खेलों इंडिया के 1000 केन्द्र शुरू करना चाहते हैं : रीजीजू - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

सोमवार, 18 जनवरी 2021

खेलों इंडिया के 1000 केन्द्र शुरू करना चाहते हैं : रीजीजू

rijuju-wants-to-start-khelo-india
पुणे, 18 जनवरी, खेल मंत्री किरेन रीजीजू ने सोमवार को कहा कि सरकार का इरादा देश भर में जिला स्तर पर 1,000 खेलो इंडिया खेल केंद्र शुरू करने का है। रीजीजू ने कहा, ‘‘ मेरा उद्देश्य 2028 के ओलंपिक द्वारा भारत को तालिका में शीर्ष 10 में लाना है और इसे संभव बनाने के लिए हमें जमीनी स्तर पर खेल सुविधाओं का निर्माण करना होगा। इसके लिए हम देश भर में जिला स्तर पर लगभग 1,000 खेलो इंडिया खेल केंद्र शुरू करना चाहते हैं।’’ यहां जारी एक मीडिया विज्ञप्ति में उन्होंने कहा, ‘‘हमारे पास देश में लगभग 700 जिले हैं, जिसका मतलब यह है कि हर जिले में कम से कम एक केन्द्र होगा, कुछ जिलों में एक से अधिक केन्द्र भी हो सकता है।’’ रीजीजू यहां श्री शिव छत्रपति खेल परिसर में ‘खेलो इंडिया राज्य उत्कृष्टता केन्द्र (केआईएससीई)’ के उद्घाटन के लिए आये थे। उन्होंने कहा कि पुणे और महाराष्ट्र के पास भविष्य के चैम्पियन तैयार करने की क्षमता है। उन्होंने कहा, ‘‘ पुणे न केवल महाराष्ट्र ,बल्कि पूरे देश के लिए एक खेल केन्द्र है। पुणे और महाराष्ट्र में देश के लिए भविष्य के चैम्पियनों को तैयार करने की क्षमता है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘ आज एक विशेष दिन है क्योंकि हम यहां केआईएससीई का उद्घाटन कर रहे हैं। इसकी शुरूआत के साथ हम राज्य सरकार के साथ मिलकर खेलों की प्रगति की दिशा में काम करना चाहते हैं। देश में अब तक 23 उत्कृष्टता केन्द्र है जिसमें महाराष्ट्र में तीन केन्द्र है।’’ इस मौके पर महाराष्ट्र के खेल मंत्री सुनील केदार और खेल राज्य मंत्री अदिति तटकरे ने रीजीजू से राज्य के लंबित प्रस्तावों पर ध्यान देने का अनुरोध किया , जिसे उन्होंने पूरा करने का आश्वासन दिया।

कोई टिप्पणी नहीं: