बिहार : रुपेश हत्याकांड का खुलासा, रोडरेज के कारण हुई हत्या - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 3 फ़रवरी 2021

बिहार : रुपेश हत्याकांड का खुलासा, रोडरेज के कारण हुई हत्या

rupesh-murder-case-revealed-roadrage-killing
पटना : पटना पुलिस ने बहुचर्चित इंडिगो एयरलाइंस स्टेशन हेड रूपेश सिंह हत्याकांड का खुलासा कर दिया है। पटना एसएसपी उपेंद्र शर्मा मर्डर का खुलासा करते हुए कहा कि यह हत्या रोडरेज के कारण हुई है। पटना एसएसपी ने बताया कि चार अपराधियों ने मिलकर इस घटना को अंजाम दिया है। जो कि पटना का ही रहनेवाला है। पुलिस कप्तान ने कहा कि पुलिस लंबे अनुसंधान के बाद घटना को अंजाम देने वाले एक आरोपी को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने अपराधी के पास से घटना में इस्तेमाल होने वाला हथियार, गोली, बाइक के अलावा अन्य सामान भी जब्त की है। शर्मा ने बताया कि रूपेश हत्याकांड में गिरफ्तार हुए आरोपी का नाम ऋतुराज है, जो धनरूआ का रहने वाला है। पटना एसएसपी ने कहा कि हैरानी की बात यह है कि जिस शख्स ने इस घटना को अंजाम दिया है, उसने जीवन में पहली बार गोली चलाई है। उन्होंने बताया कि आरोपी अपने पास एक साल से हथियार रखता था, लेकिन उसने जिंदगी में पहली बार गोली चलाई थी। जब, उसने रुपेश के ऊपर अंधाधुंध गोलियां बरसाईं, तो उसने देखा भी नहीं कि उसकी बंदूक से कितनी गोली चली है। ज्ञातव्य हो कि इंडिगो के स्टेशन हेड रुपेश सिंह को 22 दिन पहले 12 जनवरी को पटना एयरपोर्ट से लौटने के क्रम में घर के नजदीक अपराधियों ने ताबड़तोड़ गोलियां बरसाकर मौत के घाट उतार दिया था। रुपेश सिंह अपने परिवार के साथ राजधानी पटना के पुनाईचक स्थित कुसुमविला अपार्टमेंट में रहते थे। पटना एसएसपी ने बताया कि 12 जनवरी की शाम 6 बजकर 58 मिनट पर उनकी हत्या की गई थी। इसके बाद लगभग 50 से अधिक लोगों से पूछताछ की गई है। साथ ही उन्होंने बताया कि अपराधियों ने रूपेश सिंह की हत्या के लिए 4 बार प्रयास किया, लेकिन वह असफल रहा। इसके बाद 12 जनवरी की शाम घटना को अंजाम देकर चारो अपराधी दानापुर पहुंच गए। वहीं सगुना मोड़ पर एक अपराधी उतर गया था ।

कोई टिप्पणी नहीं: