बिहार : स्वास्थ्य विभाग की समीक्षात्मक बैठक - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

मंगलवार, 23 फ़रवरी 2021

बिहार : स्वास्थ्य विभाग की समीक्षात्मक बैठक

  • 1 से 15 वर्ष तक के बच्चों के बीच आशा कार्यकर्ता द्वारा ग्लूकोज वितरण कराने का निर्देश दिया गया, जिसकी सूची आंगनवाड़ी से लेने का निर्देश दिया गया..

health-meeting-samastipur
समस्तीपुर, 23 फरवरी। आज जिलाधिकारी समस्तीपुर की अध्यक्षता में स्वास्थ्य विभाग की समीक्षात्मक बैठक की गई। बैठक में सिविल सर्जन समस्तीपुर, जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी, जिला मलेरिया पदाधिकारी, मेडिकल ऑफिसर सदर अस्पताल, जिला कार्यक्रम प्रबंधक, सभी उपाधीक्षक एवं सभी प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी उपस्थित थे।


बैठक में जिलाधिकारी द्वारा निम्नांकित निर्देश दिए गए।

1.AES/JE के अनुसार आवश्यक दवा एवं उपकरण की उपलब्धता सभी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों पर सुनिश्चित कराने का निर्देश सिविल सर्जन एवं पीएचसी प्रभारी को दिया गया। साथ ही दबाएं एवं उपकरण कि अनुपलब्धता की स्थिति में आवश्यकतानुसार फरवरी के अंत तक खरीद करें ,या जिले से मंगवाना सुनिश्चित करें।

2.AES/JE के लिए प्रखंड स्तर पर एक बेड सुरक्षित रखा जाए। एवं चिकित्सा पदाधिकारी एवं एएनएम की रोस्टर बना लें जो 24*7 क्रियाशील रहे।

3. जिला स्तर पर एक व्हाट्सएप ग्रुप बनाने का निर्देश दिया गया, जिसमें की रेफर किए गए मरीज के संबंध में एवं मरीज को क्या चिकित्सा प्रदान की गई इसकी जानकारी ग्रुप पर शेयर करते रहें।

4. जिले एवं प्रखंड स्तर पर एक कंट्रोल रूम स्थापित करने का निर्देश दिया गया जिसकी जानकारी लोगों को माइकिंग द्वारा प्रचार-प्रसार कराया जाए ताकि AES/JE के मरीज के संबंध में ससमय सूचना दिया जा सके और मरीज का समुचित उपचार किया जा सके। जिला स्तर के कंट्रोल रूम में AES/JE से संबंधित जानकारी/शिकायत के लिए टोल फ्री नंबर इस प्रकार हैं: 06274-220331,222331,222334,222335,222337,222338, एवं 18003456635 है।

5. सभी प्रखंडों में एंबुलेंस का टैगिंग करने का निर्देश दिया गया साथ ही ड्राइवर एवं EMT का मोबाइल नंबर मुखिया से शेयर करने का निर्देश दिया गया, साथ ही पंचायत वार संबंधित एंबुलेंस के ड्राइवर एवम EMT का मोबाइल नंबर लोगों से माइकिंग द्वारा जानकारी उपलब्ध कराने का निर्देश दिया गया।

6. 1 से 15 वर्ष तक के बच्चों के बीच आशा कार्यकर्ता द्वारा ग्लूकोज वितरण कराने का निर्देश दिया गया, जिसकी सूची आंगनवाड़ी से लेने का निर्देश दिया गया।

7. हर प्रखंड में 2-2 गाड़ी प्रचार प्रसार के लिए भ्रमण करवाने एवं साथ ही हैंडविल भी बटवाने का निर्देश दिया गया।

कोई टिप्पणी नहीं: