झाबुआ (मध्यप्रदेश) की खबर 07 जनवरी - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शुक्रवार, 8 जनवरी 2021

झाबुआ (मध्यप्रदेश) की खबर 07 जनवरी

बर्ड फ्लु कि आंशका से पारा क्षेत्र मे दहशत


jhabua news
पारा।देश भर मे जगह जगह से आरही बर्ड फ्लु कि खबरो के चलते पारा नगर के समिपस्थ ग्राम रातिमाली मे आज सूबह एक कबुतर के तडप तडप के दम तोडने के बाद रातिमाली क्षेत्र के लोगो मे भी बर्ड फ्लु के होने कि दहशत हे। आज सुबह करिब साढे आठ बजे के लगभग रातिमाली के एक किसान ने सडक के किनारे एक कबुतर को तडप तडप कर दम तोडते देख कर तत्काल पशु चिकित्सालय के चिकित्सक को सुचना दी कि ग्राम रातिमाली मे सामुदायीक स्वास्थ्य केन्द्र पारा से कुछ ही दुरी पर एक सडक के किनारे एक कबुतर तडप रहा हे। उक्त आशय कि सुचना मिलते ही पशु चिकितसालय पारा के चिकित्सक डाॅ अश्विन चैहान ने अपने सहायक के साथ मोके पर पहुचे तब तक कबुतर मोत हो गई थी। घटना स्थल का मुआयना करने के बाद पशु चिकित्सक ने उक्त पंक्षी को एक पोलिथिन कि थेली मे भर कर सुरक्षित जगह पर जमीन मे गडवा दिया। इस बाबत जब पशु चिकित्सक से बात कि तो उन्होने बताया कि वर्तमान मे झाबुआ जिले मे बड्र फ्लु जेसी कोई बात नही हे। वर्तमान मे यह बिमारी ज्यादातर कोवो मे फेली हे ज्यादा मात्रा मे कोवे कि मोत होरही हे। अन्य पक्षियो मे यह लक्षण नही हे। रातिमाली मे कबुतर का मरना संयोग मात्र हे। जिस जगह कबुतर ने दम तोडा उसके पास बिजली का पोल हे होसकता हे कि करंट लगने से उसकी मोत हुई हो। फिरभी हमने एहतियात के तोर पर उक्त पक्षि को प्लास्टीक के थेली मे रख कर जमीन मे गडवाया हे। वरिष्ठ अधिकारीयो को इसकी सुचना दी गई हे। वहा से मिले निर्दैश के अनुसार अगली कारवाही करेगे।


जल जीवन मिशन के अंतर्गत, सांसद ने किया पारा क्षेत्र के आठ गाँवो मे 11 करोड की नल जल योजना का भूमि पूजन


jhabua news
पारा। झाबुआ अलिराजपुर रतलाम क्षेत्र के सांसद ने जल जीवन मिशन योजना के अर्तगत पारा क्षेत्र के आठ गांवो मे करिब 11 करोड 43 लाख कि नल जल योजना का भुमि पुजन किया। जिससे क्षेत्र कि जनता को पेयजल  क्षेत्रिय सांसद गुमानसिह डामोर भाजपा जिला अध्यक्ष लक्ष्मणसिंह नायक रामा जनदपद अध्यक्ष राधुसिह भुरिया पारा मंडल अध्यक्ष सज्जनसिंह अमलियार ने ग्राम सागिया कलमोडा सेमलखेड़ी आम्बा (पिथनपुर) तथा छापरी खरडू गोमला में जल जीवन मिशन के अंतर्गत कुल 11 करोड 43 लाख़ की लागत वाली नल जल योजना का भुमि पुजन किया। सांसद ने इन सभी ग्राम वासियो को बधाई देते हुए झाबुआ के प्रत्येक गांव में इस योजना का शीघ्र लाभ दिलाने की बात कही। डामोर ने आने वाले पंचायत चुनावों के समय भाजपा उम्मीदारों को जिताने की बात कही। मण्डल अध्यक्ष सज्ज्न सिंह अमलियार की अध्यक्षता में हुए इस कार्यक्रम में जिला मंत्री भाजपा व पलासड़ी सरपंच सरदार सिंह डावर, भाजपा नेता सोमसिंह सोलंकी, युवा मोर्चा मण्डल अध्यक्ष राजेश पारगी, जनपद सदस्य गजेंद्र सिंह राठौर,  छापरी के सरपंच दिनेश अमलियार दिलिप डावर ने भी ग्रामवासियों को सम्बोधित करते हुए केंद्र और प्रदेश सरकार की योजनाओं का बखान किया। कार्यक्रम मे पलासडी सरपंच सरदारसिह डावर ने सासद डामोर को पारा क्षेत्र के बैक अधिकारीयो द्वारा ग्रामीण जनो से अभद्र व्यवहार करने कि शिकायत कि । जिस पर सांसद महोदय ने शिघ्र ही इसका हल करने का आश्वासन दिया। कार्यक्रम में पीएचई के मुख्य कार्यपालन यंत्री एमएस भिड़े, तहसीलदार प्रविण अहोरीया, जनपद सीईओ एम एल टांक सहायक यंत्री तिवारी के साथ पीएचई विभाग के धुलिया बामनिया सहीत भाजपा के सोमसिह सोलकी मण्डल महामंत्री अर्जुन बबेरिया और रोमिराज सेन  पिछड़ा मोर्चा मण्डल अध्यक्ष संदीप सोनी अनिल वसुनिया सरपंच पिथनपुर,दिलीप डावर जिला मंत्री किसान मोर्चा कार्यक्रम में युवा मोर्चा उपाध्यक्ष शुभम सोनी, पूर्व मंडी अध्यक्ष मड़िबाई वास्केल, सागिया सरपंच ठाकुर सिंगाड़,कलमोडा सरपंच ललिता अमरसिंह मेड़ा, मण्डल, बावडी सरपंच वेस्ता जमरा राजा सरतालिया मीडिया प्रभारी, मदन बबेरिया, दरियाव सिंह वास्केल ,राधे पचाया सहित सैकड़ों ग्रामीण एवं भाजपा के पदाधिकारियों की उपस्थित थे। 


खराब हालत में टोल वाला थांदला लिमडी राज्य मार्ग

पैच वर्क के नाम पर केवल बारीक कंकरी डाली गड्ढे वही के वही

jhabua news
थांदला । मध्यप्रदेश के मुखिया शिवराजसिंह चैहान मध्यप्रदेश की सड़कों की तारीफ विदेशी सड़कों से कर चुके है तो कुछ नेता यहाँ की सड़कों को बॉलीवुड अभिनेत्रियों के गाल तक कि उपमा दे चुके है लेकिन यदि ताजा हालात में वह ग्रामीण अंचल झाबुआ के थांदला की ओर रुख करें तो वास्तविकता का पता चलेगा। गुजरात व राजस्थान जैसे दो राज्यों को जोड़ने वाला यह राजमार्ग अपनी बदहाली पर आंसू बहा रहा है, जबकि इसी मार्ग पर लम्बे समय से एक ही गंगोत्री  कम्पनी द्वारा टोल भी वसूला जाता है। राजनीतिक साठगांठ कहे या शासन प्रशासन की अनदेखी जिसके चलते इस मार्ग की हालत बद से बदतर होती जा रही है जबकि गंगोत्री टोल कम्पनी द्वारा इस मार्ग के मेंटेनेंस के नाम पर लीपापोती ही कि जाती रही है जिसके चलते इस मार्ग से गुजरने वालें सैकड़ों वाहन चालकों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ता है वही वाहन के क्षतिग्रस्त होने का भी अंदेशा बना रहता है। थांदला के निकट महत्वपूर्ण इस मार्ग पर आसपास के सैकड़ो ग्रामीण का अन-जाना भी लगा रहता है खराब रोड़ व इस पर बने बेतरतीब गड्ढों के चलते आए दिन हादसों की खबरें भी आती रहती है। थांदला लिमडी राज्य मार्ग को बने मात्र 6 वर्ष ही हुए है लेकिन इसकी खस्ता हालत इसे बरसों पुराना रोड़ दर्शा रही है। 


पुलिया के आसपास गाड़ी पलटने का डर हो सकता है बड़ा हादसा

थांदला लिमडी राज्य मार्ग पर ग्राम जुलवानिया, परवलिया पर पुलिया के पास बड़े बड़े गढ्ढे हो गए है वही मोरझरी व इटावा के बीच पुल के पास मिट्टी खिसकने से तो 8 से 10 फीट गहरा गड्ढा हो गया है ऐसे में वाहन चालकों को काफी परेशानी का समाना करना पड़ रहा है तो हमेशा वाहन पलटने की आशंका भी बनी रहती है जो बड़े हादसे का संकेत कर रही है।  


जनप्रतिनिधियों के आने जाने का मुख्य मार्ग

सैकड़ो गाँव को जोड़ने वाले इस राजमार्ग से गाँव के सरपंच सचिव का आना-जाना तो रहता ही है वही क्षेत्र के सांसद गुमानसिंह डामोर, विधायक वीरसिंह भूरिया, जिला जनपद अध्यक्ष शांति राजेश डामोर, जनपद अध्यक्ष गेंदाल डामोर सहित अनेक जनप्रतिनिधि के तहासिल व जिला मुख्यालय से जुड़ने के लिए इसी मार्ग का सहारा है तो प्रशासनिक अधिकारियों के भी ग्रामीण सर्वे के लिए इसी मार्ग का अनुसरण करना पड़ता है फिर भी उन्हें एयर कंडीशनर महंगी गाड़ी की वजह से खड्डों का अहसास न हो यह अलग बात है पर ये बड़े बड़े गड्ढे दिखाई भी न दे यह समझ से परे है।


टोल टैक्स कंपनी का ध्यान बस टोल वसूली पर

टोल टैक्स कंपनी द्वारा टोल प्लाजा पर जिम्मेदार की नियुक्ति महज कागजी है उसका मकसद तो यहाँ से बस मनचाहा टोल वसूलना ही लगता है तभी किसान हो या अन्य स्थानीय ग्रामीण उन्हें भी नही बख्शा जाता व उनसे भी मनचाहा टोल लिया जाता है। कभी इस मार्ग की शिकायत हो भी जाती है तो इन्हें उस शिकायत को दबाने के हर पैतरें भी याद है तभी कगाजों पर ही इस रोड़ की मरम्मत भी हो जाती है।


बर्ड फ्लू से बचाव के लिए विशेष सर्तक्ता बरते  -श्री सिंह


jhabua news
झाबुआ। अपर मुख्य सचिव मध्य प्रदेश शासन पशुपालन विभाग भोपाल के निर्देशों के परिपालन में बर्ड फ्लू की तैयारी एवं आकस्मिकता की स्थिति से निपटने के लिए कलेक्टर श्री रोहित सिंह ने गुरूवार को यहां कलेक्टर कक्ष में पशुपालन विभाग, वन विभाग, स्वास्थ्य विभाग, स्थानीय निकाय एवं पुलिस विभाग आदि विभागों के जिला अधिकारियों की बैठक ली। इस बैठक में उप संचालक पशुचिकित्सा सेवाएं ने अवगत कराया कि अभी तक जिले में एक कौआ एवं एक कबूतर मृत पाए गए हैं। जिसे भोपाल प्रयोगशाला में जांच के लिए भेजा गया है। अभी तक मुर्गीयों में इस बीमारी का प्रकोप नहीं है किन्तु एहतियात के बतौर शासकीय कड़कनाथ प्रक्षत्र झाबुआ से 10 फीकल सेम्पल प्रयोगशाला को जांच के लिए भेजा गया है। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी द्वारा कलेक्टर श्री सिंह के निर्देशानुसार वर्तमान में मृत पक्षियों, कौओं के शव परीक्षण, सेम्पलिंग एवं डिस्पोजल के लिए कार्यरत अधिकारी - कर्मचारी के लिए 40 पीपीई कीट तत्काल उपलब्ध कराए गए हैं। कलेक्टर श्री सिंह के निर्देशों के परिपालन में जिले में कन्ट्रोल रूम एवं विकास खण्डवार आरआरटी का गठन कर लिया गया है। जिसके माध्यम से त्वरित कार्यवाही की जाकर लोगों को वास्तविक्ता का प्रचार-प्रसार किया जा सके और जनता में अनावशक भ्रम न फैले तथा जनता में भय का माहोल निर्मित न हो। बर्ड फ्लू के मुख्य लक्षण में असामान्य अधिक संख्या में पक्षियों की मृत्यु होना, आखों, गर्दन और सिर के आस-पास सुजन तथा पंखो,ं कंलगी, पंजों का रंग बदलना व अण्डा उत्पादन में अचानक कमी आ जाना इत्यादि है। इस बैठक में उप संचालक पशु चिकित्सा सेवाएं डाॅ0 विलसन डावन, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ0 जयपाल सिंह ठाकुर सहित अन्य विभागों के अधिकारी मौजूद थे।


टमाटर प्रोसेसिंग के लिए पांच यूनिट का लक्ष्य तय


झाबुआ। सहायक संचालक उद्यान ने अवगत कराया कि उद्यानिकी विभाग द्वारा वर्ष 2020-21 में प्रधानमंत्री सूक्ष्म खाद्य उद्यम उन्नयन योजना (पीएम एफएमई) के तहत एक जिला एक उत्पाद अनुसार जिले में ओडीओपी अंतर्गत टमाटर फसल की प्रोसेसिंग के लिए 5 इकाईयां स्थापित करने का लक्ष्य प्राप्त हुआ है। प्रधानमंत्री सूक्ष्म खाद्य उद्यम उन्नयन योजना (पीएम एफएमई) अंतर्गत व्यक्तिगत उद्यमी, स्वयं सहायता समूह एवं एफपीओ को लाभ दिया जावेगा। उक्त योजना में लागत का 35 प्रतिशत अथवा अधिकतम 10 लाख रूपए अनुदान राशि बैंक ऋण स्वीकृत होने पर देय है। लाभार्थी का योगदान न्यूनतम 10 प्रतिशत होना चाहिए।


इंफ्रास्ट्रक्चर फंड योजना के लक्ष्य तय


झाबुआ। उद्यानिकी विभाग द्वारा वर्ष 2020-21 में केन्द्रीय क्षेत्रीय योजना ‘‘ एग्रीकल्चर इंफ्रास्ट्रक्चर फंड‘‘ योजना अंतर्गत शासन द्वारा जिले को विभिन्न घटकों में लक्ष्य आवंटित किए गए है। इसके लिए आवेदन आमंत्रित किए जा रहे है। केन्द्रीय क्षेत्र योाजना अंतर्गत एग्रीकल्चर इंफ्रास्ट्रक्चर फंड को लक्ष्य प्राप्त हुआ है। इसमें पैक हाउस सामान्य के लिए 3, कोल्ड रूम सामान्य के लिए 3 एवं अनुसूचित जनजाति के लिए 1, सार्टिंग ग्रेडिंग यूनिट में सामान्य के लिए 3, अनुसूचित जनजाति के लिए 1, मोबाइल मिनिमम प्रोसेसिंग इकाई में सामान्य के लिए 3, अनुसूचित जनजाति के लिए 1, कोल्ड स्टोरेज अनुसूचित जनजाति के लिए 1 प्राप्त हुआ है। उक्त इकाई लागत के ब्याज पर 3 प्रतिशत इन्ट्रेस्ट सबमिशन राशि देय है।


कोल्ड स्टोरेज के लक्ष्य तय


झाबुआ। संचालनालय उद्यानिकी के निर्देशानुसार अतिरिक्त प्रावधानों को जोड़कर आवेदन आमंत्रित किए गए है। शासन स्तर पर लिये गये निर्णय अनुसार केवल शीतगृह (कोल्ड स्टोरेज) टाईप-1 स्थापना के लिए विकासखण्ड स्तर पर 1000 मी.टन एवं उद्यानिकी क्लस्टर में 500 मी.टन के आॅनलाईन आवेदन आमंत्रित किये जाते है। माॅडल विकासखण्डों के लिए आवेदकों को प्राथमिकता दी जावेगी। जिनकी सूची एमपीएफएसटीएस पोर्टल पर उपलब्ध है। इच्छुक कृषक उद्यमी को आॅनलाईन आवेदन 10 जनवरी 2021 तक तथा हार्डकाॅपी 15 जनवरी 2021 तक आवेदन (परियोजना प्रस्ताव डीपीआर) बैंक द्वारा ऋण देने के लिए सहमति पत्र तथा चार्टर्ड इंजीनियर द्वारा हस्ताक्षरित बेसिक डाटाशीट, डिजाईन या तकनीकी डाटा सहित संचालनालय उद्यानिकी एवं प्रक्षेत्र वानिकी, भोपाल कार्यालय में जमा करना होगा। पूर्व में आवेदन प्रस्तुत करने वाले आवेदकों को पुनः आवेदन की आवश्यकता नहीं है।

कोई टिप्पणी नहीं: