बिहार : राजनीति में समाप्त हो रहा अनुशासन, धनकुबेरों की है पैठ : भक्त चरण दास - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 13 जनवरी 2021

बिहार : राजनीति में समाप्त हो रहा अनुशासन, धनकुबेरों की है पैठ : भक्त चरण दास

bhakt-charandas-warn-bihar-congress
पटना : बिहार कांग्रेस के प्रभारी भक्त चरण दास इन दिनों बिहार दौर पर हैं। कांग्रेस प्रभारी लगातार दल के नेताओं के साथ बैठक कर रहे हैं। इसी कड़ी में बैठक के दौरान भक्त चरण दास ने बागी नेताओं को कड़ी चेतावनी दी है। भक्त चरण दास ने बाजी नेताओं को लेकर कहा है कि हंगामा करने वाले कौन हैं, उनका क्या मकसद है उसकी जांच की जाएगी। पार्टी के खिलाफ बयान देने वाले को निकाला जाएगा। दरसअल जानकारी हो कि बिहार के सदाकत आश्रम में कांग्रेस नेताओं ने बैठक के दौरान एक दूसरे पर कुर्सियां चलाते हुए हंगामा किया था इसके बाद भक्त चरण दास ने उन नेताओं को कड़ी चेतावनी दी है साथ ही कहा है कि इस मसले को लेकर वह पार्टी आलाकमान को खत भी लिखेंगे। साथ ही उन्होंने कहा कि जो भी पार्टी के खिलाफ बयान देंगे वह उससे मुलाकात नहीं करेंगे। इसके बाद वह 31 जनवरी को वापस बिहार आएंगे। उनका यह दौरा 12 दिवसीय होगा। इसके अलावा उन्होंने कहा कि बिहार की धरती में 40 साल पहले मैं जहां हथियार रखने का औजार रखा करता था। पर बड़े बड़े-बड़े क्रांतिकारी मिलने और मुझसे बात करने के लिए आते थे। यहां पर सिर्फ बोलना चाहते हैं और बाधा डालेंगे तो यह बर्दाश्त नहीं करेंगे। वहीं भक्त चरणदास के बयान पर राजद नेता भाई बिरेंद्र ने अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि भक्त चरण दास को सोच समझकर बयान देना चाहिए। राजनीति में अनुसाशन समाप्त हो रहा है और यह सिर्फ बिहार में ही नहीं बल्कि पूरे देश में इस तरह की घटनाएं सामने आ रही हैं। उन्होनें कहा कि पहले संघर्ष करने वाले लोग राजनीति में आते थे अब राजनीति में धनकुबेरओं की पैठ है।

कोई टिप्पणी नहीं: