भाजपा काे मतपत्र से चुनाव करवाने में परहेज नहीं होना चाहिये : कमलनाथ - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 28 फ़रवरी 2021

भाजपा काे मतपत्र से चुनाव करवाने में परहेज नहीं होना चाहिये : कमलनाथ

bjp-may-take-election-by-ballot-kamalnath
रीवा, 27 फरवरी, मध्यप्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ने भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) नेताओं पर हमला करते हुए आज कहा कि वह खुद को लोकप्रिय मानते हैं और कहते हैं कि प्रदेश की जनता उनके साथ है, तो उन्हें ईवीएम छोड़कर चुनाव मतपत्र से करवाना चाहिये। श्री कमलनाथ ने यहां एनसीसी मैदान में कांग्रेस के संभागीय सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा कि जिस ईवीएम को अमेरिका, फ़्रांस, जर्मनी, जापान जैसे देशों ने छोड़ दिया, उसे आज भाजपा ने पकड़कर रखा है। उन्होंने कहा कि भाजपा के नेता खुद को लोकप्रिय बताते हैं और स्वयं कहते हैं कि प्रदेश की जनता उनके साथ है। ऐसी स्थिति में भाजपा को ईवीएम का मोह छोड़ कर चुनाव मतपत्र से करवाने में परहेज नहीं होना चाहिये। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि 15 वर्ष बाद प्रदेश में कांग्रेस की सरकार आयी, आप सब लोगों ने कांग्रेस को चुना। यह सही है कि विंध्य में हमारा नुकसान हुआ, विंध्य में हमारा नुकसान नहीं होता तो आज भी प्रदेश में कांग्रेस की सरकार होती, लेकिन यहां के कांग्रेस कार्यकर्ताओं में बहुत उत्साह है। यहां के कार्यकर्ता कमजोर नहीं है, यदि आप सब लोग ठान लेंगे तो वापस प्रदेश में कांग्रेस का झंडा लहराएगा। उन्होंने कहा कि आज संत रविदास की जयंती है। वे उनके श्री चरणों में नमन करते हैं। उन्होंने कहा कि संत रविदास ने ना सिर्फ़ सामाजिक न्याय के लिए संघर्ष किया बल्कि उन्होंने सामाजिक सुधार के लिए भी संघर्ष किया, आध्यात्मिक क्षेत्र में भी उनका बड़ा योगदान था। उनकी जयंती के अवसर पर वह घोषणा करते है कि आप लोग उनकी प्रतिमा के लिए स्थान ढूंढे, प्रतिमा वे लगवाएंगे। श्री कमलनाथ ने कहा कि आज हमारे सामने दूसरी बड़ी चुनौती युवाओं के भविष्य की है, उनके रोजगार की है। क्योंकि यही युवा प्रदेश का, देश का नवनिर्माण करेंगे। आज युवाओं का भविष्य अंधेरे में हैं, आज रोज़गार को लेकर युवा भटक रहा हैं, आज बेरोजगारी की क्या स्थिति है, हम सब देख रहे हैं। उन्होंने कहा कि प्रदेश में कैसे रोजगार के नए अवसर पैदा हो, एक उद्योग लगता है तो उससे आर्थिक गतिविधि बढ़ती है। इस अवसर पर सभा को पूर्व नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह, राजमणि पटेल, राजेंद्र सिंह, लखन घनघोरिया, कमलेश्वर पटेल, नीलांशु चतुर्वेदी, सिद्धार्थ कुशवाहा, सुनील सराफ़, सिद्धार्थ तिवारी, विक्रांत भूरिया, तिलक राज सिंह, यादवेंद्र सिंह, राजेंद्र मिश्रा, राजाराम त्रिपाठी आदि ने भी संबोधित किया। 

कोई टिप्पणी नहीं: