भारत का पहला श्रमिक आंदोलन संग्रहालय केरल में - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 17 जनवरी 2021

भारत का पहला श्रमिक आंदोलन संग्रहालय केरल में

india's-first-agriculture-museum
कोच्चि, 17 जनवरी, विश्व श्रमिक आंदोलन के इतिहास को दर्शाने वाला देश का पहला श्रमिक आंदोलन संग्रहालय केरल के अलाप्पुझा में शुरू किया जाएगा। राज्य के पर्यटन विभाग ने रविवार को कहा कि संग्रहालय में बड़ी संख्या में वे दस्तावेज एवं चीजें प्रदर्शित होंगी जिसने महाद्वीपों में श्रमिक आंदोलनों को आकार दिया और देश विशेष रूप से केरल में श्रमिक आंदोलन के उद्गम स्थल अलाप्पुझा को प्रभावित किया। विभाग ने एक विज्ञप्ति में कहा कि पोर्ट व कॉयर संग्रहालयों के पास में ‘लेबर मूवमेंट म्युजियम’ इस वर्ग के संघर्ष और श्रमिकों के संघर्ष को प्रदर्शित करने वाला ऐसा पहला प्रयास होगा। यह पर्यटकों को आकर्षित करने की एक व्यापक परियोजना का भी हिस्सा होगा। संग्रहालय को एलडीएफ सरकार के दूसरे 100-दिवसीय कार्यक्रम के हिस्से के तौर पर शुरू किया जाएगा। विभाग ने कहा, ‘‘पूर्व में बॉम्बे कंपनी द्वारा संचालित ‘न्यू मॉडल कोऑपरेटिव सोसायटी लिमिटेड’ को ‘लेबर मूवमेंट म्यूजियम’ में तब्दील किया गया है। विभाग ने कहा कि यह चित्रों, दस्तावेजों और अन्य प्रदर्शनों के माध्यम से विश्व श्रमिक आंदोलन और केरल के श्रमिक आंदोलन के इतिहास को चित्रित करेगा।

कोई टिप्पणी नहीं: