मंदिर के मंहत व हत्या दुष्कर्म के मुख्य आरोपी बाबा सत्यनारायण गिरफ्तार - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शुक्रवार, 8 जनवरी 2021

मंदिर के मंहत व हत्या दुष्कर्म के मुख्य आरोपी बाबा सत्यनारायण गिरफ्तार

rapist-pujari-arrest
बदायूं. एक मंदिर के मुख्य महंत को हत्या व दुष्कर्म का मुख्य आरोपी बाबा फरार हो गया था.उस पर 50000 का इनाम घोषित कर दिया गया.वह शुक्रवार को गिरफ्तार कर लिया गया.एसएसपी संकल्प शर्मा ने बताया कि घटना का मुख्य आरोप बाबा सत्यनारायण फरार है.जो गिरफ्तार हो गया है.इसके पहले उसके चेले वेदराम व जसपाल को गिरफ्तार कर लिया गया. बाबा की तलाश में पांच टीमें लगाई गई थी.टीम को सफलता मिल गयी है. आरोपी बाबा सत्यनारायण, उसका चेला वेदराम व ड्राइवर जसपाल को पकड़ने के लिए पुलिस दबिश का परिणाम सामने आ गया है.एसएसपी संकल्प शर्मा ने कहा कि उघैती थाना क्षेत्र में लगभग 50 वर्षीय महिला का शव मिला था. पोस्टमार्टम रिपोर्ट और परिजनों की तहरीर पर तीन लोगों के खिलाफ हत्या व दुष्कर्म का मुकदमा लिखा गया. जल्द ही सभी को गिरफ्तार कर लिया गया. बताते चले कि यूपी के बदायूं में महिला के साथ निर्भया जैसी हैवानियत का मामला सामने आया था. पूजा करने गई 50 वर्षीय आंगनबाड़ी सहायिका की गैंगरेप के बाद हत्या कर दी गई. पोस्टमार्टम रिपोर्ट में महिला के गुप्तांग में रॉड जैसी कोई चीज डालने का मामला सामने आया. उसकी बाईं पसली, बायां पैर और बायां फेफड़ा भी वजनदार प्रहार से क्षतिग्रस्त कर दिया गया. महिला की मौत की वजह अधिक रक्तस्राव व सदमा लगने से होना सामने आई है. परिजनों की तहरीर पर पुलिस ने आरोपी महंत समेत उसके एक चेले व ड्राइवर के खिलाफ गैंगरेप के बाद हत्या का मुकदमा दर्ज किया गया.  मानवीयता को झकझोरने वाली यह सनसनीखेज वारदात उघैती थाना क्षेत्र के एक गांव की है. यहां की महिला पास के गांव स्थित एक मंदिर पर रोजाना की तरह रविवार को भी गई थी. मुकदमे के मुताबिक देर रात मंदिर का महंत अपनी बोलेरो से उसका शव घर के दरवाजे पर फेंककर चला गया. बताया जाता है कि इससे पहले आरोपी महंत उसे अपनी गाड़ी से इलाज के लिए चंदौसी भी ले गया था. परिजनों ने सामूहिक दुष्कर्म के बाद हत्या का आरोप लगाया लेकिन उघैती के थानेदार रावेंद्र प्रताप सिंह ने परिजनों की फरियाद सुनना तो दूर घटनास्थल का मौका मुआयना तक नहीं किया. सोमवार की दोपहर 18 घंटे बाद लाश पोस्टमार्टम के लिए भेजी गई. महिला डॉक्टर समेत तीन डॉक्टरों के पैनल ने पोस्टमार्टम किया.


कोई टिप्पणी नहीं: