पगड़ी संभालो, नही तो हो जाओगे बर्बाद : अजित सिंह - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 28 फ़रवरी 2021

पगड़ी संभालो, नही तो हो जाओगे बर्बाद : अजित सिंह

ajit-singh-warning-to-government
बागपत 27 फरवरी, राष्ट्रीय लोकदल (रालोद) के राष्ट्रीय अध्यक्ष चौधरी अजित सिंह ने किसानों को तीनों कृषि कानूनों के खिलाफ आंदोलन के लिए एकजुट रहने का आह्वान करते हुये कहा कि वे अभी से इस सरकार को नष्ट करने में लग जाये वरना यह सरकार उन्हें बर्बाद कर देगी। बागपत के बामनौली गांव में राजा सलक्षणपाल तोमर की जयंती के अवसर पर आयोजित किसान पंचायत को संबोधित करते हुये उन्होंने कहा कि शहीद भगत सिंह के चाचा सरदार अजित सिंह ने अंग्रेजों के किसान विरोधी कानूनों के खिलाफ पगड़ी संभालने का नारा दिया था। वे भी अब पगड़ी संभाल लो, इस सरकार का बहिष्कार शुरु कर दो। शनिवार को चौधरी अजित सिंह के तेवर तीनो कृषि कानूनों के खिलाफ बेहद सख्त दिखे। उन्होंने तीनों कृषि कानूनों का किसानों पर पड़ने वाले प्रभाव की जानकारी दी। उन्होंने कहा कि यह सरकार किसानों की जमीन छीनना चाहती है। कांट्रेक्ट खेती कानून जिस तरह से केन्द्र सरकार ने लागू किया, इससे किसी भी तरह से किसान की जान नहीं बचती।   उन्होंने कहा कि केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने अपने सांसदों व विधायकों को अपने क्षेत्रों में समझाने के लिए भेजा है। वह किसानों को नहीं समझा पाए। वह उनसे कहना चाहते हैं कि यह कानून उन्हें समझा दें। यदि मेरी समझ में आ गए तो मैं किसानों को समझा दूंगा। रालोद अध्यक्ष ने कहा कि कांट्रेक्टर खेती को वह बुरी नहीं मानते हैं। गन्ने की खेती का कांट्रेक्ट ही तो है, लेकिन यह कांट्रेक्ट सरकार से किया जाता है। सरकार भाव तय करती है। सरकार को सभी फसलों के भाव तय करने चाहिए। पूंजीपतियों के हवाले किसानों के खेत और फसलों को क्यों कर रहे हो। श्री सिंह ने कहा कि स्वर्गीय चौधरी चरण सिंह ने कानून बनाया था कि जो भी चीनी मिल गन्ना किसानों का भुगतान नहीं करेंगी, उन्हें जब्त कर लिया जाएगा। श्री मोदी ने सत्ता में आते ही इस कानून को समाप्त कर दिया। उन्होंने कहा कि सरकार ने एफसीआई को कर्ज में दबा दिया, यदि इसी तरह से कर्ज रहा तो एफसीआई समाप्त हो जाएगी। रालोद अध्यक्ष ने कहा कि अब इस सरकार को नष्ट करने में लग जाओ। किसानों से कहा कि पगड़ी संभाल लो। सर छोटूराम ने धर्म से उपर उठकर सरकार बनाई थी। तुम भी अपनी सरकार बनाओ।


कोई टिप्पणी नहीं: