विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 12 जनवरी - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

मंगलवार, 12 जनवरी 2021

विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 12 जनवरी

विधायक शशांक भार्गव ने निर्माणाधीन सर्व ब्राह्मण समाज धर्मशाला ’’ब्रह्म भवन’’ को दिया 1 लाख रूपये का चैक।


vidisha news
विदिशा:- विदिशा विधायक शशांक भार्गव जी ने पूर्व में मोहनगिरि में निर्माणाधीन सर्व ब्राह्मण समाज धर्मशाला ’’ब्रह्म भवन’’ के लिए 1 लाख रुपये देने की घोषणा की थी। आज बायपास पर आयोजित ब्राह्मण समाज के कार्यक्रम में विधायक शशांक भार्गव जी ने ब्राह्मण सेवा न्यास के ट्रस्टी श्री राकेश कटारे, श्री प्रशांत शर्मा, श्री विजय दीक्षित को निजी खाते से 1 लाख रुपए की राशि का चैक सौंपा। इस अवसर पर राम जी रावत, अजय कटारे, अरुण राजू अवस्थी, जितेंद्र शास्त्री, श्रीमती प्रतिभा आचार्य, रमेश तिवारी, अभिनय तिवारी, अभिराज शर्मा, निखिल बंटी महाराज, यशवंत तिवारी, हर्ष शर्मा सहित बड़ी संख्या में विप्र समाज के लोग उपस्थित रहे। ब्रह्म भवन निर्माण समिति के सचिव प्रशांत शर्मा ने विधायक भार्गव जी का आभार व्यक्त किया।

स्वामी विवेकानंद भारतीय सभ्यता और संस्कृत की पहचान है- सिलाकारी 


विदिशा : भारत के महान दार्षनिक और भारत के अध्यात्म का डंका पूरे विष्व में बजाने वाले स्वामी विवेकानंद जी की 158वी जयंती के अवसर पर युवा कांग्रेस ने स्वामी विवेकानंद जी प्रतिमा पर माल्यार्पण कर उन्हें श्रद्धासुमन अर्पित किये।  इस अवसर पर उपस्थित जिला कांग्रेस अध्यक्ष कमल सिलाकारी ने कहा कि स्वामी विवेकानंद जी के जीवन की अन्तर्लय यही थी कि वे इस बात से आष्वस्त थे कि धरती की गोद में यदि कोई ऐसा देष है जिसमें मनुष्य की हर तरह की बेहतरी के लिए ईमानदार कोषिषें की हैं, तो वह भारत ही है।  जिला कांग्रेस संगठन प्रभारी राकेष कटारे एवं देवेन्द्र राठौर ने संबोधित करते हुए कहा कि सन् 1893 में षिकागो में विष्व धर्म सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा कि उन्होंने हिन्दू धर्म की व्याख्या कि मुझे उस धर्म का अनुयाई होने का अभिमान है जिसमें संसार को सहिष्णुता और विष्व प्रेम की षिक्षा दी है मुझे उस धर्म पैदा होने का अभिमान है जिसमें अत्याचार पीडितों को मतवादियों द्वारा सताए हुए लोगों और पृथ्वी की सब जातियों को आश्रय दिया है। उन्होंने कहा कि यह दुखःद है कि इतने महान दार्षनिक व्यक्ति को सिर्फ भगवा कपडा पहनने के कारण कुछ दल और संगठन उन्हें एक संक्रीण विचारधारा में कैद करना चाहते हैं।  कार्यक्रम को श्रीमती आषा राजपूत, अजय कटारे, दीवान किरार, राजेष दुबे, अरूण राजू अवस्थी, विनीत दांगी ने भी संबोधित किया, कार्यक्रम का संचालन अभिराज शर्मा ने एवं आभार प्रदर्षन प्रदेष युवा कांग्रेस सचिव सुमित मोतियानी ने किया। इस अवसर पर धर्मेन्द्र यादव, गोविन्द भार्गव, दषन सक्सैना, डी.के. रैकवार, संजीव प्रजापति, मुआज कामिल, राजकुमार मीणा, हर्ष शर्मा, राजेष लोधी, मिक्की भावसार, राजकुमार मिश्रा, लालू राजपूत, मुलायम कुषवाह, अभिषेक कुषवाह, अमित साहू, मनमोहन बघेल, नीलेष बघेल, विपिन मंगलानी, चांद पठान, प्रतीक जैन, सुभाष मीणा सहित बडी संख्या में युवा कांग्रेस कार्यकर्ता उपस्थित रहे। 


जनसुनवाई में 127 आवेदन प्राप्त हुए 


vidisha news
कलेक्टर डॉ पंकज जैन के मार्गदर्शन में सम्पन्न हुई आज जनसुनवाई कार्यक्रम में 127 आवेदकों ने आवेदन प्रस्तुत कर अपनी व्यक्तिगत एवं सार्वजनिक समस्याओं की ओर अधिकारियों का ध्यान आकर्षित कराया है।  जिला पंचायत के सभागार कक्ष में हुई जनसुनवाई कार्यक्रम में एसडीएम श्री जीएस वर्मा, डिप्टी कलेक्टर श्रीमती अमृता गर्ग, तहसीलदार श्रीमती सरोज अग्निवंशी, नायब तहसीलदार श्री प्रमोद उइके के अलावा विभिन्न विभागो के जिलाधिकारियों ने पंक्तिबद्व रो में बैठकर आवेदको के आवेदन प्राप्ति के उपरांत निराकरण की पहल की गई है।  जनसुनवाई कार्यक्रम में प्राप्त कुल 127 आवेदनों में से 45 आवेदनों का निराकरण विभिन्न विभागो के अधिकारियों द्वारा मौके पर किया गया है।

सूर्य नमस्कार कार्यक्रम में सहभागिता निभाई


स्वामी विवेकानंद जी की जयंती इस वर्ष भी युवा दिवस के रूप में मनाई गई। सूर्य नमस्कार कार्यक्रम का आयोजन राज्य सरकार द्वारा जारी दिशा निर्देशो के अनुरूप जिले में क्रियान्वित किया गया है। माननीय मुख्यमंत्री जी का सम्बोधन रेडियो के माध्यम से प्रसारण किया गया था।  कोविड 19 महामारी के जारी निर्देशानुसार सूर्य नमस्कार कार्यक्रम में विद्यार्थियों, शिक्षकों, जन सामान्य और गणमान्य नागरिकों ने आज प्रातः नौ बजे से 9.45 बजे तक अपने-अपने घरो में ऑन लाइन रेडियो प्रसारण के माध्यम से सूर्य नमस्कार कार्यक्रम में सहभागिता निभाई है। 


रोजगार मेला आज, एसटीआई के कैलाश सत्यार्थी सभागृह में 


जिले के शिक्षित बेरोजगार युवाओं को रोजगार उपलब्ध कराने हेतु आज 13 जनवरी को रोजगार मेले का आयोजन किया गया है। उक्त मेला एसएटीआई के कैलाश सत्यार्थी सभागृह में आयोजित किया गया है। जिला स्तरीय उक्त रोजगार मेले में समस्त तहसीलो के आवेदक शामिल हो सकेंगे। रोजगार मेला में जिला एवं प्रदेश की प्रतिष्ठित कंपनियों के प्रतिनिधियों द्वारा पांचवी से स्नातक स्नातकोत्तर, तकनीकी शिक्षा योग्यताधारी युवक युवतियां जिनकी आयु 18 से 32 वर्ष है का विभिन्न पदो हेतु चयन किया जाएगा।  कलेक्टर डॉ पंकज जैन ने रोजगार मेला आयोजन को सुव्यवस्थित रूप से सम्पादित कराने हेतु विभिन्न अधिकारियों को दायित्व सौंपे है और उन्हें निर्देशित किया है कि कोरोना वायरस कोविड 19 की जारी गाइड लाइन का पालन कराते हुए रोजगार मेले का आयोजन किया जाए।  कलेक्टर डॉ जैन के द्वारा रोजगार मेला आयोजन हेतु जिन विभागो के अधिकारियो को दायित्व सौंपे गए है उनमें जिला व्यापार एवं उद्योग केन्द्र के महाप्रबंधक श्री पीडी वंशकार को राज्य तथा अन्य राज्यों में उद्योगो, संभावित नियोक्ताओं से सम्पर्क स्थापित कर रिक्तियां दर्ज कराना तथा रोजगार मेले में उपरोक्तानुसार उद्योग संस्थाओं की उपस्थिति सुनिश्चित कराने का दायित्व सौंपा गया है। इसके अलावा जिला रोजगार अधिकारी, आईटीआई प्राचार्य एवं मॉडल कैरियर सेन्टर के प्रबंधक को संयुक्त रूप से रोजगार मेला हेतु व्यवस्था करना, मेले में पंजीयन का डाटा एवं चयनित युवाओं की सूची कंपनियों से प्राप्त करना, मेले में उपस्थित होने वाले युवाओं का पंजीयन, काउंसलिग कराने की जबावदेंही सौंपी गई है।  मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को रोजगार मेला स्थल पर कोविड 19 सुरक्षा की दृष्टि को ध्यानगत रखते हुए सेनेटाईजर एवं अन्य संसाधन की व्यवस्थाएं तथा समस्त जनपदो के सीईओ तथा एसआरएलएम के जिला परियोजना प्रबंधक को रोजगार मेला का व्यापक प्रचार प्रसार करने की तथा विदिशा मुख्य नगरपालिका अधिकारी को आयोजन स्थल पर स्वच्छ पेयजल तथा साफ सफाई के प्रबंध क्रियान्वित करने की जबावदेंही सौंपी गई है। एसएटीआई के संचालक को आयोजन स्थल कैलाश सत्यार्थी भवन को उपलब्ध एवं स्थानीय व्यवस्था की आवश्यक कार्यवाही करने तथा थाना प्रभारी देहात थाना को मेला में सुरक्षा व्यवस्था एवं कोविड 19 के दृष्टिगत सोशल डिस्टेन्सिग का पालन कराए जाने की जबावदेंही सौंपी गई है। मध्यप्रदेश ग्रामीण आजीविका मिशन के जिला समन्वयक श्री देवेन्द्र श्रीवास्तव ने बताया कि रोजगार मेले में 15 कंपनियों के प्रतिनिधियों द्वारा शामिल होने की सहमति प्रदाय की गई है। रोजगार मेला में ग्रामीण आजीविका मिशन के द्वारा स्वरोजगारमूलक योजनाओं की जानकारी देने तथा समूह गठन से होने वाले फायदो से भी अवगत कराया जाएगा।


चार लाख की आर्थिक मदद जारी


विदिशा उपखण्ड अधिकारी श्री जीएस वर्मा ने आरबीसी के एक प्रकरण में चार लाख रूपए की आर्थिक मदद के आदेश जारी कर दिए है।  जारी आदेश में उल्लेख है कि ग्राम मूडरामुहाना के श्री सरदार सिंह पुत्र खुमान सिंह अहिरवार की मृत्यु कुएं में गिरने से पानी में डूबने के कारण हो जाने पर नायब तहसीलदार के पालन प्रतिवेदन पर मृतक की पत्नी श्रीमती रचना अहिरवार को आरबीसी के प्रावधानो के तहत चार लाख रूपए की आर्थिक मदद जारी की गई है। 


 18 जनवरी से सड़क सुरक्षा माह’


सड़क सुरक्षा जीवन रक्षा थीम पर जिले में 18 जनवरी से 17 फरवरी तक 32वां राष्ट्रीय सड़क सुरक्षा माह का आयोजन किया जा रहा है।  इस दौरान यातायात नियमों का प्रचार प्रसार किया जायेगा। सड़क सुरक्षा एवं यातायात नियमों के पालन में यातायात पुलिस द्वारा किये जा रहे कार्यों को प्रचारित किया जाएगा। साथ ही विभिन्न माध्यम से सड़क सुरक्षा एवं यातायात नियमों की जानकारी एवं पालन हेतु विशेष अभियान चलाया जाएगा । 


’विशेष लेख’ : बेटियों-बहनों यानि महिला सशक्तिकरण के मजबूत कदम 


मध्यप्रदेश में बेटियों और बहनों की रक्षा और सुरक्षा के साथ ही संबल की दृष्टि से राज्य शासन और मुख्यमंत्री लगातार संवेदनशीलता के साथ अनेक पहल कर रहे हैं । मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने हाल ही में बेटियों के सम्मान के लिए शासकीय कार्यक्रमों की शुरूआत कन्या पूजन से करने का नियम तो बनाया ही तत्काल इसे लागू भी किया है । शासन महिलाओं के सशक्तिकरण के लिए प्रदेश में स्वहसायता समूहों को सक्षम बनाने के प्रयास कर रहा है । 


’लाडो अभियान’

मध्यप्रदेश देश में प्रथम राज्य है, जिसने बाल विवाह के रोकथाम हेतु 2013 में लाडो अभियान प्रारंभ किया गया। लाडो अभियान का मुख्य उद्देश्य -जनसमुदाय की मानसिकता में सकारात्मक बदलाव के साथ बाल विवाह जैसी कुरीति को सामुदायिक सहभागिता से समाप्त करना है। यह अभियान बाल विवाह प्रतिशेध अधिनियम -2006 के अनुसार 18 वर्ष से कम आयु की बालिकाओं एवं 21 वर्ष से कम आयु के बालकों के बाल विवाह कानून के प्रभावी क्रियान्वयन में महती भूमिका निभाता है।


’सेफ सिटी कार्यक्रम’

प्रदेश में महिलाओं, लड़कियों और बच्चों पर विभिन्न सार्वजनिक स्थलों पर हिंसा और उत्पीड़न को  रोकने और उन्हें सुरक्षित करने के मद्देनजर सेफ सिटी कार्यक्रम चलाया गया।


’शौर्या दल’

राज्य में महिलाओं के प्रति अनुकूल वातावरण निर्माण करने व उन्हें आत्मनिर्भर और सक्षम बनाने के उद्देश्य से प्रत्येक आँगनवाड़ी स्तर पर मूल्यांकन के आधार पर शौर्या दल का गठन किया गया है शौर्या दल का गठन एक निरन्तर प्रक्रिया होगी। इस दल ग्राम के संवेदनशील तथा जनसमुदाय में स्वीकार्यता रखने वाले महिला, पुरूष एंव युवाओं को सदस्य के रूप में चुना जाता है। आँगनवाड़ी कार्यकर्ता, सहायिका एवं आशा कार्यकर्ता, भी इस दल की सदस्य होती हैं। यह दल पंचायत स्तर पर समुदाय को महिलाओं एवं बालिकाओं के प्रति संवेदनशील बनाने का प्रयास, आवश्यक सहयोग तथा सहायता प्रदान करेगा। सामाजिक कुरीतियों में सुधार लाने और महिलाओं को सामाजिक एवं आर्थिक रूप से सक्षम बनाते हुये समता मूलक समाज निर्मित करना है। शौर्या दलों का गठन प्रत्येक आँगनवाड़ी केन्द्र स्तर पर किया जा रहा है।


’ऊषा किरण योजना (घरेलू हिंसा)’

ऊषा किरण योजना अंतर्गत (घरेलू हिंसा) से पीड़ित महिलाओं का संरक्षण अधिनियम 2005 नियम 2006 के तहत् यानि ऐसा कार्य या हरकत जो किसी पीड़ित महिला एवं बच्चों (18 वर्ष से कम के बालक एवं बालिका) के स्वास्थ्य, सुरक्षा, जीवन को खतराध्संकट की स्थिति, आर्थिक नुकसान, क्षति जो असहनीय हो तथा जिससे महिला व बच्चे दुखी व अपमानित होते हो।


’सशक्त वाहिनी’

सशक्त वाहिनी योजना के तहत बालिकाओं व युवतियों को पुलिस विभाग में भर्ती होने प्रशिक्षण दिया जा रहा है। साथ ही महिलाओं के लिए चलाई जा रही शासन की कई कल्याणकारी योजनाओं की जानकारी दी जा रही है। वहीं महिलाओं को सुरक्षा प्रहरी बनाने के लिए पुलिस विभाग में 33 प्रतिशत स्थान आरक्षित किया गया है। इससे कि समाज में महिलाओं व युवतियों के प्रति सुरक्षा का भावनात्मक माहौल तैयार किया जा सकें।


’एमपी ई-कॉप एप’

मध्यप्रदेश में महिला सुरक्षा और विपरीत हालत में महिलाओं की मदद करने के मकसद से पुलिस ने श्एमपी ई-कॉपश् नाम का मोबाइल एप लॉन्च किया है। इस एप के जरिए महिलाएं एक साथ डायल 100 सहित अन्य स्थानों को अपना संदेश भेज सकती हैं। इस एप के जरिए गुमशुदा व्यक्ति की तलाश, चोरी गए वाहनों की शिकायत के अलावा किरायेदारों का सत्यापन भी किया जा सकता है।


’1090 और निर्भया पेट्रोलिंग’

राज्य स्तरीय महिला हेल्पलाइन 1090 रू एक जनवरी 2013 को शुरू की गई इस हेल्पलाइन पर प्रदेश के किसी भी हिस्से महिलाएं निडर होकर अपनी समस्या दर्ज करा सकती हैं । महिलाओं और बेटियों की सुरक्षा के लिए निर्भया पेट्रोलिंग की व्यवस्था पुलिस विभाग द्वारा की गई है।


’मैत्री पुलिस और समर्थ संगनी’

दो पहिया वाहनों द्वारा पुलिस पेट्रोलिंग करती है। इनका उद्देश्य विद्यालय और महाविद्यालय जैसी जगहों में महिलाओं को सहायता प्रदान करना है। मध्यप्रदेश पुलिस द्वारा समुदाय की महिलओं को जोड़कर महिलाओं के विरुद्ध हो रहे अपराधों पर कार्यवाही करने के लिए समर्थ संगनी समूह का गठन किया गया है।


’वन स्टॉप सेंटर’

वन स्टॉप सेंटर (सखी) अंतर्गत सभी प्रकार की हिंसा से पीड़ित महिलाओं एवं बालिकाओं को एक ही स्थान पर अस्थायी आश्रय, पुलिस-डेस्क, विधि सहायता, चिकित्सा एवं काउन्सलिंग की सुविधा वन स्टॉप सेन्टर उषा किरण केन्द्रों में उपलब्ध करायी जाती है। इसका उद्देश्य एक ही छत के नीचे हिंसा से पीड़ित महिलाओं एवं बालिकाओं को एकीकृत रूप से सहायता एवं सहयोग प्रदाय करना। पीड़ित महिला एवं बालिका को तत्काल आपातकालीन एवं गैर आपातकालीन सुविधायें उपलब्ध करना, जैसे-चिकित्सा, विधिक, मनौवैज्ञानिक परामर्श आदि।


’जनसंवाद शिविर’

बालिकाओं और छात्राओं में जागरुकता लाने के लिए और पुलिस प्रणाली से अवगत कराने के लिए ये शिविर लगाए जाते हैं।


अशासकीय विद्यालयों की मान्यता नवीनीकरण आवेदन की अंतिम तिथि अब 31 मार्च 2021


स्कूल शिक्षा विभाग ने अशासकीय विद्यालयों की मान्यता नवीनीकरण का आवेदन करने की अंतिम तिथि 31 मार्च 2021 कर दी है। माध्यमिक शिक्षा मंडल से संबद्ध समस्त अशासकीय विद्यालय आगामी 31 मार्च तक मान्यता नवीनीकरण का ऑनलाइन आवेदन कर सकेंगे। मान्यता नवीनीकरण शुल्क एक मुश्त या तीन किश्तों में जमा किया जा सकेगा। राज्य शासन ने कोविड-19 संक्रमण और छात्रहित को दृष्टिगत रखते हुए यह निर्णय लिया है। इसके तहत मध्यप्रदेश माध्यमिक एवं उच्चतर माध्यमिक शालाओं की मान्यता नियम, 2017 के अनुसार प्रचलित प्रक्रिया से छूट प्रदान करते हुए मान्यता नवीनीकरण को 31 मार्च 2022 तक की समयावधि के लिए मान्य किया गया है। इसके पूर्व ऑनलाइन आवेदन अपलोड करने की अंतिम तिथि 31 दिसंबर 2020 निर्धारित की गई थी जिसे बढ़ाकर 31 मार्च 2021 किया गया है।  जिन अशासकीय विद्यालयों ने पूर्व के निर्देशों के अनुसार सशुल्क आवेदन किए थे और उनकी मान्यता नवीनीकृत की जा चुकी है, उसे यथावत मान्य किया गया है। जो अशासकीय विद्यालयों निर्धारित आवेदन एवं शुल्क जमा कर चुके हैं किंतु उनकी मान्यता का नवीनीकरण नहीं हुआ है, उन्हें पुनः शुल्क जमा करने की आवश्यकता नहीं होगी।


वोटर लिस्ट में टाइपिंग की गलती में त्रुटि में करवा सकेंगे मतदाता


निर्वाचक नामावली कार्य में डाटा एन्ट्री के दौरान टाइपिंग या लिपिकीय त्रुटि के कारण मतदाता की जानकारी गलत दर्ज होने पर निर्वाचन आयोग की गाइडलाईन अनुसार सुधार किया जा सकेगा । सामान्यतः मतदाताओं की जानकारी में विसंगतियां ईआरओ को दो चरणों में दृष्टिगत होती है। निर्वाचक नामावली के अंतिम प्रकाशन के पूर्व डाटा एन्ट्री करते समय और निर्वाचक नामावली के अंतिम प्रकाशन के उपरांत। यदि ईआरओ को टंकण, लिपिकीय त्रुटि डाटा एन्ट्री के समय दृष्टिगत होती है तो अन्तिम प्रकाशन के पूर्व संबंधित आवेदक का फार्म-6 ईआरओ नेट से मिलान करना होगां इस फार्म की नामावली अपडेशन की प्रोसेस रिवर्स किए जाने और फार्म 6 में उल्लेखित जानकारी के अनुसार सही जानकारी दर्ज कराए जाने के निर्देश दिए गए हैं।  ईआरओ को टंकण या लिपिकीय त्रुटि की जानकारी संबंधित निर्वाचक द्वारा पत्र या ईमेल से अंतिम प्रकाशन के उपरांत दी जाती है तो ईआरओ संबंधित आवेदक का ईआरओ नेट में दर्ज फार्म 6 उपलब्ध होने पर उससे मिलान करेंगे। साथ ही फार्म 6 के अनुसार जानकारी संशोधित की जाएगी। ईआरओ रिकार्ड में फार्म 6 उपलब्ध नहीं होने पर ईआरओ द्वारा संबंधित निर्वाचक से फार्म 8 भरवाया जाएगा। अंतिम प्रकाशन के उपरांत फार्म 6 अथवा फार्म 8 के बिना किसी भी प्रकार का संशोधन नहीं किए जाने के निर्देश दिए गए हैं। ईआरओ स्तर से टंकण या लिपिकीय त्रुटि होने पर निर्वाचक से इपिक बदलने का किसी भी प्रकार का शुल्क नहीं लिए जाने के निर्देश दिए गए हैं। 


हमारा घर हमारा विद्यालय योजना के अंतर्गत विद्यार्थियों के लिये आज से 16 जनवरी, तक दूरदर्शन के माध्यम से विभिन्न विषयों के पाठों का प्रसारण


हमारा घर हमारा विद्यालय योजना के अंतर्गत कक्षा 6वीं से 8वीं तक के विद्यार्थियों के लिये 13 से 16 जनवरी तक दूरदर्शन के माध्यम से 25-25 मिनिट के विभिन्न विषयों के पाठों का प्रसारण किया जायेगा। जिले के विद्यार्थी अपने विषय के अनुसार इन पाठों को देख और सुन सकते हैं। जिला शिक्षा केंद्र के जिला परियोजना समन्वयक श्री एसपी जाटव ने बताया कि कक्षा 6वीं के लिये प्रतिदिन दोपहर 12 से 12रू30 बजे तक 13 जनवरी को विज्ञान विषय में अध्याय 9 संजीव एवं उनका परिवेश, 14 जनवरी को गणित विषय में आधारभूत ज्यामितीय अवधारणायें, 15 जनवरी को सामाजिक विज्ञान विषय में विविधता और भेदभाव एवं 16 जनवरी को विज्ञान विषय में अध्याय 10 गति और दूरियों का मापन व अध्याय 4 वस्तुओं का समूह बनाना का दूरदर्शन के माध्यम से प्रसारण किया जायेगा। कक्षा 7वीं के लिये प्रतिदिन प्रातरू 11रू30 से दोपहर 12 बजे तक 13 जनवरी को विज्ञान विषय में अध्याय 5 अम्ल, क्षारक और लवण, 14 जनवरी को गणित विषय में सरल समीकरण, 15 जनवरी को सामाजिक विज्ञान विषय में पाठ-6 केंद्र की सरकार एवं 16 जनवरी को विज्ञान विषय में अध्याय 6 भौतिक रसायनिक परिवर्तन व अध्याय 18 अपशिष्ट जल की कहानी का दूरदर्शन के माध्यम से प्रसारण किया जायेगा। इसी प्रकार कक्षा 8वीं के लिये प्रतिदिन प्रातः 11 से 11.30 बजे तक 13 जनवरी को विज्ञान विषय में अध्याय 3 संश्लेषित रेशे और प्लास्टिक, 14 जनवरी को गणित विषय में प्रायोगिक ज्यामिति, 15 जनवरी को सामाजिक विज्ञान विषय में पाठ-11 आर्थिक विकास एवं 16 जनवरी को विज्ञान विषय में अध्याय 4 पदार्थ धातु और अधातु का दूरदर्शन के माध्यम से प्रसारण किया जायेगा।


अब आईआईटी पढ़ाएगा कक्षा-6वीं से 8वीं के छात्रों को विज्ञान और गणित


राष्ट्रीय अविष्कार अभियान के अंतर्गत कक्षा-6वीं से 8वीं के गणित एवं विज्ञान विषय की गतिविधियों का ऑनलाइन प्रसारण किया जायेगा। हर बुधवार सायं 4 से 5 बजे तक सभी विद्यार्थी, शिक्षक और अभिभावक इस कार्यक्रम को यू-ट्यूब पर देख सकेंगे। इस कार्यक्रम की शुरूआत राज्य शिक्षा केन्द्र  द्वारा 13 जनवरी को दोपहर 3 बजे की जाएगी। यह ऑनलाइन कार्यक्रम भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान, इंदौर द्वारा प्रसारित किया जायेगा।  कक्षा 6वीं से 8वीं तक की विज्ञान एवं गणित विषय की विषय-वस्तु पर आधारित होगा। इसे यू-ट्यूब लिंक https://www.youtube.com/channel/UCoKz2WKf-hmKncSbzruOe0A/about पर प्रसारित किया जायेगा। इस कार्यक्रम की सतत मॉनीटरिंग राज्य शिक्षा केन्द्र द्वारा की जायेगी।


70 स्कूलों के विद्यार्थियों हेतु संस्थाओं के प्राचार्य आज प्राप्त करेंगे खाद्यान्न  


मध्यान्ह भोजन कार्यक्रम के अंतर्गत सूखा राशन प्रदाय करने का कार्य जिले में क्रियान्वित है। 13 जनवरी बुधवार को विदिशा नगरपालिका के पूर्व अध्यक्ष श्री मुकेश टण्डन के द्वारा जन शिक्षा केन्द्र शेरपुरा तथा खमतला के लिए प्रदाय किया जाएगा। उपरोक्त शैक्षणिक संस्थाओ के प्रधानाध्यापको के द्वारा छात्रों को प्रदाय किए जाने वाले राशन (दाल एवं तेल पैकेट) प्रदाय किए जाएंगे जिनका वितरण शाला स्तर पर छात्र-छात्राओं को प्रधानाध्यापको के द्वारा किया जाएगा। विदिशा नगरपालिका के पूर्व अध्यक्ष द्वारा पुराना डीईओ कार्यालय के बीआरसी भवन में भण्डारित खाद्यान्न सामग्री का वितरण संबंधित जन शिक्षा केन्द्र के प्रभारियो को प्रातः दस बजे द्वारा किया जाएगा कि जानकारी बीआरसी श्री लक्ष्मण सिंह यादव ने उपलब्ध कराते हुए बताया कि 70 स्कूलों के लगभग दो हजार  496 छात्र-छात्राओं का सूखा राशन प्रदाय किया जाएगा जिसमें तूअर दाल, मीठा तेल प्रदाय किया जाएगा।  


विधाथियो  के  लिए  सूखा राशन दाल  व मीठा तेल का वितरण 


जनपद शिक्षा केंद्र विदिशा में मध्यप्रदेश शासन की योजना अनुसार मध्यान भोजन के तहत छात्र छात्राओं को सूखा राशन मीठा तेल एवं दाल का वितरण आज श्रीमती रमा देवी ठाकुर जनपद अध्यक्ष विदिशा द्वारा विदिशा जिला के स्कूलों के शिक्षकों एवं स्वच्छता समूह को किया गया हां प्राथमिक शाला के छात्र हेतु 2 किलो दाल तुवर एवं 525 ग्राम मीठा तेल इसी प्रकार माध्यमिक शाला के छात्र छात्राओं हेतु 3 किलो तुवर दाल एवं 783 ग्राम मीठा तेल प्रदाय किया जाएगा जनपद शिक्षा केंद्र विदिशा से आज सामग्री संबंधित शाला के प्रधान अध्यापक एवं सहायता समूह के अध्यक्षों द्वारा प्राप्त की गई जो कि अपने ग्राम में पहुंचकर शाला में दर्ज समस्त छात्र-छात्राओं को वितरित करेंगे इस अवसर पर श्री रणधीर सिंह ठाकुर पूर्व जनपद अध्यक्ष बीआरसी लक्ष्मण सिंह यादव श्री बलभद्र मैना बीएसी कमलेश दुबे दुष्यंत चौधरी काशीराम काशीराम बघेल अवध नारायण उपाध्याय आदि उपस्थित रहे 

कोई टिप्पणी नहीं: