परीक्षा केंद्र में कोई भी परीक्षार्थी या वीक्षक मोबाइल फोन लेकर नहीं जाएंगे - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शुक्रवार, 29 जनवरी 2021

परीक्षा केंद्र में कोई भी परीक्षार्थी या वीक्षक मोबाइल फोन लेकर नहीं जाएंगे

inter-exam-guideline
मुजफ्फरपुर। कदाचारमुक्त एवं शांतिपूर्ण इंटर परीक्षा संचालन को लेकर जिलाधिकारी मुजफ्फरपुर ने स्थानीय सिकंदरपुर स्टेडियम के मैदान में प्रतिनियुक्त दंडाधिकारियों, पुलिस अधिकारियों एवं केंद्राधीक्षक को संयुक्त रूप से  ब्रीफिंग करते हुए कहा कि बिहार विद्यालय परीक्षा समिति पटना द्वारा संचालित इंटरमीडिएट परीक्षा 2021 जिले के 62 परीक्षा केंद्रों पर दिनांक 01.02.2021 से प्रारंभ होकर 13.02.2021 तक दो पालियो में यथा:- प्रथम पाली 9:30 पूर्वाहन से  12:45 बजे अपराहन तक तथा द्वितीय पाली 1:45 बजे अपराहन से 5:00 अपराह्न तक चलेगी।  गश्ती दल के दंडाधिकारी अपने साथ टैग किये गए परीक्षा केंद्रों के निरीक्षण के क्रम में यह भी सुनिश्चित करेंगे कि  केंद्राधीक्षक एवं परीक्षा केंद्र पर प्रतिनियुक्त स्टैटिक दंडाधिकारी /पुलिस पदाधिकारी अपने दायित्वों का निर्वहन समिति के निदेशों के आलोक में सख्ती से करे। परीक्षा केंद्रों के परिभ्रमण के दौरान यदि कोई छात्र/ छात्रा/ अभिभावक/ वीक्षक/ शिक्षक/ प्राध्यापक या कोई भी व्यक्ति स्वच्छ एवं कदाचार रहित वातावरण में परीक्षा संचालन में व्यवधान करते पाए जाएं अथवा किसी तरह के कदाचार में लिप्त हो तो  गश्ती दल के प्रभारी दंडाधिकारी वैसे व्यक्तियों के विरुद्ध बिहार परीक्षा संचालन अधिनियम 1981 के अंतर्गत कार्रवाई कर तत्संबंधी प्रतिवेदन समर्पित करेंगे।  अनुमंडल दंडाधिकारी परीक्षा केंद्रों के 200 मीटर की परिधि में दंड प्रक्रिया संहिता की धारा 144 के अंतर्गत निषेधाज्ञा लागू करेंगे। किसी भी परिस्थिति में 200 मीटर की परिधि में कोई भी अनाधिकृत व्यक्ति नहीं रहेगा । यदि किसी व्यक्ति द्वारा इसका उल्लंघन किया जाता है तो उन्हें गिरफ्तार कर उन पर आर्थिक दंड लगाया जायेगा। परीक्षा केंद्र के 200 मीटर की परिधि में फोटोस्टेट, चाय, पान दुकान ,किताब की दुकान परीक्षा केंद्र परीक्षा के दौरान बंद रहेगी। किसी भी परीक्षार्थी के पास मोबाइल पाया जाता है तो संबंधित  वीक्षक के विरुद्ध कार्रवाई की जाएगी। 


वीक्षक को भी मोबाइल रखने की अनुमति नहीं होगी। कदाचार मुक्त परीक्षा संपन्न कराने के संबंध में परीक्षा केंद्र पर विद्यालय के बाहर ब्लैक बोर्ड पर आवश्यक सूचना केंद्राधीक्षक द्वारा अंकित कराया जाएगा। परीक्षा के दिन सभी पदाधिकारी, सभी अनुमंडल पदाधिकारी ,सभी अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी, सभी थानाध्यक्ष एवं सभी जिला कार्यक्रम पदाधिकारी शिक्षा विभाग क्षेत्र में  भ्रमणशील रहेंगे एवं कदाचार मुक्त परीक्षा संपन्न कराएंगे। गश्ती दल के प्रभारी अधिकारी परीक्षा समाप्ति के पश्चात अपने साथ संबंध परीक्षा केंद्रों पर कदाचार मुक्त परीक्षा संपन्न होने तथा की गई कार्रवाई तथा परीक्षार्थियों के निष्कासन, बिहार परीक्षा संचालन अधिनियम -1981 के अंतर्गत की गई गिरफ्तारी के संबंध में प्रतिवेदन संध्या 6:00 तक  जिला गोपनीय शाखा एवं अनुमंडल अधिकारी को समर्पित करेंगे। प्रत्येक परीक्षा केंद्र के बाहर एवं आवश्यक स्थानों पर सीसीटीवी लगाया जा रहा है एवम्  वीडियोग्राफी भी कराई  जाएगी। कदाचार मुक्त परीक्षा में बाधा डालने वाले असामाजिक तत्व कैमरे की नजर में रहेंगे।  सभी सीसीटीवी कैमरा की निगरानी में रहेंगे। वीडियोग्राफी भी कराई जाएगी। जूता मोजा पहन कर परीक्षा केंद्र पर प्रवेश करना वर्जित रहेगा चप्पल की अनुमति होगी। किसी भी प्रकार के इलेक्ट्रॉनिक उपकरण मोबाइल पगों, मोबाइल ब्लूटूथ ,पेजर,  कैलकुलेटर आदि रखने को अनुमति नहीं है। परीक्षा केंद्र परिसर में परीक्षा अवधि में मीडिया कर्मियों का प्रवेश पूर्णता वर्जित होगा। परीक्षा केंद्र में कोई भी परीक्षार्थी या वीक्षक  मोबाइल फोन लेकर नहीं जाएंगे। किसी भी परीक्षार्थी को परीक्षा कक्ष छोड़ने की अनुमति नहीं दी जाएगी जब तक कि उस प्रश्नपत्र की परीक्षा समाप्त नहीं हो जाती है। कोविड-19 के ध्यान में रखते हुए परीक्षार्थी मास्क लगाकर एवं हाथ को सैनिटाइज कर ही परीक्षा केंद्र पर उपस्थित होंगे। इस अवसर पर विशेष आवांछिनीय  स्थिति से निपटने के लिए जिला नियंत्रण कक्ष की स्थापना स्थानीय पी आईआर में की गई है जिसका दूरभाष नंबर 0621- 2212377 2216275 है। नियंत्रण कक्ष के वरीय प्रभारी श्री अशोक कुमार अपर समाहर्ता जिला लोक शिकायत निवारण पदाधिकारी रहेंगे। सिविल सर्जन मुजफ्फरपुर, जिला अग्निशमन पदाधिकारी पुलिस उपाधीक्षक यातायात सभी को इसके लिए आवश्यक निर्देश दिया गया है। अनुमंडल पदाधिकारी पूर्वी/ पश्चिम, सभी पुलिस उपाधीक्षक अपने-अपने क्षेत्र में विधि व्यवस्था के संपूर्ण प्रभार में रहेंगे। श्री राजेश कुमार अपर समाहर्ता अपर जिला दंडाधिकारी तथा बैजनाथ सिंह पुलिस उपाधीक्षक मुख्यालय परीक्षा के दौरान विधि व्यवस्था के वरीय प्रभार में रहेंगे। वही अपर समाहर्ता आपदा को इस परीक्षा का नोडल अधिकारी बनाया गया है।  शांतिपूर्ण व कदाचार मुक्त परीक्षा के आयोजन हेतु 138 स्टैटिक दंडाधिकारियों की प्रतिनयु की गई है। बड़े पैमाने पर पुलिस बल और पुलिस अधिकारियों की भी प्रतिनियुक्ति की गई है। 18 गस्ती दंडाधिकारी बनाये गए हैं जबकि 06 उड़नदस्ता दंडाधिकारी भी बनाए गए हैं। वहीं सुपर उड़नदस्ता के रूप में जिला पंचायती राज पदाधिकारी मोहम्मद फैयाज अख्तर, डीआरडीए निदेशक चंदन चौहान और  जिला भू अर्जन पदाधिकारी मोहम्मद उमैर की प्रतिनियुक्ति की गई है।

कोई टिप्पणी नहीं: