मधुबनी : गूंगी लड़की के बलात्कर की माले ने की जांच, सरकार से इन्साफ की मांग - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 14 जनवरी 2021

मधुबनी : गूंगी लड़की के बलात्कर की माले ने की जांच, सरकार से इन्साफ की मांग

  • हरलाखी थाना क्षेत्र में गूंगी लड़की के साथ घटी दरिंदगीपूर्ण बलात्कर वह दोनों आंखें फोड़ देने की घटना पर माले जांच टीम की रिपोर्ट।:
  • 13 जनवरी को शाम में हिसार बरही गांव में गयी थी जांच टीम, दरिंदें बलात्कारी व अखफोड़वा को स्पिडी ट्रायल कराकर, कठोर सजा दिलाया जाय।
  • पिड़िता को जिवन यापन लायक मीले प्रर्याप्त मुआवजा, दारु शराब माफिया पर हो कठोर कार्रवाई, पिड़ित परिवार व गवाह को मिले उचित सुरक्षा।

 

cpi-ml-demand-justice-for-handicap-rape-victime
मधुबनी, 14 जनवरी, हरलाखी क्षेत्र में गूंगी वह अत्यंत गरीब की 16 बर्षीय लड़की के बलात्कार के बाद दोनों आंखें फोड़ने की दरिंदगीपूर्ण घटना की जानकारी के बाद भाकपा-माले के जिला सचिव ध्रुब नारायण कर्ण के नेतृत्व में माले का सात सदस्यीय जांच टीम, जिसमें शामिल थे बेनीपट्टी माले अनुमंडल प्रभारी अनिल कुमार सिंह, हरलाखी प्रखंड माले सचिव मदन चंद्र झा,खेत व ग्रामीण मजदूर सभा (खेग्रामस) के जिला सचिव बेचन राम, बेनीपट्टी प्रखंड माले सचिव श्याम पंडित, हरलाखी प्रखंड के ही बद्री सदाय,जय किशोर साह हरलाखी थाना क्षेत्र के हिसार बरही गांव पहुंच कर घटना की जानकारी ली। माले जांच टीम पहूचने के बाद पिड़िता के घर पर पिड़िता की बड़ी बहन के अलावा लगभग एक दर्जन स्थानिय लोगों से जांच टीम ने पूछ ताछ किया। पूछ ताछ में लोगों ने बताया कि 12 जनवरी के अपराह्न् में गूगी 16 बर्षीय बच्ची बकरी के लिए चारा यानि हरा पत्ता बाध की तरफ लाने गई थी। काफी बिलंब होने के बाद खोजबीन हूई तो वह बधार में बेहोशी की हालत में मिली। वहीं पर उसका फटा कपड़े के साथ साथ दो खून लगा लकड़ी भी मिला। जिस लकड़ी से पिड़िता की दोनों आंखें फोड़ी गई थी।घटना स्थल से कुछ दूरी पर स्थानिय महिलाओं ने  गांव के ही एक लड़का लक्ष्मी मुखिया को देखा था, जिसके कपड़ा में माटी और खून का छिंटा लगा हुआ था।इसी आधार पर पिड़िता के भाई के ब्यान पर मुकदमा किया गया । लक्ष्मी मुखिया की गिरफ्तारी व उससे पूछताछ के बाद दो और कृष्णा मुखिया गांव,बरही एवं राम अवतार मुखिया की गिरफ्तारी हुई है। पिड़िता अभी दरभंगा में डी एम सी एच में भर्ती है, जहां उसकी ईलाज चल रही है। स्थानिय दर्जन भर महिला पुरुषों ने जांच टीम को बताया कि इस गांव में धरल्ले से दारु शराब का कारोबार होता है। पुलिस प्रशासन दारु शराब के अबैध कारोबारी और पियक्कड़ पर कोई कार्रवाई नहीं करती है। चौकीदार तक भी घूर के देखने नहीं आता है। इस तरह के  बलात्कार व आंखें फोड़ने की निर्मम घटना के पीछे दारु शराब को भी जिम्मेवार ठहराया है। साथ ही बलात्कारीयो को फांसी देने की मांग को भी जांच टीम के सामने रखा है।पिड़िता की जीवन यापन लायक मुआवजा और पिड़ित परिवार और गवाहों की सुरक्षा की भी मांग कर रहे थे।

कोई टिप्पणी नहीं: