगिया केपी चौरसिया गोपाल अग्रवाल अशोक अग्रवाल सुधीर कौशल नारायण प्रसाद उपाध्याय केके गुप्ता लक्ष्मीकांत गुप्ता अनिल बख्शी अजय गुप्ता मनोज जैन गगन मेहता राजकुमार प्रजापति आदि सदस्य उपस्थित रहे

छात्रावास भवन के हस्तांतरण में हुई देरी के लिए कलेक्टर ने किया जांच दल गठित

सीहोर 28 दिसंबर,2020

कलेक्टर श्री अजय गुप्ता ने शासकीय औद्यौगिक प्रशिक्षण संस्थान बुदनी के 120 सीटर छात्रावास भवन के हस्तातरण में हुए 3 वर्ष के विलंब के संबंध में जांच के लिए दल का गठन किया है। इस जांच दल में ग्रामीण यांत्रिकी सेवा, लोकनिर्माण विभाग बुदनी एवं प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के कार्यपालन यंत्री शामिल हैं । परियोजना क्रियान्वयन ईकाई लोकनिर्माण विभाग द्वारा किये गये निर्माण कार्य में इस्तेमाल की गई सामग्री की गुणवत्ता एवं अन्य पहलुओं की जांच इस दल द्वारा की जायेगी।   

      कलेक्टर ने अनुविभागीय अधिकारी बुदनी को निर्देशित किया था कि परियोजना क्रियान्वयन ईकाई लोक निर्माण विभाग द्वारा शासकीय औद्यौगिक प्रशिक्षण संस्थान बुदनी का 120 सीटर छात्रवास भवन का निरीक्षण कर अवगत करायें कि 3 वर्ष पूर्व निर्मित इस भवन का हस्तातरण विलंभ से होने के क्या कारण हैं। इस पर अनुविभागीय अधिकारी बुदनी द्वारा निरीक्षण कर बताया गया कि भवन के साथ निर्मित पंप हाउस सुरक्षित नहीं होने एवं खिड़िकियों के कांच टूटे होने के कारण हस्तातरण में विलंब हुआ । भवन को देखने पर उसमें दरारें दिखाई नहीं देती है। साफ-सफाई एवं रंगाई पुताई की आवश्यकता जरूर है । प्राचार्य द्वारा बताया गया कि पंप हाउस को सुधारने, खिड़कियों के कांच बदलने एवं रंगाई पुताई का आश्वासन मिलने के उपरांत 01 दिसंबर 2020 को छात्रावास का भवन हस्तांतरित हो चुका है।     

सीएम हेल्पलाइन को गंभीरता से ना लेने वाले अधिकारियों के खिलाफ की जायेगी कार्यवाही- कलेक्टर
समय सीमा बैठक में कलेक्टर ने दिये आवश्यक निर्देश
sehore news
सोमवार को समय सीमा बैठक में कलेक्टर श्री अजय गुप्ता ने जिले के सभी विभाग प्रमुखों को आगाह किया कि सी0एम0 हेल्पलाईन को गंभीरता से ना लेने वाले अधिकारियों के विरूद्ध कठौर कार्यवाही की जायेगी । उन्होने कहा कि यदि काई भी शिकायत एल-1 स्तर से बिना कार्यवाही दर्ज किये ऊपर के स्तर पर जाती है तो एल-1 अधिकारी की एक वेतन वृद्धि रोकने की कार्यवाही की जायेगी । सी0एम0 हेल्पलाई की शिकायतों की समीक्षा उपरांत कलेकटर श्री गुप्ता ने ऊर्जा विभाग एवं कृषि विभाग के विकास खण्ड स्तर के एल-1 अधिकारियों को कारण बताओं सूचना पत्र जारी करने के निर्देश भी दिये है । समाधान ऑनलाईन में नगरीय निकास से संबंधित समस्याओं के निराकरण के निर्देश सभी अनुविभागीय अधिकारियों को कलेक्टर द्वारा दिये गये । कलेक्टर ने जहाजपुरा में शासकीय योजनाओं के संबध में शिविर लगाने के निर्देश संबंधित तहसीलदार को दिये । कोरोना वैक्सीन टीका करण के संबंध में चर्चा करते हुए वन ग्रामों में वन विभाग के गार्ड की मदद लेने के निर्देश भी संबंधित अधिकारियों को दिये । 

04 व्यक्तियों की कोरोना जांच रिपोर्ट पॉजीटिव प्राप्त हुई, वर्तमान में कोरोना एक्टिव/पॉजीटिव की संख्या 91 है

sehore news
मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. सुधीर कुमार डेहरिया ने बताया कि पिछले पिछले 24 घंटे के दौरान  04 व्यक्तियों की कोरोना जांच रिपोर्ट पॉजीटिव प्राप्त हुई है। सीहोर के वार्ड नं 19 नेहरू कॉलोनी से 1 व्यक्ति की कोरोना जांच रिपोट पॉजिटिव प्राप्त हुई, नसरूल्लागंज के वार्ड नं 11 से 02 व्यक्ति तथा बुदनी के बकतरा से 01 व्यक्ति की कोरोना जांच रिपोट पॉजिटिव प्राप्त हुई ।  कुल रिकवर की संख्या 2500 है। 48 संक्रमितों की उपचार के दौरान मृत्यु हुई है। आज 366 सैम्पल लिए गए है । सीहोर शहरी क्षेत्र से 25  सैम्पल लिए गए, नसरूल्लागंज 83, आष्टा से 128, इछावर से 60, श्यामपुर से 50,  बुदनी से 20 सैम्पल लिए गए है । आज पॉजीटिव मिले नए कंटेनमेंट जोन सहित समस्त कंटेनमेंट एवं बफर जोन में स्वास्थ्य दलों द्वारा सघन स्वास्थ्य सर्वे किया जा रहा है। वहीं पॉजीटिव मिले व्यक्तियों के करीबी संपर्क वाले व्यक्तियों की पहचान कर उनकी सूची तैयार की जा रही है। प्रत्येक कंटेनमेंट जोन में सर्वे के लिए एक से दो दल लगाए गए है । सर्वे दल के प्रभारी चिकित्सा अधिकारियों को बनाया गया है तथा स्वास्थ्य सर्वे दल में ए.एन.एम. आशा कार्यकर्ता, आंगनबाडी कार्यकर्ताओं की ड्यूटी लगाई गई है। जिले में कुल कोरोना पॉजीटिव व्यक्तियों की संख्या 2639 है जिसमें से 48 की मृत्यु हो चुकी है 2500 स्वस्थ होकर डिस्चार्ज हो गए है तथा वर्तमान में एक्टिव/पॉजीटिव की संख्या 91 है। आज 366 सैंपल जांच हेतु लिए गए। कुल जांच के लिए भेजे गए सेंपल 55459 हैं जिनमें से 52131  सेंपलों की रिपोर्ट निगेटिव आई है। आज 157 सेंपलों की रिपोर्ट निगेटिव आई है। कुल 366 सेंपलों की रिपोर्ट आना शेष है। पैथालॉजी द्वारा कोरोना वायरस सेंपल की रिजेक्ट संख्या कुल 71 है। जिले में जो व्यक्ति होम क्वारंटाइन में है उनके निवास स्थान से सीधे संवाद हेतु जिला स्तरीय कोविड-19 काल सेंटर स्थापित किया गया है जिसका संपर्क नंबर-7247704181 है कोविड-19 से संबंधित जानकारी इस संपर्क नंबर पर ली व दी जा सकती है। वहीं जिला चिकित्सालय सीहोर में टेलीमेडिसीन के लिए संपर्क नंबर 07562-401259 जारी किया गया है तथा राज्य स्तर पर 104/181 नंबर पर काल करके भी टेलीमेडिसीन सेवा का लाभ लिया जा सकता है। 104 नंबर पर ई-परामर्श सेवा का भी लाभ लिया जा सकता है। ई-संजीवनी ओपीडी सेवा हेतु  www.esanjeevaniopd.in  पंजीयन कराया जा सकता है। कलेक्टेट कार्यालय में भी जिला स्तरीय काल सेंटर बनाया गया है जिसका संपर्क नंबर 07562-226470 है तथा होम क्वारंटाइन व्यक्तियों तथा उनके परिजनों के लिए हेल्पलाइन नंबर 18002330175 जारी किया गया है जिस पर संस्थागत क्वारंटाइन अथवा होम क्वारंटाइन व्यक्ति या उनके परिजन इमोशनल वेलनेस अथवा साईकोलाजिकल सपोर्ट एवं अन्य जरूरी परामर्श मानसिक सेवा प्रदाताओं से निःशुल्क प्राप्त कर सकते है ।

अवैध मदिरा के विरूद्ध चलाया जा रहा है विशेष अभियान

म.प्र. आबकारी आयुक्‍त के अवैध मदिरा के विरूद्ध विशेष अभियान चलाए जाने के निर्देश के अनुक्रम में तथा अन्‍य स्‍थानों में अवैध मदिरा से हुई जनहानियों को देखते हुए कलेक्‍टर श्री अजय गुप्‍ता निर्देशानुसार जिला आबकारी अधिकारी श्रीमती किर्ति दुबे के निर्देशन में जिला सीहोर के वृत सीहोर/दौराहा/आष्‍टा बुदनी/ नसरूल्‍लागंज  में 21 दिसंबर से 27 दिसंबर 20 तक अवैध मदिरा के विरूद्ध म.प्र. आबकारी अधिनियम 1915 की विभन्‍न धाराओं के  अंतर्गत 05 प्रकरण कायम कर 04 व्‍यक्तियों को गिरफतार किया गया/ इस प्रकरणें में 3.96 बल्‍क लीटर देशी मदिरा, 22 ली. हाथ भट्टी कच्‍ची मदिरा तथा 200 कि.ग्रा. महुआ लाहन जप्‍त किया गया। यह सहायक जिला आबकारी अधिकारी श्री अमिताभ जैन, आबकारी उपनिरीक्षक श्री प्रहलाद सिंह मीना व सुश्री शारदा करोलिया, मुख्‍य आबकारी आरक्षक तथा आबकारी आरक्षक का सराहनीय योगदान रहा।

मध्यप्रदेश धार्मिक स्वतंत्रता विधेयक, 2020 को मंत्रि-परिषद का अनुमोदन

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान की अध्यक्षता में मंत्रि-परिषद की वर्चुअल बैठक हुई।  मंत्रि-परिषद ने मध्यप्रदेश धार्मिक स्वतंत्रता विधेयक, 2020 को विधानसभा में प्रस्तुत करने के लिये अनुमोदित किया। भारत के संविधान के अनुच्छेद 25,26,27 और 28 के तहत भारत के सभी नागरिकों को धार्मिक स्वतंत्रता प्रदान की गयी है। इस अधिकार का उद्देश्य भारत में धर्म निरपेक्षता की भावना को बनाये रखना है। मध्यप्रदेश राज्य में वर्ष 1968 में धर्म स्वातन्त्रय अधिनियम पारित किया गया था एवं वर्ष 1969 में इसके नियम बनाये गये थे। वर्तमान परिवेश में उक्त अधिनियम के प्रावधान पर्याप्त नही होने से मध्यप्रदेश धार्मिक स्वतंत्रता विधेयक,2020 को विधानसभा में प्रस्तुत करने के लिये मंत्रि- परिषद ने अनुमोदित किया है।

किसान और फसल क्रय करने वाले व्यापारी के मध्य अनुबंध प्रपत्र को एसडीएम कार्यालय में सुरक्षित रखा जायेगा मुख्यमंत्री श्री चौहान का किसानों के हित में फैसला

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि राज्य सरकार ने नये कृषि कानूनों का लाभ आसानी से किसानों तक पहुंचाने के लिये फैसले लिये हैं। अब किसान और फसल क्रय करने वाली कम्पनी, व्यापारी या व्यक्ति के मध्य होने वाले अनुबंध प्रपत्र को अनुविभागीय दण्डाधिकारी राजस्व कार्यालय में दस्तावेज के रूप में सुरक्षित रखा जाएगा। ताकि किसान के साथ किसी भी तरह का धोखा नहीं हो सके। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि अनुबंध के लिए राज्य सरकार द्वारा एक प्रोफार्मा तैयार किया जा रहा है। जिसमें किसान और फसल क्रय करने वाली कम्पनी के प्रतिनिधि, व्यापारी या व्यक्ति के हस्ताक्षर होंगे तथा इस प्रपत्र को अनुविभागीय दण्डाधिकारी राजस्व के कार्यालय में सुरक्षित रखा जायेगा। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि राज्य सरकार ने फैसला लिया है कि प्रदेश की सभी 313 जनपद पंचायतों में नये कृषि कानूनों की बारीकियों से कृषकों को अवगत कराने और इन कानूनों का लाभ किसानों तक पहुंचाने के लिए प्रशिक्षण आयोजित होंगे। ताकि नये कृषि कानूनों के हर पहलू से किसान अवगत होकर फायदा प्राप्त कर सकें। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि मध्यप्रदेश में केन्द्र सरकार द्वारा किसानों के हित में नये कानूनों के लिये की गई पहल के अनुरूप क्रियान्वयन भी प्रारंभ कर दिया गया है। विभिन्न जिलों में किसानों द्वारा मिलों को उत्पादन बेचने के संबंध में लाभकारी मूल्य दिलवाने का कार्य हो रहा है।  राज्य सरकार का पूरा प्रयास है कि इनका लाभ अधिकतम किसानों को मिले। किसानों की आय दोगुना करने की प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी की मंशा को पूरा किया जाएगा। मध्यप्रदेश के किसान प्रधानमंत्री जी के साथ है। मध्यप्रदेश में इन कानूनो के संबंध में किसानों के मध्य कोई भ्रम की स्थिति नहीं है।

आचार्य विद्यासागर गौ-संवर्धन योजना में 10 लाख तक ऋण लेकर शुरू कर सकते हैं स्वयं का रोजगार

मध्यप्रदेश आचार्य विद्यासागर गौ-संवर्धन योजना पशुपालन विभाग की एक महत्वपूर्ण योजना है इस योजना से बेरोजगार युवकों को गौ-पालन के लिए 10 लाख तक का लोन मिलेगा। जिसमें मार्जिन मनी सहायता के रूप में इकाई लागत का 25 प्रतिशत सामान्य वर्ग के लिये अधिकतम डेढ़ लाख तथा अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति के लिये 33 प्रतिशत अधिकतम दो लाख रूपए प्रदान की जाएगी। पशुपालक न्यूनतम 5 या इससे अधिक पशु की योजना स्वीकृत करा सकेगा तथा परियोजना की अधिकतम सीमा राशि दस लाख रूपए तक होगी। परियोजना लागत का 75 प्रतिशत राशि बैंक ऋण के माध्यम से प्राप्त करनी होगी तथा शेष राशि की व्यवस्था मार्जिन मनी सहायता एवं हितग्राही का स्वयं के अंशदान के रूप में करनी होगी। इकाई लागत के 75 प्रतिशत पर या हितग्राही द्वारा बैंक से प्राप्त ऋण पर जो भी कम हो 5 प्रतिशत वार्षिक ब्याज की दर से अधिकतम 25,000 रूपए प्रतिवर्ष ब्याज की प्रतिपूर्ति 7 वर्षों तक विभाग द्वारा की जाएगी। पांच प्रतिशत से अधिक शेष ब्याज दर पर ब्याज की प्रतिपूर्ति हितग्राही को स्वयं करना होगी। इस योजना का लाभ सभी वर्ग के लघु एवं सीमांत कृषक ले सकते हैं। हितग्राही के पास 5 पशुओं के लिये न्यूनतम एक एकड़ भूमि होना आवश्यक है तथा पशुओं की संख्या में वृद्धि होने से अनुपातिक रूप से न्यूनतम कृषि भूमि का निर्धारण किया जायेगा। हितग्राहियों का ग्राम सभा मे अनुमोदन होगा, ग्राम सभा में अनुमोदित हितग्राहियों का जनपद पंचायत की सभा में अनुमोदन होगा। जनपद पंचायत में अनुमोदन के बाद जिले के उप संचालक, पशुपालन अनुमोदित प्रकरण को स्वीकृति के लिये बैंक को प्रेषित कर स्वीकृति प्राप्त करेंगे। यह एक बहुउद्देशीय योजना है बेरोजगारी कम करना, पशुओं के प्रति जागरूक करना और दूध उत्पादन में वृद्धि करना इस योजना का उद्देश्य है।

नवीन पशुधन बीमा योजनांतर्गत - पशुओं का बीमा कराने की अपील

उप संचालक पशु चिकित्सा सेवायें, भोपाल ने जिले के पशुपालकों से अपील की है कि वे अपने पशुधन का बीमा कराएं। उन्होंने बताया कि राष्ट्रीय पशुधन मिशन अंतर्गत नवीन पशुधन बीमा योजना का क्रियान्वयन किया जा रहा है। योजना में पशुपालकों को पशु की मृत्यु होने पर हुई आर्थिक हानि में राहत मिलती है। उन्होंने पशुपालकों को बताया है कि योजना में पशुधन जैसे गाय, भैंस, घोडा, बकरी आदि को शामिल किया गया है। योजनांतर्गत प्रति परिवार अधिकतम पांच पशुओं का बीमा करा सकते हैं। बीमे की अधिकतम राशि 55 हजार रूपए तक हो सकती हैं तथा प्रीमियम  दर एक वर्ष के लिए 2.92 प्रतिशत है जिसमें सामान्य वर्ग के लिए 50 प्रतिशत अनुदान तथा बीपीएल, एससी, एसटी के लिए 70 प्रतिशत अनुदान शासन द्वारा दिया जाता है। उन्होंने पशुपालकों से कहा है कि वे अधिक जानकारी के लिए अपने निकटतम पशु चिकित्सालय प्रभारी से संपर्क कर सकते हैं।

सीहोर साहित्य सम्मान २०२१ : केवल एक कहानी तथैव मात्र तीन कविताओं के लिए हिंदी साहित्य का सबसे बड़ा पुरस्कार 

sehore news
नागपुर से संचालित साहित्यिक प्रकाशन, कथाकानन, और साहित्य सदन सीहोर, हरियाणा के एक उनींदे गाँव सीहोर में पनप रहे साहित्य उपक्रम, ने साथ जुट कर, एक कहानी तथैव तीन कविताओं के लिए हिंदी साहित्य जगत में इस श्रेणी के सबसे बड़े साहित्यिक पुरस्कार की घोषणा की है। इस पुरस्कार  कहानी खंड के लिए प्रविष्टियाँ स्वीकार करने की अवधि 1 जनवरी २०२१ से आरम्भ होगी, और १५ फरवरी २०२१ मध्यरात्रि को समाप्त होगी।  कहानी का प्रथम पुरस्कार  21000/ रुपये का होगा। मौलिक एवं अप्रकाशित होने के साथ साथ, यह अनिवार्य है कि कहानी की शब्द- संख्या न्यूनतम 700 शब्द तथा अधिकतम 3000 शब्द हो। द्वितीय और तृतीय पुरस्कार क्रमशः 11000/ एवम 5000/ रुपये के होंगे। इनके अतिरिक्त लघुसूची में प्रवेश पानेवाले हर कहानीकार को 500/ रुपये का प्रोत्साहन पुरस्कार प्राप्त होगा। हिंदी साहित्य के तीन सुप्रसिद्ध उपन्यासकार/ कहानीकार इस प्रतियोगिता के कहानी- खंड के निर्णायक होंगे। जनसत्ता मुम्बई के भूतपूर्व फीचर संपादक और सहारा समय के भूतपूर्व संपादक धीरेंद्र अस्थाना जो कि एक स्थापित उपन्यासकार और कहानी लेखक भी हैं, तीन निर्णायकों में से एक निर्णायक तय हुए हैं। एक दर्जन के आसपास उनके उपन्यास और कहानी संग्रह छप चुके हैं, जिनमें 'गुज़र क्यों नहीं जाता' और 'हलाहल' उपन्यास तथा 'खुल जा सिम सिम' और 'उस रात की गंध' कहानी-संग्रह शामिल हैं। दूसरे निर्णायक हैं हिंदी कहानी जगत में अपनी अलग पहचान रखने वाले कहानीकार योगेंद्र आहूजा। योगेंद्र आहूजा के कहानी संग्रह ' अँधेरे में हँसी' और 'पाँच मिनट' खूब चर्चा में रहे, और उन्हें मिले अनेक सम्मानों में ' कथा पुरस्कार', ' परिवेश पुरस्कार' और ' रमाकांत स्मृति पुरस्कार' प्रमुख हैं। तीसरे निर्णायक के लिए एन डी टी वी के वरिष्ठ संपादक प्रियदर्शन को चुना गया है।  लोकप्रिय उपन्यास ' ज़िन्दगी लाइव', तथा कहानी- संग्रह ' बारिश, धुआं और दोस्त' तथा ' उसके हिस्से का जादू' को मिलाकर प्रियदर्शन की 9 पुस्तकें प्रकाशित हो चुकी हैं।  सलमान रश्दी,  अरुंधति राय, तथा अन्य लेखकों की सात कृतियों का वे हिंदी में अनुवाद कर चुके हैं। विजेताओं की घोषणा अप्रैल के प्रथम सप्ताह में की जायेगी।  बाबू गौतम, सीहोर साहित्य सम्मान के संस्थापक, और साहित्यिक प्रकाशन कथाकानन के प्रेता हैं, और फिलहाल एफ डी सी एम एस्सेलवर्ल्ड गोरेवाड़ा ज़ू के व्यवस्थापक हैं। बाबू गौतम की हिंदी कहानियाँ हालाँकि भारतीय परंपराओं में उपजी होती हैं, पर कथ्य और शैली में हेमिंग्वे और रॉल्ड डाहल जैसे विश्वस्तरीय कहानीकारों के साथ रखी जा सकती हैं। उनकी अंग्रेजी कृतियों में उपन्यास ' डैडली इन्नोसेंट' ( संक्षिप्त संस्करण एंडी लीलू) और कहानी- संग्रह " मोहम्मद ए मेकैनिक एंड मैरी ए मेड" प्रमुख हैं। वे सीहोर गाँव के मूलनिवासी हैं। बाबू गौतम का मानना है कि 'हमारा भोजन हमें उतना हम नहीं बनाता है, जितना कि हमारा पठन। हम वही बनते हैं जो हम पढ़ते हैं।' उन्होंने अपने संसाधनों को हिंदी साहित्य के उत्थान में यह सोच कर समर्पित किया है कि 'अगर हमें अपने खोये हुए गौरव को हासिल करना है तो आर्थिक समृद्धि के साथ साथ साहित्यिक बुलंदियों को भी छूना होगा'। कविता- खंड के लिए भी निर्णायकों का चयन कर लिया गया है, प्रविष्टियाँ 15 जनवरी से स्वीकार की जाएँगी। कविता- खंड का प्रथम पुरस्कार 11000/ रुपये का होगा, जिसका नाम आधुनिक हिंदी कविता के सिरमौर मंगलेश डबराल की स्मृति में 'मंगलेश डबराल सम्मान' होगा। अधिक जानकारी के लिए व्हाट्सएप नंबर 9820506161पर संपर्क करें और अपनी रचनाएँ gautambl@yahoo.co.in इस  ईमेल पर रचनाएँ भेजें।

कोई टिप्पणी नहीं: