मरङ गोमके जयपाल सिंह मुंडा युवाओं के प्रेरणास्रोत : हेमंत सोरन - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 3 जनवरी 2021

मरङ गोमके जयपाल सिंह मुंडा युवाओं के प्रेरणास्रोत : हेमंत सोरन

jaypal-singh-munda-ideal-hemant-soren
रांची, 03 जनवरी, झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरन ने आज मरङ गोमके जयपाल सिंह मुंडा की जयंती पर उन्हें नमन कर कहा कि वह युवाओं के प्रेरणास्रोत हैं। श्री सोरेन ने रविवार को यहां मुख्यमंत्री आवास में मरङ गोमके जयपाल सिंह मुंडा की 118वीं जयंती के अवसर पर उनकी तस्वीर पर पुष्पांजलि अर्पित कर उन्हें नमन किया। उन्होंने कहा कि मरङ गोमके जयपाल सिंह मुंडा ने संविधान निर्माण में अहम भूमिका निभायी। राज्य के ऐसे सपूत पर उन्हें गर्व है, जिन्होंने देश और दुनिया में झारखंड की अलग पहचान बनाई। वह युवाओं के प्रेरणास्रोत हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि अंतरराष्ट्रीय हॉकी में श्री मुंडा की कप्तानी में 1928 के ओलिंपिक में भारत ने पहला स्वर्ण पदक प्राप्त किया। उन्होंने हॉकी के क्षेत्र में पूरे विश्व में देश को अलग पहचान दिलायी। वे संविधान सभा के सदस्य रहे और झारखंड आंदोलन की नींव रखी। वे एक जाने-माने राजनीतिज्ञ, लेखक, शिक्षाविद् एवं प्रसिद्ध हॉकी खिलाड़ी थे। श्री मुंडा वर्ष 1925 में ‘ऑक्सफोर्ड ब्लू’ का खिताब पाने वाले हॉकी के एकमात्र अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ी थे। श्री सोरेन ने कहा, "आज हम सभी को उनके आदर्शों और दिखाए मार्ग पर चलने की जरूरत है। मरङ गोमके जयपाल सिंह मुंडा आज भी राज्य एवं देश के युवाओं के लिए प्रेरणास्रोत हैं।

कोई टिप्पणी नहीं: