मधुबनी : आयुष्मान भारत योजना की समीक्षा बैठक - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 11 फ़रवरी 2021

मधुबनी : आयुष्मान भारत योजना की समीक्षा बैठक

ayushman-meeting-madhubani
मधुबनी (आर्यावर्त संवाददाता) आज दिनांक 11.02.2021 को जिला पदाधिकारी श्री अमित कुमार के अध्यक्षता में आयुष्मान भारत योजना की समाहरणालय के सभाकक्ष में हुई समीक्षा बैठक। समीक्षा बैठक में जिले के सिविल सर्जन डॉक्टर सुनील कुमार झा, जिला कार्यक्रम प्रबंधक, जिला कार्यक्रम समन्वयक, मधुबनी, जिला परियोजना प्रबंधक (जीविका), मधुबनी, जिला आई॰टी॰ प्रबंधक (आयु॰ भारत), मधुबनी, सभी प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी, उपाधीक्षक, सभी प्रखण्ड स्वास्थ्य प्रबंधक, सभी प्रखण्ड सामुदायिक उत्पे्ररक, सभी प्रखण्ड विकास पदाधिकारी एवं जिला पंचायत राज पदाधिकारी, मधुबनी उपस्थित थे। जिलाधिकारी ने बताया कि आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना का क्रियान्वयन पत्र लाभार्थियों को 5 लाख रुपये तक की निःशुल्क चिकित्सा प्रदान करने के लिए किया जाता है। योजना के सम्पूर्ण क्रियान्वयन के लिए आवश्यक है कि सभी पात्र लाभार्थियों को योजना से सम्बंधित गोल्डन कार्ड बना कर उपलब्ध करायी जाये। जिले में निर्गत गोल्डन कार्ड का प्रतिशत कम है। अतः पात्र लाभार्थियों को आयुष्मान पखवाड़ा के तहत 17 फरवरी से 3 मार्च तक आयोजित विशेष शिविर चलाकर गोल्डन कार्ड उपलब्ध करायी जायेगी ।  जिलाधिकारी ने आयुष्मान पखवाड़े के सफलतापूर्वक आयोजना के लिए बैठक में उपस्थित अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिया। उन्होंने शिविर के आयोजन के लिए प्रचार-प्रसार, पात्र लाभार्थियों की सूची का मुद्रीकरण, शिविर आयोजन के लिए माइक्रो प्लान तैयार करना, ई-कार्ड का निर्माण एवं वितरण आदि के सम्बन्ध में समीक्षा की एवं इससे सम्बंधित आवश्यक तैयारी का निर्देश दिया। उन्होंने कहा कि पखवाड़े के दौरान आयोजित शिविरों में पत्र लाभार्थी परिवार के सदस्यों को वार्ड सदस्य के सहयोग से जागरूक किया जायेगा। ज्ञात हो कि प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना अंतर्गत गोल्डन कार्ड के लक्ष्य प्राप्ति के लिए आयोजित होने वाले पखवाड़ा के लिए सूक्ष्म कार्य योजना तैयार किया जाना है। जिसमें पखवाड़े से सम्बद्ध सभी हितग्राही यथा जीविका, पंचायती राज के प्रतिनिधियों एवं स्वास्थ्य विभाग के पदाधिकारियों/प्रतिनिधियों को शामिल करते हुए कार्य योजना तैयार किया जाना है। जिलाधिकारी ने कहा कि आयुष्मान पखवाड़ा आयोजित किये जाने एवं ई-कार्ड निर्गत किये जाने से सम्बंधित गतिविधि में किसी प्रकार की कठिनाई नहीं हो, इसके लिए निर्वाचन कार्य की भांति ग्राम पंचायत एवं वार्डवार माइक्रो प्लान सम्बंधित प्रखंड विकास पदाधिकारी द्वारा तैयार किया जायेगा। पखवाड़ा के दौरान पत्र लाभार्थियों का सत्यापन होगा एवं ई-कार्ड सृजित करने का ऑनलाइन निवेदन प्रेषित होगा। जिसे राज्य स्तर के अधिकारी द्वारा अनुमोदित किया जायेगा। अनुमोदन के पश्चात् ही गोल्डन कार्ड बनेगा। गोल्डन कार्ड का वितरण पंचायत सरकार भवन, आर.टी.पी.एस. पोर्टल आदि के माध्यम से किया जायेगा। गोल्डन कार्ड वितरण में पंचायत के प्रतिनिधि एवं आशा/एएनएम का सहयोग लिया जायेगा। जिले में 17 फरवरी 2021 से 3 मार्च 2021 तक आयुष्मान पखवारा का आयोजन किया जाएगा। जिला पंचायत राज के सभी पंचायतों में कार्यपालक सहायक से शिविर लगाकर पंचायत स्तर पर लाभार्थी का गोल्डन कार्ड बनाने का निर्देश दिया गया। पखवारा के दौरान प्रतिदिन प्रतिवेदित करने का भी संबंधित पदाधिकारी को निर्देश दिया गया। जिलाधिकारी ने कहा कि केंद्र सरकार की महत्वकांक्षी योजना है। जिसे शत-प्रतिशत सफल बनाने में सभी का सहभागिता अनिवार्य है। खासकर पंचायती राज के प्रतिनिधियों की अहम भूमिका है। बैठक के माध्यम से अनुरोध किया गया कि प्रस्तावित पखवाड़ा में अधिक से अधिक गोल्डन कार्ड बनाने में सहयोग प्रदान किया जाए। पात्र लाभार्थी को इस योजना के तहत 5 लाख प्रति वर्ष मुफ्त इलाज के लिए सरकार द्वारा सूचीबद्ध अस्पतालों में उपलब्ध कराया जाता है। जिले में कुल 4,91,247 परिवारों को गोल्डन कार्ड बनाने के लिए लक्षित किया गया है जिसमें  80 हजार परिवारों को गोल्डन कार्ड उपलब्ध करा दिया गया है। इन लक्षित परिवार में  23 लाख 70 हजार 685 लाभार्थी सदस्य हैं। 1 लाख 54 हजार 979 लाभार्थी सदस्य को गोल्डन कार्ड निर्गत किया जा चुका है।


गोल्डन कार्ड बनाने के लिए पात्र लाभार्थी को लाना होगा ये दस्तावेज-

1. व्यक्ति पहचान हेतु आधार कार्ड या अन्य कोई पहचान प्रमाण पत्र।

2. पारिवारिक सदस्यता सत्यापन के लिए राशन कार्ड अथवा प्रधानमंत्री द्वारा प्रेषित पत्र।

कोई टिप्पणी नहीं: