बिहार : अपराध का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शनिवार, 30 जनवरी 2021

बिहार : अपराध का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है

kidnapping-crime-in-bihar
पटना. बिहार में अपराध का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है. रोज हत्या, बलात्कार, चोरी,अपहरण जैसे मामले सामने आ रहें है.इस समय खबर मनेर से आ रही है जहां दो व्यक्ति का अपहरण कर लिया गया है. अपहरण की घटना दो अलग अलग जगह से हुई है. एक व्यक्ति का अपहरण मनेर के रामपुर से हुई तो दूसरे व्यक्ति का अपहरण मनेर बस्ती से कर लिया गया. चंद रुपयों के लिये बिहार में अपहरण जैसी घटना अब आम सी बात हो गई.वही पटना से सटे मनेर थाना क्षेत्र से बड़ी खबर सामने आ रही है,जहाँ एक युवक का अपहरण होने का मामला सामने आया है.अपहरण का मामला मनेर थाना में दर्ज की गई है.वही युवक का पहचान रामपुर दियारा निवासी माता दीपा देवी पिता स्व संजय सिंह के पुत्र सोनू कुमार उर्फ आलोक के रूप में किया जा रहा है.और उसकी मां दीपा देवी ने सत्यदेव सिंह, विशाल सिंह, हरेंद्र सिंह पर आरोप लगाते हुए कहा कि हमारे बेटे को इनलोगों ने बुलाकर गाँव के ही पश्चिमी मुर्गी फार्म पर ले गए और उसके बाद हम से 12:00 तक फोन पर बातचीत हुई उसके बाद बातचीत नहीं हुई इन लोगों से जब पूछा गया तो उन्होंने बताया कि हमने घर जाने के रास्ते में छोड़ दिया था. लेकिन युवक एक ग्यारह तारीख से आज तक घर नहीं पहुंचा है.मनेर थाना में लिखित शिकायत दर्ज कराते हुए तीनों को आरोपी बनाया है.और अपने बेटे के अपहरण का मामला दर्ज करवाया है. फिलहाल पुलिस इस मामले में छानबीन में जुटी हुई है.कुछ आरोपियों को भी हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है.वहीं यह भी कयास लगाया जा रहा है. कि गंगा नदी में कहीं वह डूब गया हो और उसके लिए भी पुलिस एनडीआरएफ से बात की है.और कल इंडिया टीम को भी लगा कर उसके शव की खोजबीन की जाएगी जल्द ही मामले को उदभेदन कर दिया जायेगा. बताते चलें कि दूसरे अपहरण मनेर के काजी मोहल्ला निवासी हरिनारायण विश्वकर्मा का 30 वर्षीय पुत्र रजनीश कुमार 14 जनवरी से लापता है.जिस बाबत हरिनारायण विश्वकर्मा ने मनेर थाना में अपहरण का मामला दर्ज कराया। आज 7 दिन गुजर जाने के बाद भी अपहरणकर्ता खुलेआम घूम रहे हैं.वहीं अपहृत युवक का कोई सुराग नहीं मिल पाया है. वहीं रामपुर दियारा क्षेत्र से सोनू सिंह नाम का युवक 11 जनवरी से लापता है.जिसके बाबत सोनू सिंह की मां दीपा देवी ने मनेर थाना में अपहरण का मामला दर्ज कराया है.पुलिस कार्रवाई के नाम पर सिर्फ खानापूर्ति करती है.फिर भी दोनों युवक रजनीश और सोनू का कहीं अता पता नहीं चल पाया है और पुलिस भी मामले को उद्भेदन करने में अब तक असफल रही है इधर रजनीश के माता-पिता का रो-रो कर बुरा बुरा हाल है.वही सोनू सिंह की मां दीपा देवी भी दिन रात रोते रह रही हैं और दरवाजे पर बैठकर अपने लाडले की बाट जो रही है.इसे पुलिस की लापरवाही या ना कामयाबी का समझ से पड़े है.जबकि दोनों दर्ज कराए गए प्राथमिकी में नामजद अभियुक्त बनाए गए हैं। वही दोनों अपहरण युवक की बरामद नहीं होने से परिजनों में दहशत का माहौल है. लोगों में तरह-तरह की चर्चाएं चल रही है.दोनों अपहरण युवकों के परिजनों ने प्रशासन से मांग किया है कि जल्द से जल्द दोनों सहकुशल युवक को बरामद किया जाए.अब देखना होगा कि कब तक दोनों युवकों को मनेर पुलिस बरामद कर पाती है.  गौरतलब है कि कुछ दिनों पहले ही नौबतपुर से अगवा हुए चावल कारोबारी राकेश गुप्ता और उनके भाई अमित गुप्ता के बारे में भी पुलिस को अभी तक कोई जानकारी नहीं है. अपरहण की इन बढ़ती घटनाओं ने पुलिस की चिंताएं बढ़ा दी हैं. इसके साथ ही पटना में इंडिगो स्टेशन मैनेजर की हत्या ने पुलिस का कार्यप्रणाली पर पहले ही सवालिया निशान लगाए हैं.

कोई टिप्पणी नहीं: