ऑस्ट्रेलिया की सधी हुई शुरुआत, स्टंप्स तक 166/2 - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 7 जनवरी 2021

ऑस्ट्रेलिया की सधी हुई शुरुआत, स्टंप्स तक 166/2

australia-good-start
सिडनी 07 जनवरी, मार्नस लाबुशेन (नाबाद 67) और पदार्पण मैच खेल रहे विल पुकोवस्की (62) के शानदार अर्धशतकों के दम पर ऑस्ट्रेलिया ने भारत के खिलाफ वर्षाबाधित तीसरे टेस्ट के पहले दिन गुरुवार को पहली पारी में दिन का खेल समाप्त होने तक 55 ओवर में दो विकेट के नुकसान पर 166 रन बना लिए। भारत की ओर से मोहम्मद सिराज और टेस्ट क्रिकेट में पदार्पण करने वाले नवदीप सैनी ने एक-एक विकेट लिया। ऑस्ट्रेलिया की ओर से लाबुशेन ने 149 गेंदों में आठ चौकों की मदद से नाबाद 67 रन बनाए जबकि पुकोवस्की ने 110 गेंदों का सामना करते हुए चार चौकों की मदद से 62 रन बनाए। स्टंप्स तक लाबुशेन 62 रन बनाकर जबकि स्टीवन स्मिथ 64 गेंदों में पांच शानदार चौकों की मदद से 31 रन बनाकर क्रीज पर मौजूद हैं। इससे पहले ऑस्ट्रेलिया के कप्तान टिम पेन ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया लेकिन मोहम्मद सिराज ने पारी के चौथे ओवर की तीसरी गेंद पर ओपनर डेविड वार्नर को स्लिप में चेतेश्वर पुजारा के हाथों कैच आउट कर छह रन के स्कोर पर मेजबान टीम को पहला झटका दिया। वार्नर आठ गेंदों में पांच रन बनाकर पवेलियन लौट गए। इसके बाद तीसरे नंबर पर बल्लेबाजी करने आए लाबुशेन ने पुकोवस्की का बखूबी साथ दिया और दोनों ने धीरे-धीरे खेलते हुए पारी को संभालते हुए टीम के स्कोर को आगे बढ़ाया। इस बीच, रुक-रुककर हो रही बारिश के कारण खेल कई बार रोकना पड़ा और पहले दिन केवल 55 ओवर का खेल ही हो सका। पुकोवस्की और लाबुशेन ने दूसरे विकेट के लिए 100 रन की शानदार साझेदारी की। भारत की ओर से टेस्ट क्रिकेट में पदार्पण कर रहे तेज गेंदबाज नवदीप सैनी ने पुकोवस्की को पगबाधा आउट कर इस साझेदारी को तोड़ा। पुकोवस्की ने 110 गेंदों का सामना करते हुए चार चौकों की मदद से 62 रन बनाए। पुकोवस्की को पारी में दो बार जीवनदान मिला। पहली बार 26 रन के निजी स्कोर पर पुकोवस्की का अश्विन की गेंद पर विकेटकीपर ऋषभ पंत ने एक बहुत ही आसान सा कैच छोड़ दिया जबकि दूसरी बार 32 रन के स्कोर पर सिराज की गेंद पर पंत ने ही पुकोवस्की को पवेलियन भेजने का एक और मौका गंवा दिया जोकि मेहमान टीम को भारी पड़ा।

कोई टिप्पणी नहीं: