बिहार : फादर अगस्टीन एम्ब्रोस नहीं रहे - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 17 जनवरी 2021

बिहार : फादर अगस्टीन एम्ब्रोस नहीं रहे

father-augestine-passes-away
पटना. दीघा में स्थित एक्सटीटीआई में जेवियर भवन है.यहां पर येसु समाज में 60 साल पूरा करने के बाद रखा जाता है.एक तरह से जेसुइट प्रिस्टों का ऑल्ड एज हॉम है.यहां पर बेतिया स्थित ख्रीस्त राजा हाई स्कूल (के.आर.) के पूर्व हेडमास्टर फादर अगस्टीन एम्ब्रोस रहते थे.जिनका निधन शनिवार को हो गया था.आज रविवार को एक्सटीटीआई परिसर में स्थित कब्रिस्तान में ईसाई धर्मरीति के अनुसार दफन कर दिया गया.  वयाेवृद्ध फादर अगस्टीन एम्ब्रोस का निधन हो गया. अंतिम सांस जेसुइट ऑल्ड एज हॉम,एक्सटीटीआई में ली.वे 87 साल के थे. उनका 15 नवम्बर 1933 को जन्म तमिलनाडु में हुआ था.जब वे 29 साल के थे,तब विश्वविख्यात 'येसु समाज' में 13 जुलाई 1962 में प्रवेश किये. जब 38 साल हुए थे तो उनका 28 मार्च 1971को पुरोहिताभिषेक हुआ. अंतिम व्रत 15 अगस्त 1977 को लिये.येसु समाजी के रूप में 58 साल कार्य किये. वे 49 साल पुरोहित के रूप में कार्य किया. इस बीच के.आर. हाई स्कूल, बेतिया के हेडमास्टर रहे। वे उक्त स्कूल में दो बार प्रधानाध्यापक बने। प्रथम बार 1972-75 तक और द्वितीय बार 1988-1990 कार्यसेवा पर थे। उनका दफन आज 17 जनवरी 2021 को दिन रविवार को 3:00 बजे से हुआ.अंतिम संस्कार एक्सटीटीआई में हुआ.यू ट्यूब पर प्रसारण हुआ. पटना महाधर्मप्रांत के आर्च बिशप सेवेस्टियन कल्लुपुरा ने पवित्र मिस्सा अर्पित किया.फादर सुशय राज ने अंतिम प्रार्थना करके वयोवृद्ध फादर अगस्टीन एब्रोस को कब्र में रखने की प्रक्रिया शुरू किये.इस अवसर फादर के शिष्य श्रीधर उपस्थित रहे.

कोई टिप्पणी नहीं: