विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 26 फ़रवरी - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शुक्रवार, 26 फ़रवरी 2021

विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 26 फ़रवरी

संत शिरोमणि श्री रविदास जयंती की हार्दिक शुभकामनाएं


संत शिरोमणि श्री रविदास जी की जयंती पूर्व संध्या पर आज कलेक्टर डॉ पंकज जैन ने जिलेवासियों को बधाई और हार्दिक शुभकामनाएं दी है। उन्होंने कहा कि संत शिरोमणि श्री रविदास जी का सम्पूर्ण जीवन हमें शांति, भाईचारे और साम्प्रदायिक सौहार्द्र को बनाए रखने का संदेश देता है। 


मुख्यमंत्री श्री चौहान ने प्रदेश की 99 नवीन व सुदृढ़ीकृत दीन दयाल रसोई केन्द्रों का ई लोकार्पण किया


vidisha news
मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने आज दीनदयाल रसोई योजना के द्वितीय चरण तहत 99 नवीन व सुदृढीकृत केन्द्रो का ई लोकार्पण किया है।  मुख्यमत्रीं जी के लाइव उद्बोधन एवं ई लोकार्पण कार्यक्रम का विदिशा जिले में भी लाइव प्रसारण देखने, सुनने के प्रबंध सुनिश्चित किए गए थे। पुरानी नगरपालिका बस स्टेण्ड परिसर में एलईडी पर लाइव प्रसारण  कार्यक्रम का विदिशा नगरपालिका के पूर्व अध्यक्ष श्री मुकेश टण्डन समेत अन्य जनप्रतिनिधियों, गणमान्य नागरिकों ने देखा सुना है।  गौरतलब हो कि विदिशा जिला मुख्यालय पर दीनदयाल रसोई का संचालन बस स्टेण्ड के समीप सब्जी मंडी के प्रथम तल पर संचालित हो रहा है। यहां दस रूपए की दर से आगंतुक सभी व्यक्तियों को स्वादिष्ट एवं पौष्टिक भोजन उपलब्ध कराय जा रहा है। मुख्य नगरपालिका अधिकारी एवं उनकी टीम नियमित मानिटरिंग कर रही है। 

उपार्जन कार्यो की समीक्षा 


vidisha news
विदिशा जिले में समर्थन मूल्य पर गेंहू, चना, मसूर विक्रय के लिए एक लाख 18 हजार 513 किसानो के द्वारा पंजीयन कराया गया है। कलेक्टर डॉ पंकज जैन ने आज उपार्जन कार्यो के मद्देनजर किए जाने वाले प्रबंधो की समीक्षा की। उन्होंने कहा कि गतवर्ष के अनुभवो को ध्यानगत रखते हुए  उपार्जन कार्यो में किसी भी प्रकार की त्रुटि ना हो इसके लिए नान एवं मार्कफेड के अलावा क्रियान्वयन का दायित्व निभाने वाले अन्य विभागो के द्वारा पूरा अभ्यास कर लिया जाए ताकि शासन की गाइड लाइन के अनुसार समय सीमा पर उपार्जन कार्य, परिवहन और किसानो को राशि का भुगतान हो ततसंबंध में किसी भी प्रकार की समस्या परलिक्षित होती है तो उसका समाधान अविलम्ब प्राप्त किया जाए।  कलेक्टर डॉ जैन ने उपार्जन कार्यो की पूर्व बैठको में दिए गए निर्देशो के अनुपालन में की गई कार्यवाही से भी अवगत हुए। उन्होंने कहा कि उपार्जन केन्द्रो की मेपिंग कार्य तथा किसानो के मेपिंग कार्य सटीक हो जिससे अवरूद्ध कही उत्पन्न ना हो सकें। बैठक में बताया गया कि रबी सीजन के तहत जिले में सिंचित, असिचिंत कुल 354101.77 हेक्टेयर क्षेत्र में गेंहू, चना, मसूर की फसल किसानो के द्वारा ली गई है। जिसका 98 प्रतिशत सत्यापन कार्य किया जा चुका है। जिले में कुल पंजीकृत किसानो में से गेंहू विक्रय हेतू 102089 ने तथा चना के लिए 42602 किसानो के द्वारा जबकि मसूर फसल विक्रय हेतु 21746 कृषकों के द्वारा पंजीयन कराया गया है।  कलेक्टर चेम्बर में सम्पन्न हुई उक्त बैठक में अपर कलेक्टर श्री वृदांवन सिंह, डिप्टी कलेक्टर श्रीमती अमृता गर्ग, का-आपरेटिव बैंक के सीईओ श्री विनय प्रकाश सिंह, नागरिक आपूर्ति एवं मार्कफेड के अधिकारी मौजूद रहें। 

जल का सदुपयोग करें, नलो में टोंटियां अनिवार्यतः लगाएं 


कलेक्टर डॉ पंकज जैन ने समस्त जल उपभोक्ताओं से जल का अपव्यय होने से बचाव के लिए नलो में टोंटियां अनिवार्य रूप से लगाएं। कलेक्टर डॉ जैन ने ततसंबंध में समस्त अनुविभागीय राजस्व अधिकारियों, जनपदो एवं निकायो के अधिकारियों को पत्र प्रेषित कर उन्हें नलों में टोंटी लगवाने का कार्य अभियान के रूप में क्रियान्वित करने के निर्देश प्रसारित किए है। कलेक्टर डॉ जैन के द्वारा जारी पत्र में उल्लेख है कि नलो में टोंटियां नही होने से जल का अपव्यय होता है साथ ही आस-पास कीचड़  एवं गंदगी बढती है जिससे विभिन्न प्रकार की बीमारियां फैलने की संभावनाएं बढ़ जाती है। आमजन के स्वास्थ्य हित व जल का सदुपयोग को ध्यानगत रखते हुए घरो एवं सार्वजनिक स्थलों के नल कनेक्शनों में टोंटियां लगाने का कार्य अभियान के रूप में क्रियान्वित कर प्रेरणादायी संदेश आमजनो तक पहुंचे के संबंध में विस्तृत मार्गदर्शनयुक्त पत्र प्रेषित किया है।  कलेक्टर डॉ जैन ने समस्त एसडीएमों को खण्ड स्तरीय समीक्षा बैठको में टोंटी लगाओं अभियान की समीक्षा कर क्रियान्वित कार्यो का पालन प्रतिवेदन जिला कार्यालय को अनिवार्य रूप से उपलब्ध कराएं। इसी प्रकार जनपद स्तर पर क्रियान्वयन के परिपेक्ष्य में दिशा निर्देश प्रसारित किए गए है। ग्राम पंचायतों को उपलब्ध कराए गए 15वें वित्त आयोग की राशि से जल संरचनाओं के निर्माण संबंध में जारी निर्देशो का पालन कर आवश्यक कार्यवाही समय सीमा में क्रियान्वित कर जल संचय में बढोतरी हो की ओर सार्थक पहल पंचायतों के माध्यम से संपादित हो। 


सड़कों का निरीक्षण 


कलेक्टर डॉ पंकज जैन के द्वारा लटेरी विकासखण्ड में सड़को की प्राप्त शिकायतो का स्थली निरीक्षण संयुक्त कलेक्टर श्री रोशन राय को दिए गए निर्देशो के परिपालन में श्री राय के द्वारा आज लटेरी विकासखण्ड अंतर्गत पीडब्ल्यूडी, पीएमजीएसवाय के माध्यम से निर्मित की गई सड़को की गुणवत्ता, टेण्डर अवधि में निर्माण कार्य पूरा हुआ है या नहीं। परीक्षण के लिए निर्धारित अन्य मापदण्डो का पालन करते हुए संयुक्त श्री राय के द्वारा जायजा लिया गया है।  कलेक्टर डॉ जैन के द्वारा दिए गए निर्देशो के अनुपालन में संयुक्त कलेक्टर श्री राय के द्वारा भ्रमण कर लिया गया जायजा से उन्होंने अवगत कराया कि प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना तहत बनाई गई सड़के क्रमशः आनंदपुर-उनारसीकलां मार्ग का निर्माण गुणवत्ताविहीन हो रहा है, लटेरी-शमशाबाद मार्ग से झूकरजोगी तक का मार्ग खराब है। इसके अलावा श्री राय के द्वारा मेहमूदगंज से मोतीपुर, जावती से निसोबर्री, ईसरवास से बनारसी और लटेरी से मलनिया मार्ग का भी जायजा लिया गया है।


आपके द्वारा आयुष्मान माह का आयोजन  एक मार्च से शुरू होगा  


पात्रताधारी हितग्राहियों को समय पर आयुष्मान कार्ड निःशुल्क उपलब्ध हो इसके लिए स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग के द्वारा जारी दिशा निर्देशो के अनुपालन में विदिशा जिले में भी आपके द्वार आयुष्मान माह का आयोजन एक मार्च से 31 मार्च तक किया जाएगा। कलेक्टर डॉ पंकज जैन ने आपके द्वार आयुष्मान माह अवधि में सम्पादित होने वाले कार्यो का लाभ सुपात्रो को मिले के क्रियान्वयन एवं मानिटरिंग हेतु उनके द्वारा संबंधितों को आवश्यक जबावदेंही सौंपी है।  आयुष्मान भारत निरामयम योजना के पात्र हितग्राहियों की पहचान कर उन्हें निःशुल्क कार्ड जारी करना है ताकि पांच लाख तक की राशि का निःशुल्क इलाज कार्डधारकों को मिल सकें। निःशुल्क कार्ड बनाने के लिए जिले में कामन सर्विस सेन्टरों से अनुबंध किया गया है। उनके द्वारा हितग्राहियों का पीवीसी आयुष्मान कार्ड निःशुल्क बनाए जा रहे है।


271 ग्रामों में आबादी सर्वेक्षण कार्यपूर्ण 


आबादी सर्वेक्षण योजना का मुख्य उद्वेश्य सम्पत्ति के अधिकार का सरकारी दस्तावेंज प्रदान करना है जिसके तहत विदिशा जिले के ग्रामीण क्षेत्रों में प्रत्येक सम्पतिधारक को सम्पति प्रमाण पत्र प्रदान किया जाएगा।  आबादी सर्वेक्षण योजना के अंतर्गत विदिशा जिले की तीन तहसील क्रमशः ग्यारसपुर, गुलाबगंज व त्योंदा के कुल 271 ग्रामो में ड्रोन फ्लाई के माध्यम से सर्वे कार्य किया जा चुका है। आगामी सप्ताह में कुरवाई एवं पठारी के ग्रामों में ड्रोन फ्लाई से सर्वेक्षण कार्य प्रारंभ होगा।  विदिशा जिले की ग्यारसपुर एवं गुलाबगंज के 57 ग्रामो में अंतिम प्रकाशन का कार्य पूर्ण किया गया है। इन ग्रामो के हितग्राहियों को शीघ्र ही अधिकार पत्रों का वितरण कर भूमि का मालिकाना हक प्रदाय किया जाएगा। 


मोटरयान कर में छूट का लाभ 31 मार्च तक


मध्यप्रदेश शासन परिवहन विभाग द्वारा मोटरयान कर एवं शास्ति के भुगतान के संबंध में छूट प्रदान की गई थी। उक्त समय सीमा को बढाकर 31 मार्च 2021 तक की वृद्धि कर दी गई है। पूर्व में वाहनों पर बकाया मोटरयान कर का एक मुश्त भुगतान करने पर अधिसूचना की तारीख से पांच वर्ष तक पुराने वाहनों पर 20 प्रतिशत, पांच वर्ष से अधिक किंतु 10 वर्ष से अनाधिक पुराने वाहनों पर 40 प्रतिशत, 10 वर्ष से अधिक किंतु 15 वर्ष से अनाधिक पुराने वाहनों पर 50 प्रतिशत एवं 15 वर्ष से अधिक पुराने वाहनों पर 70 प्रतिशत तक की छूट प्रदान की जा रही है। प्राप्त जानकारी के अनुसार पंजीयन दिनांक से 20 वर्ष की अवधि पूर्ण कर चुके पथ भ्रष्ट यानों पर एक मुश्त बकाया जमा करने एवं वाहन का पंजीयन निरस्त कराने की शर्त पर 90 प्रतिशत की छूट प्रदान की जा रही है। उक्त छूट की समय-सीमा 31 मार्च 2021तक वैध तथा प्रभावशाली रहेगी। जिन वाहनों पर पूर्व का मोटरयान कर एवं शास्ति बकाया है वे कार्यालय जिला परिवहन अधिकारी से संपर्क कर शासन द्वारा प्रदान की जा रही छूट का लाभ प्राप्त कर सकते हैं।


परीक्षाओं के प्रश्न-पत्र मुद्रण, ब्लूप्रिंट और मूल्यांकन पद्धति में नही होगा कोई परिवर्तन


माध्यमिक शिक्षा मंडल परीक्षा वर्ष 2020-21 के लिये पूर्व वर्षों के अनुसार ही प्रश्न-पत्र मुद्रण, ब्लूप्रिंट एवं मूल्यांकन पद्धति को यथावत रखते हुए परीक्षाएँ आयोजित करेगा।  उल्लेखनीय है कि कोविड संक्रमण के कारण लॉकडाउन होने से इस सत्र में शैक्षणिक व्यवस्था विपरीत रूप से प्रभावित हुई है। नियमित कक्षाओं में पूर्ण उपस्थिति न होने के कारण सभी विद्यार्थियों के परीक्षा परिणामों पर विपरीत प्रभाव पड़ सकता है। इसे ध्यान में रखते हुए स्कूल शिक्षा विभाग ने माध्यमिक शिक्षा मंडल द्वारा वर्ष 2021 की परीक्षाओं के प्रश्न-पत्रों में ऑनलाइन, सॉफ्ट कॉपी में प्रेषण, ब्लू प्रिंट और मूल्यांकन पद्धति को पिछले वर्ष की भांति ही रखने का निर्णय लिया है।

कोई टिप्पणी नहीं: