मधुबनी : पूंजीपतियों के धन बढाने वाला बजट : मिथिलेश - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

सोमवार, 1 फ़रवरी 2021

मधुबनी : पूंजीपतियों के धन बढाने वाला बजट : मिथिलेश

budget-for-industrialist-cpi

मधुबनी (आर्यावर्त संवाददाता) केंद्र सरकार द्वारस प्रस्तुत बजट पूंजीपतियों के धन को कई गुना अधिक करने वाला है । किसान आंदोलन के धार को जब सरकार अपनी ताकतों से कमजोर नही कर सकी है तब समर्थन मूल्यों में बृद्धि का महज  झुनझुना दिखाकर गुमराह करने का प्रयास है । कृषि उत्पादन के मूल्यों की कानूनी गारेंटी नही देकर सरकार कॉरपोरेट पस्त अपने मुद्दा को आगे बधंर में लगी है । नए उद्योग स्थापित करने के बदले अपनी ही सम्पति एल आई सी , जीआई सी , पेट्रोलियम ,एयर इंडिया जैसे जैसे प्रतिष्ठानों को बेचने पर लगी है । रोजगार सृजन के बदले रोजगार -बन्दी की योजना सरकार ला रही है । हम इस बजट को किसान-मजदूर एवं आम लोगों के विरुद्ध मानते है  साथ ही देश की अर्थव्यवस्था को तंगोतबाह करने वा बजट कहते है । शिक्षा , स्वास्थ्य एवं मूलभूत संरचनाओं को मजबूत करने में यह बजट विफल साबित होगी ।

कोई टिप्पणी नहीं: