विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 17 फ़रवरी - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 17 फ़रवरी 2021

विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 17 फ़रवरी

महंगाई के विरोध में 20 फ़रवरी को आधा दिन के लिए विदिशा बंद रहेगा।


vidisha news
विदिशाः- पेट्रोल-डीजल,घरेलू गैस के दामों में बेतहाशा वृद्धि, खाने-पीने की वस्तुओं की आसमान छूती कीमतों से गरीब-मजदूर और आम आदमी का जीवन निर्वहन करना मुश्किल हो गया है। बढ़ती महंगाई के विरोध में मध्यप्रदेश कांग्रेस कमेटी के द्वारा 20 फ़रवरी को आधा दिन के लिए मध्यप्रदेश बंद की अपील की गई है। असंगठित कामगार कांग्रेस के अध्यक्ष अजय कटारे ने बताया कि प्रदेश कांग्रेस कमेटी के निर्देश पर विधायक शशांक भार्गव जी के नेतृत्व में जिला कांग्रेस कमेटी असंगठित कामगार कांग्रेस विभाग के तत्वावधान में विदिशा बंद को सफल बनाने 17, 18, 19 फ़रवरी को महंगाई के खिलाफ जागरूकता अभियान चलाया जाएगा। आम जनता के बीच पर्चा वितरण,बैनर-पोस्टर,बैठकों और नुक्कड़ सभाओं के माध्यम से जनता को महंगाई के खिलाफ एकजुट किया जाएगा। जिला युवा कांग्रेस द्वारा 19 फ़रवरी को शाम 6 बजे स्थानीय माधवगंज चैराहे से मुख्य बाजार में मशाल जुलूस निकालकर 20 फ़रवरी को व्यापारियों से शांतिपूर्ण बंद की अपील की जाएगी। 20 फ़रवरी को प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ जी के आव्हान पर बढ़ती महंगाई के विरोध स्वरूप आधा दिन दोपहर 1 बजे तक विदिशा जिला बंद रहेगा। इस दौरान सब्जी मंडी,अनाज मंडी भी बंद रहेंगी। हॉस्पिटल, डिस्पेंसरी,पेट्रोल पंप,शिक्षण संस्थान को बंद से मुक्त रखा गया है। विदिशा बंद को सफल बनाने आज17 फरवरी को दोप 12 बजे संकट मोचन मंदिर सागर पुलिया से महंगाई के खिलाफ जागरूकता अभियान की शुरुआत विधायक शशांक भार्गव जी के द्वारा की गई। बंटी नगर चैराहे से पीतलमिल चैराहे तक आम जनता व व्यापारियों के बीच पर्चे वितरित कर महंगाई के विरोध में बंद के समर्थन की अपील की गई। इस दौरान मुख्य रूप से शहर कांग्रेस अध्यक्ष देवेंद्र राठौर,नंदकिशोर शर्मा,आशा सिंह राजपूत,ग्रामीण ब्लॉक अध्यक्ष दीवान किरार,सेवादल अध्यक्ष गोविंद भार्गव, युवा कांग्रेस अध्यक्ष वैभव चीनू भारद्वाज, मेहमूद कामिल, डॉ राजेंद्र सिंह दांगी पूर्व पार्षद जितेंद्र तिवारी,अरुण राजू अवस्थी,धन्नालाल कुशवाह,ओपी सोनी,अमित सोनी,डीके रैकवार,नूर भाई,जावेद मंसूरी,मुआज कामिल,खिलान सिंह शाक्य,सोनू राजपूत,शोभित अग्रवाल,भगवत सिंह रघुवंशी, दीपक दुबे आदि उपस्थित रहे।


हिट एण्ड रन के एक प्रकरण में आर्थिक मदद जारी 


कलेक्टर डॉ पंकज जैन ने सड़क दुर्घटना में मृतक के निकटतम परिजन को पन्द्रह हजार रूपए की आर्थिक मदद जारी कर दी है।  जारी आदेश में उल्लेख है कि गुलाबगंज तहसील के ग्राम ठर्र निवासी श्री वकील पुत्र श्री धन्नालाल अहिरवार की मृत्यु सड़क दुर्घटना में हो जाने पर मृतक के निकटतम वारिसान श्री धन्नालाल पुत्र श्री हल्केराम अहिरवार को 15 हजार रूपए की आर्थिक सहायता जारी कर दी गई है।


’राज्य स्तरीय विश्वकर्मा पुरस्कार के लिये कलाकृतियां आमंत्रित’


संत रविदास म.प्र.हस्तशिल्प एवं हाथकरघा विकास निगम लिमिटेड द्वारा प्रदेश में निवासरत, निगम में पंजीकृत और भारत सरकार के कपड़ा मंत्रालय के आयुक्त हस्तशिल्प कार्यालय में पंजीकृत शिल्पियों से वर्ष 2021-22 के राज्य स्तरीय विश्वकर्मा पुरस्कार के लिये कलाकृतियां आमंत्रित की गई है। इस योजना में अभिरूचि रखने वाले शिल्पी आगामी 30 अप्रैल तक सादे कागज पर निगम कार्यालय सामान्य सुविधा केंद्र सौंसर में अपने आवेदन जमा कर सकते हैं। संत रविदास म.प्र.हस्तशिल्प एवं हाथकरघा विकास निगम लिमिटेड ने बताया कि राज्य स्तरीय विश्वकर्मा पुरस्कार योजना के अंतर्गत प्रथम पुरस्कार एक लाख रूपये, व्दितीय पुरस्कार 50 हजार रूपये, तृतीय पुरस्कार 25 हजार रूपये और 3 शिल्पियों को 15 हजार रूपये प्रोत्साहन पुरस्कार के रूप में दिये जाते हैं। उन्होंने बताया कि पुरस्कार के लिये आवेदन पत्र प्रस्तुत करते समय सहमति पत्र में शिल्प और कलाकृति का नाम उल्लेख करना आवश्यक है। पुरस्कृत शिल्पियों को देशध्विदेश में निगम द्वारा आयोजित प्रदर्शनियों और शिल्पियों के कौशल उन्नयन के लिये विशिष्ट प्रशिक्षण में प्राथमिकता दी जायेगी। 


अब किसान खुद फसलों की जानकारी भू-अभिलेख में दर्ज करा सकेंगे


राज्य शासन ने किसान हित में बड़ा फैसला लिया है, इसके तहत अब किसान अपनी भूमि पर उगाई गई फसलों की जानकारी स्वतरू राजस्व विभाग के एमपी किसान एप, लोक सेवा केन्द्र, एमपी ऑनलाईन, नागरिक सुविधा केन्द्र के माध्यम से भू-अभिलेख में दर्ज करा सकेंगे।   आयुक्त भू-अभिलेख द्वारा इस संबंध में जारी आदेश के अनुसार स्वघोषणा के माध्यम से किसान द्वारा दर्ज कराई गई जानकारी का सत्यापन राजस्व अमले द्वारा किया जायेगा। दरअसल फसल गिरदावरी किसानों द्वारा उगाई गई फसलों को अभिलेखों में दर्ज करने की प्रक्रिया है। इसकी जानकारी के आधार पर राज्य सरकार और केन्द्र सरकार नीतियां एवं योजनायें तैयार करती हैं। इसके अलावा राजस्व अभिलेख में दर्ज विवरण गिरदावरी किसानों के व्यापक हित में है। किसानों को फसल बीमा, किसान क्रेडिट कार्ड, फसल ऋण व कृषि के लिए अन्य ऋण सरकार के न्यूनतम समर्थन मूल्य योजना के तहत कृषि उपज की भावान्तर योजना जैसी मूल्य समर्थित सेवाओं व योजनाओं के तहत लाभ प्राप्ति हेतु गिरदावरी जरूरी है।  इसके अलावा आरबीसी के प्रावधानों के अंतर्गत फसल हानि की स्थिति में राहत प्राप्त करने के लिए कृषि, बागवानी, रेशम आदि विभागों की योजनाओं के लाभ प्राप्ति के लिए फसल गिरदावरी के आंकड़े अत्यन्त महत्वपूर्ण होते हैं। 

कोई टिप्पणी नहीं: