गया : शिक्षक संविधान के सभी मूल को छात्रों के बीच अच्छे से ज्ञान दें : डीएम - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

मंगलवार, 26 जनवरी 2021

गया : शिक्षक संविधान के सभी मूल को छात्रों के बीच अच्छे से ज्ञान दें : डीएम

गया :   72वें गणतंत्र दिवस के अवसर पर संग्रहालय गया में स्थित ऑडिटोरियम में आयोजित संध्याकालीन सांस्कृतिक कार्यक्रम काउद्घाटन जिला पदाधिकारी गया श्री अभिषेक सिंह द्वारा द्वीप प्रज्वलन कर किया गया। जिला पदाधिकारी ने कार्यक्रम में उपस्थित शिक्षक एवं छात्र -छात्राओं को संबोधित करते हुए कहा कि इस गणतंत्र दिवस के शुभ अवसर पर इस कार्यक्रम में भाग लेने वाले, इस कार्यक्रम के आयोजक एवं सभी व्यक्ति जो फेसबुक लाइव या कोई अन्य माध्यम से जुड़े हुए हैं उन सभी व्यक्तियों को जिला प्रशासन की ओर से गणतंत्र दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं दिया। उन्होंने कहा कि संविधान के रचयिता द्वारा जिन मूल्यों को खासकर सोशल जस्टिस, सामाजिक न्याय, सब की बराबरी और लोकतंत्र के जो मूल्य हैं, उसके बारे में रखा गया है और हम सब उसे याद करते हैं। उन्होंने बच्चों को कहा कि इस धरोहर को कैसे आगे ले जाना है। इसे अच्छी तरह अध्ययन करें। उन्होंने कहा कि गणतंत्र दिवस सिर्फ 1 दिन मनाते हैं लेकिन इसमें जो मूल है वह सालो भर, हर दिन हम सभी को याद रखने होंगे। उन्होंने सभी बच्चों को कहा कि यह एक्स्ट्राऑर्डिनरी का यह समय है कि सभी विद्यालय बंद है तथा कुछ अन्य स्थानों पर जो हायर क्लासेस है उनको प्रारंभ किए गए हैं। उन्होंने सभी शिक्षकों को कहा कि संविधान के सभी मूल को छात्रों के बीच अच्छे से ज्ञान दें।

उन्होंने कहा कि मार्च 2020 के बाद से काफी डिफिकल्ट रहा है पूरे विश्व के लिए, पूरे देश के लिए, गया ज़िला के लिए, बिहार के लिए, लेकिन जब मुश्किल समय आता है तो उसमें जज्बे का टेस्ट किया जाता है। और काफी खुशी हुआ कि गया जिले के सभी लोगों ने चाहे वह हेल्थ वर्कर हो, चाहे वह पुलिसकर्मी हो, चाहे प्रशासन से जुड़े पदाधिकारी या कर्मी हो, चाहे आईसीडीएस से हो, प्राइवेट डॉक्टर हो या फिर आम नागरिक हो, *सभी ने ऐसी विपरीत सिचुएशन में जिस तरह से रिस्पॉन्ड किया है, जो दिखाया है, वह दिखता है कि लोकतंत्र की, गणतंत्र की, जनतंत्र की नीव कितनी मजबूत है। आज विश्व में बड़े-बड़े देश कोविड-19 महामारी का मुकाबला नहीं कर पाए। उसमें हमारे भारत देश ने अलग मिसाल उदाहरण प्रस्तुत किया है और *बिहार ने पूरे देश में अलग मिसाल प्रस्तुत किया है।* उन्होंने कहा कि कोरोना का लड़ाई अभी खत्म नहीं हुआ है। यह लड़ाई जब तक हर व्यक्ति को टीका नहीं लग जाता है तब तक लड़ाई चलती रहेगी। उन्होंने गया वासियों से अनुरोध किया कि टीकाकरण का कार्य शुरू हो चुका है। अगर हम अपने आप को राष्ट्रभक्त समझते हैं, राष्ट्रभक्ति में विश्वास करते हैं तो यह हमारे लिए अपने वैज्ञानिकों द्वारा टीका बनाया गया है। जो एक नेशनल मानकों पर खरा उतरा है। उसके प्रति भी वही श्रद्धा, वही विश्वसनीयता हम लोगों को दिखाने पड़ेगी और आगे आकर ना केवल अपनी सुरक्षा के लिए बल्कि अपने परिवार के सुरक्षा के लिए और आसपास के लोगों की सुरक्षा के लिए उस टीकाकरण में बढ़-चढ़कर भाग लेने का काम करेंगे। टीकाकरण के अगले फेज में राजस्व कर्मी, पुलिसकर्मी, फायर विभाग एवं अन्य लोगों को टीकाकरण का कार्य किया जाएगा। उन्होंने उम्मीद जताया कि अगले फेज में जिस तरह से लॉकडाउन के समय में सबसे आगे रहकर अपने कर्तव्यों का निर्वहन किया है। उन सभी को टिका दिया जाएगा। उन्होंने आशा जताया की टीकाकरण के अगले फ़ेज में उसमें भी गया जिले के लोगों का भरपूर समर्थन मिलेगा। उन्होंने लोगों को कहा कि सभी व्यक्ति बेसिक प्रिकॉशन अनिवार्य रूप से लेंगे। चाहे वह मास्क लगाना हो, 2 गज की दूरी पर रहना हो या सैनिटाइजर का उपयोग करना हो। उसमें कोई व्यक्ति कोताही नहीं करेंगे।  उन्होंने कहा कि दो टीका के बीच 28 दिन का अंतर है। दोनों टीका का डोज लेना बेहद जरूरी है। और उसके 14 दिनों के बाद टीका लेने वाले  व्यक्ति में एंटीबॉडीज डिवेलप होते हैं। उन्होंने कहा कि घरों में अपने परिवारों को प्रोत्साहित करें। उन्होंने गया जिला वासियों से अनुरोध किया कि टीकाकरण कार्यक्रम में गया वासी बढ़-चढ़कर भाग ले।


गणतंत्र दिवस के उपलक्ष्य पर दिनांक 23 जनवरी 2021 को प्लस टू जिला स्कूल गया के प्रांगण में भाषण एवं निबंध प्रतियोगिता आयोजित किया गया था। आज गणतंत्र दिवस के अवसर पर भाषण प्रतियोगिता में प्रथम स्थान प्राप्त करने वाले शताब्दी पब्लिक स्कूल गया के सदफ परवीन, द्वितीय स्थान प्राप्त करने वाले ब्रिटिश इंग्लिश स्कूल मानपुर गया के ऋतिक रौनक एवं प्लस टू जिला स्कूल गया के अमन कुमार, तृतीय स्थान प्राप्त करने वाले उच्च विद्यालय फुरहुरिया परैया के सुमन कुमारी, सांत्वना पुरस्कार के रूप में राजकीय कन्या प्लस टू रमना गया के लक्ष्मी कुमारी,  राजकीय कन्या प्लस टू रामना विद्यालय के प्रियंका कुमारी एवं प्लस टू जिला स्कूल गया के सनी कुमार को प्रशस्ति पत्र एवं मैडल जिला पदाधिकारी द्वारा प्रदान किया गया। निबंध प्रतियोगिता में प्रथम स्थान प्राप्त करने वाले राजकीय उत्क्रमित माध्यमिक विद्यालय गौरी कन्या मानपुर के विद्या माला, द्वितीय स्थान प्राप्त करने वाले प्लस टू जिला स्कूल गया के सौरभ कुमार एवं लोयला कान्वेंट चाकन्द गया विद्यालय के शिवम कुमार, तृतीय स्थान प्राप्त करने वाले उत्क्रमित माध्यमिक विद्यालय श्यामनगर नीमा आमस गया के अंकित कुमार तथा सांत्वना पुरस्कार के रुप में ब्रिटिश इंग्लिश स्कूल मानपुर गया के बसु कुमार, प्लस टू जिला स्कूल गया के अनंत कुमार तथा श्याम बाबू प्लस टू उच्च विद्यालय सन्यास आश्रम मानपुर गया के आर्यन कुमार को प्रशस्ति पत्र एवं मैडल जिला पदाधिकारी द्वारा प्रदान किया गया। इसके उपरांत आज के कार्यक्रम में दया प्रकाश सरस्वती विद्या मंदिर माड़नपुर विद्यालय के छात्रों द्वारा वंदना (मंगल गान) की प्रस्तुति की गई। राजकीय कन्या प्लस टू उच्च विद्यालय रमना की छात्रा द्वारा सामूहिक गान की प्रस्तुति की गई। प्रो० कन्या प्लस टू शेरघाटी गया विद्यालय के छात्रा द्वारा एकल नृत्य,  केंद्रीय विद्यालय नंबर-01 गया विद्यालय के छात्रों द्वारा सामूहिक गान, उत्क्रमित उच्च विद्यालय नकनुप्पा शेरघाटी द्वारा एकल गान, दया प्रकाश सरस्वती विद्या मंदिर माड़नपुर गया के छात्रों द्वारा सामूहिक गान, रामरूची प्लस टू बालिका उच्च विद्यालय गया के छात्रों द्वारा सामूहिक नृत्य, मानव भारती नेशनल पब्लिक स्कूल गया के छात्रों द्वारा कत्थक आधारित एकल नृत्य, अनुग्रह कन्या प्लस टू उच्च विद्यालय गया के छात्रों द्वारा सामूहिक गान, प्रो० कन्या प्लस टू शेरघाटी गया विद्यालय के छात्रों द्वारा सामूहिक गान तथा रामरूची प्लस टू बालिका उच्च विद्यालय के छात्राओं द्वारा सामूहिक नृत्य की प्रस्तुति दी गई।

कोई टिप्पणी नहीं: