मधुबनी : इप्टा की जिला इकाई ने कृषि कानून के खिलाफ अभियान चलाया - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 14 जनवरी 2021

मधुबनी : इप्टा की जिला इकाई ने कृषि कानून के खिलाफ अभियान चलाया

madhubani-ipta-protest-for-farmer-bill
मधुबनी (आर्यावर्त संवाददाता) भारतीय जननाट्य संघ इप्टा मधुबनी इकाई द्वारा दिनांक 13 ज़नवरी को 4 बजे संध्या में तीनो कृषि कानून के खिलाफ एक अभियान चलाया गया, इसके तहत जनगीत, कविता और संवाद के द्वारा यह संदेश दिया गया कि किसान अन्नदाता है।हल ही है ओजार हमारा , हल से ही हल निकलेगा। जैसे नारो के साथ एक शांतिपूर्ण सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित हूआ। इस कार्यक्रम का नेतृत्व करते हुए सचिव अर्जुन राय ने कहा कृषि देश के लगभग 70 प्रतिशत लोगो के लिए जीविका का साधन  है।ऐसे में किसानों को बंधुआ मजदूर बनाने की साजिश रची जा रही है।कार्यक्रम को संबोधित करते हुए बिहार इप्टा के सचिव इन्द्र भूषण रमण ने कहा की किसानो की मांग जायज हैं सरकार जब तक किसान भाईयों की मांग मान नहीं लेती, तब तक हम सभी सांसकृतिक कर्मी भी किसान आंदोलन में अपनी सहभागिता देते रहेंगे, इस एक दिवसिय आयोजन में रौशन  रौनक, रंजीत राय, मिथिलेश मैथिल, श्री प्रसाद दास, अभिषेक आकाश, धिरज मिश्रा, पूजा कुमारी, खुसबू झा, मालविका, प्रभात रंजन, चन्दा भांडारी, आशिष, राकेश, राहुल व कृष्णा की अहम भुमिका रही

कोई टिप्पणी नहीं: