बिहार : विश्व कैंसर दिवस पर राज्यस्तरीय जागरूकता अभियान की शुरुआत - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शुक्रवार, 5 फ़रवरी 2021

बिहार : विश्व कैंसर दिवस पर राज्यस्तरीय जागरूकता अभियान की शुरुआत

cancer-awareness-patna
पटना. ऑस्ट्रेलिया के तेज गेंदबाज हैं ग्लेन मैकग्रा. मैकग्रा ने ब्रेस्ट कैंसर की वजह से पत्नी जेन मैकग्रा को खोया है.इसके बाद मैकग्रा ने ब्रेस्ट कैंसर के प्रति लोगों में जागरूकता करने व फंड संग्रह करनें जुटे रहते हैं.इसी तरह बिहार की गुलमोहर मैत्री नामक संस्था की संस्थापक सचिव मंजू सिन्हा ब्रेस्ट कैंसर की जानकारी प्रसार करने में लगी हैं. मैक्ग्रा फाउंडेशन की सीईओ होली मास्टर्स ने कहा, 'लोगों को पता नहीं है पर हमें 154 मैक्ग्रा ब्रेस्ट केयर नर्सेज के नेटवर्क को फंड करने के लिए सालाना 1.4 करोड़ डॉलर की जरूरत पड़ती है.इसलिए पिंक टेस्ट से हमें इस लड़ाई को और मजबूत करने में मदद मिलती है.ऑस्ट्रेलिया में प्रति दिन 55 ब्रेस्ट कैंसर के मामले सामने आते हैं.' 


पत्नी की याद में ग्लेन मैक्ग्रा बनाते हैं इसे खास 

दरअसल, पिंक टेस्ट का नाता ऑस्ट्रेलियाई दिग्गज ग्लेन मैक्ग्रा और उनकी पत्नी जेन से जुड़ा है. टेस्ट मैच के तीसरे दिन को 'जेन मैक्ग्रा डे' के नाम से जाना जाता है.जेन का 2008 में ब्रेस्ट कैंसर की वजह से निधन हुआ था. इसके बाद ब्रेस्ट कैंसर के प्रति लोगों में जागरूकता के लिए सिडनी में पिंक टेस्ट कराया जाने लगा.यह ग्लेन मैक्ग्रा का होम ग्राउंड है.  गुलमोहर मैत्री की संस्थापक सचिव मंजू सिन्हा ने बताया कि  ब्रेस्ट कैंसर न केवल महिलाओं को अपना शिकार बना रही है बल्कि पुरूषों में भी यह बीमारी तेजी से फैलने लगी है.इसलिए ब्रेस्ट कैंसर के प्रति परिवार के हर सदस्य को जागरूक रहना चाहिए. मंजू सिन्हा ने बताया कि मानव शरीर में कुछ हार्मोन्स के असुंतलन ,अनियमित जीवन शैली, खास कर महिलाओं में स्तन कोशिकाओं में अनियंत्रित वृद्धि स्तन कैंसर का मुख्य कारण है. कोशिकाओं में होने वाली लगातार वृद्धि एकत्र होकर गांठ का रूप ले लेती है, जिसे कैंसर ट्यूमर कहते हैं.   गुलमोहर मैत्री द्वारा स्थापना के 10 साल पूरे हाेने पर दूसरी पिंक परेड पटना साइंस काॅलेज में आयोजित की गई.ब्रेस्ट और सर्वाइकल कैंसर के प्रति जागरुकता के लिए इसमें करीब 1100 लोग पहुंचे.परेड में 18 यूनिट शामिल हुई, जिसका नेतृत्व बीएमपी के म्यूजिकल बैंड ने किया.पिंक पैरेड का मकसद ब्रेस्ट कैंसर अवेयरनेस के लिए लोगों को जागरूक करना है. इसमें विभिन्न स्कूलों-कॉलेजों के स्टूडेंट्स, इंस्टीट्यूट, एनसीसी, स्काउट, बी-एमपी बैंड के अलावा कई अन्य बैंड भी शामिल थे. कार्यक्रम था गुलमोहर मैत्री के जिजीविषा चैप्टर-2 के तहत पिंक परेड का. परेड ईको पार्क के गेट नंबर- 02 तक गई.  उन्होंने कहा कि मुख्य अतिथि बिहार विधानसभा के कार्यकारी सभापति हारुण रशीद ने हजारों गुलाबी गुब्बारे उड़ाकर राज्यस्तरीय जागरुकता अभियान की शुरुआत की. कार्यक्रम में गुलमोहर मैत्री की सचिव मंजू सिन्हा ने कहा कि यह अनोखा कार्यक्रम है, जिसमें बड़ी संख्या में युवा पीढ़ी और महिलाओं ने एक साथ कदम से कदम मिलाकर ब्रेस्ट कैंसर के खिलाफ जंग का ऐलान किया है. उन्होंने बताया कि गुलमोहर मैत्री राज्य के हर जिलों में जाकर ब्रेस्ट कैंसर जागरूकता के लिए मैत्री संवाद, हेल्थ कैंप और रक्तदान शिविर का आयोजन करेगी.  संस्था का लक्ष्य है कि अगले एक साल 50 लाख लोगों को जागरूक किया जा सके. उन्होंने आगे कहा कि विश्व कैंसर दिवस पर गुलमोहर मैत्री की ओर से राज्यस्तरीय जागरूकता अभियान की शुरुआत की गयी. इसी उद्देश्य से एक फरवरी को पटना में पिंक परेड का आयोजन किया गया था. इस मौके पर विधान पार्षद व पूर्व मंत्री देवेशचंद्र ठाकुर और राज्य परिवहन निगम आयुक्त सीमा त्रिपाठी मौजूद थीं.ब्रेस्ट सर्वाइकल कैंसर के प्रति जागरुकता के लिए पिंक परेड है. आगे कहा कि गुलमोहर मैत्री द्वारा स्थापना के 10 साल पूरे हाेने पर दूसरी पिंक परेड पटना साइंस काॅलेज में आयोजित की गई.ब्रेस्ट और सर्वाइकल कैंसर के प्रति जागरुकता के लिए इसमें करीब 1100 लोग पहुंचे. परेड में 18 यूनिट शामिल हुई, जिसका नेतृत्व बीएमपी के म्यूजिकल बैंड ने किया. भारतीय संस्कृति के अनुरूप दीप प्रज्वलन के साथ "तमसो मा ज्योतिर्गमय" की भावना को साकार करते हुए पिंक परेड 2021 का शानदार शुभारंभ हुआ.सम्मानित अतिथियों के आगमन से कार्यक्रम एवं परेड का उत्साह कई गुना बढ़ गया. ऐसे विभूतियों को सम्मानित करना एवं उनके उद्बोधन से लाभान्वित होना हम सब के लिए बड़े हर्ष एवं गौरव का विषय रहा.सम्मानित मुख्य अतिथि माननीय शिक्षा मंत्री श्री अशोक चौधरी जी,  अतिविशिष्ट अतिथि  NCC बिहार-झारखंड के ADG मेजर जनरल एम इन्द्रबालन सर,  पद्मश्री बिमल कुमार जैन जी, पद्मश्री सुधा वर्गीज जी एवं बिहार विधान परिषद के माननीय सदस्य देवेश चन्द्र ठाकुर सर का सहृदय आभार. रंगारंग परेड में मंत्री अशोक चौधरी, विधान पार्षद देवेश चंद्र ठाकुर, पद्मश्री सुधा वर्गीज व विमल जैन, एनसीसी के एडीजी एम. इंद्रबालन और साइंस कॉलेज के प्राचार्य डॉ. श्रीराम पद्मदेव शामिल हुए.एनसीसी व एनएसएस के अलावा पटना साइंस कॉलेज, वाणिज्य महाविद्यालय, स्काउट गाइड, बीएन कॉलेज, मगध महिला कॉलेज, जीडीएस गर्ल्स हॉस्टल, बिईंग हेल्पर, रेनबो होम, अंशुल क्रिकेट एकेडमी, इनर व्हील क्लब, रोटरी पाटलिपुत्र, जेडी वीमेंस कॉलेज, पटना कॉलेज, संत जेवियर्स कॉलेज, नारी गुंजन की वुमेनिया बैंड और अन्य सामाजिक   सामाजिक संगठनों के करीब 1100 लोग शामिल हुए। मौके पर मंत्री अशोक चौधरी ने कहा, स्त्री विमर्श पर बड़े-बड़े व्याख्यान होते हैं, पर सही मायने में ऐसे कार्यक्रम नारी सुरक्षा के लिए जरूरी है. जागरुकता कार्यक्रम से ही हम महिलाओं में सुरक्षा की भावना को जागृत कर सकते हैं. वहीं, विधान पार्षद देवेशचंद्र ठाकुर ने कहा, त्याग और दया की प्रतिमूति महिलाओं को सुरक्षित करने के लिए ऐसे जन-जागरूक कार्यक्रम सराहनीय हैं.एनसीसी के एडीजी एम. इंद्रबालन ने कहा, एनसीसी समाज में विभिन्न सामाजिक कार्य व जागरूकता अभियान में हिस्सा लेता है. ऐसे आयोजनों में शामिल होकर आज हम बड़ी जिम्मेदारी को स्वीकार कर रहे हैं. गुलमोहर मैत्री की संस्थान की सचिव मंजू सिन्हा ने सबका आभार जताते हुए कैंसर के प्रति हमेशा सचेत रहने को कहा.कार्यक्रम का संचालन सोमा चक्रवर्ती ने किया.

कोई टिप्पणी नहीं: